कोरोना का भारतीय वैरिएंट: फ्रांस ने ब्रिटेन से आने वाले लोगों पर क्वारेंटाइन का लगाया अनिवार्य नियम

फ्रांस ने बुधवार को ब्रिटेन से आने वाले लोगों को अनिवार्य रूप से क्वारेंटाइन करने की घोषणा की। भारत में पाए जाने वाले कोरोना वायरस के वैरिएंट के बढ़ते प्रसार को रोकने के लिए विदेशों में सरकारों ने यह ठोस कदम उठाया है।

फ्रांस ने ब्रिटेन से आने वाले लोगों पर क्वारेंटाइन का लगाया अनिवार्य नियम

नई दिल्ली।
फ्रांस (France) ने बुधवार को ब्रिटेन (Britain) से आने वाले लोगों को अनिवार्य रूप से क्वारेंटाइन करने की घोषणा की। भारत में पाए जाने वाले कोरोना वायरस के वैरिएंट के बढ़ते प्रसार को रोकने के लिए विदेशों में सरकारों ने यह ठोस कदम उठाया है। इससे पहले ऑस्ट्रिया (Austria) ने मंगलवार को कहा था कि वह ब्रिटेन और जर्मनी से सीधी उड़ानों और पर्यटकों की यात्राओं पर प्रतिबंध लगा रहा है। बीते शुक्रवार को उसने कहा कि वह यूके से प्रवेश करने वाले किसी भी व्यक्ति को दो सप्ताह के लिए क्वारेंटाइन करेगा। फ्रांस (France) सरकार के प्रवक्ता के अनुसार ब्रिटेन से आने वाले लोगों के लिए क्वारेंटाइन की व्यवस्था अनिवार्य होगी। ये प्रक्रिया फिलहाल सात दिन की होगी। यूरोपीय मामलों से जुड़े फ्रांस के मंत्री क्लेमेंट ब्यून ने ट्विटर पर कहा, बाहर से यहां आने वाले लोगों को कम से कम 48 घंटे पुराना एक कोविड-19 परीक्षण भी प्रस्तुत करना होगा। ये व्यवस्था सोमवार से लागू होने की उम्मीद है। गौरतलब है कि ब्रिटेन में कोरोना वायरस संक्रमण फिर से बढऩे लगा है, मगर दुनिया के सबसे तेज वैक्सीन लगाने वाले देश में अभी भी संक्रमण की दर कम है। बीते साल सितंबर माह के बाद से अस्पतालों में भर्ती कोविड-19 रोगियों की संख्या अपने निम्नतम स्तर पर पहुंच गई है। भारतीय कोरोना वैरिएंट (Corona Indian Variants) B.1.617 के मामले तेजी से बढ़े हैं। कम से कम 17 देशों में भारतीय वैरिएंट (Indian variants) बढ़ा है। फ्रांसीसी सरकार की इस घोषणा से पर्यटन उद्योग को गहरा झटका लगा है। गर्मी के मौसम में यहां पर ब्रिटेन से आने वाले पर्यटकों की काफी अधिक संख्या होती है। पर्यटन विशेषज्ञों का कहना है कि यह पर्यटन उद्योग से जुड़े लोगों के गंभीर समस्या बन सकता है। आधिकारिक आंकड़ों के अनुसार, किसी भी अन्य राष्ट्रीयता की तुलना में 2020 से पहले हर साल लगभग 13 मिलियन ब्रिटिश वासियों ने फ्रांस का दौरा किया है। ऐसे में इन नियमों से पर्यटकों की संख्या पर गहरा असर पड़ सकता है। हालांकि ब्रिटिश पर्यटकों को 9 जून से बिना किसी प्रतिबंध के फ्रांस जाने की अनुमति दी जाएगी। इसके लिए उन्हें कोविड-19 के खिलाफ टीकाकरण का प्रमाण पत्र या एक कोविड निगेटिव रिपोर्ट लानी होगी।

Must Read: श्रीलंका में भारतीय अधिकारी गंभीर घायल, उच्चायोग ने दी नागरिकों को सावधान रहने की सलाह

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :