दिल दहलाने वाली घटना: रीट परीक्षा देने से पहले युवती की बदल गई हरकतें, ब्लैड से गला काट खुद को लगाई आग, फिर पानी में छलांग

रीट परीक्षा 2022 से पहले सीकर जिले में एक दिल दहलाने वाली घटना हो गई। जिसमें रीट की परीक्षा देने जा रही एक युवती ने पहले ब्लैड से अपना गला काट लिया, उसके बाद खुद को आग के हवाले कर नदी में छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली।

रीट परीक्षा देने से पहले युवती की बदल गई हरकतें, ब्लैड से गला काट खुद को लगाई आग, फिर पानी में छलांग

सीकर | राजस्थान में चल रही रीट परीक्षा 2022 से पहले सीकर जिले में एक दिल दहलाने वाली घटना हो गई। जिसमें रीट की परीक्षा देने जा रही एक युवती ने पहले ब्लैड से अपना गला काट लिया, उसके बाद खुद को आग के हवाले कर नदी में छलांग लगाकर आत्महत्या कर ली। युवती द्वारा की गई इस तरह की हरकत से परिवार के सभी सदस्य और ग्रामीण सकते में हैं। युवती की आज रविवार को रीट की परीक्षा थी।

जानकारी के मुताबिक, सीकर के धोद थानान्तर्गत शनिवार को पेवा गांव निवासी ममता कुमारी ने रात को खाना खाया और सो गई। इसके बाद रात को उसे पता नहीं क्या हुआ। वह उठी और घर के पास स्थित नोहरे पर पहुंची। उसने पहले ब्लैड से खुद का गला काट लिया। खुद पर ज्वलनशील पदार्थ डालकर आग लगा ली, लेकिन जब इन प्रयासों के बाद भी उसका दम नहीं निकला तो उसने कुंड में छलांग लगा दी। 

ये भी पढ़ें:- जेवलिन थ्रो में भारत को Silver: नीरज चोपड़ा के भाले ने ‘चांदी’ पर साधा निशाना, भारत को 19 साल बाद मिला सिल्वर मेडल

सुबह परिजनों को मिले युवती के जले कपड़े
युवती की इस करतूत का घरवालों को सुबह पता चला तो वे सकते में आ गए। सुबह परिजनों ने उसे कमरे में देखा तो वहां कोई नहीं था। घरवालों ने उसे  तलाश की तो उन्हें युवती के जले हुए कपड़े दिखाई दिए और फिर ढूंढने पर कुंड में उसकी लाश तैरती मिली।

ये भी पढ़ें:- पूर्व सीएम राजे ने तोड़ी चुप्पी: वसुंधरा बोलीं- सरकार एक्शन लेती तो नहीं जाती संत की जान

रीट परीक्षा की कर रखी थी पूरी तैयारी
मृतक ममता रीट की परीक्षा देने वाली थी जिसकी उसने पूरी तैयारी भी कर रखी थी। आज सुबह ही उसे रीट की परीक्षा देने थी। उसने दो दिन पहले ही रीट परीक्षा का एडमिट कार्ड भी डाउनलोड करके अपने पास रख लिया था। लेकिन अचानक उसे पता नहीं क्या हुआ और सबकुछ धरा रह गया।

बीमारे के कारण झेल रही थी तनाव
ममता की आत्महत्या के पीछे परिजन उसकी बीमारी को लेकर चल रहा तनाव मान रहे है। परिजनों के अनुसार, ममतो 5-6 महीने पहले टाइफाइड हो गया था। जिसके उपचार के बाद भी वह पूरी तरह से ठीक नहीं हो पाई थी और तनाव में थी। इसी के साथ बताया जा रहा है कि, परिजनों ने एक दिन पहले ही उसके उपचार के लिए झाड़ा भी लगवाया था। अब पुलिस इस पूरे मामले की जांच में जुट गई है। 

Must Read: सभी को साथ लेकर चलें जनप्रतिनिधि- रोलसाहबसर

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :