आसां हुई राजस्थान की राह: रूपहले पर्दे पर राजस्थान का वैभव दिखाने के लिए फिल्म मेकर्स को मिली रियायत

राजस्थान फिल्म पर्यटन को प्रोत्साहन देने के लिए स्वायत्त शासन विभाग ने बड़ा फैसला किया है। इसके तहत अब नगरीय निकायों की ओर से फिल्म शूटिंग के लिए कोई शुल्क या फीस नहीं ली जाएगी। राजस्थान फिल्म पर्यटन को प्रोत्साहन देने के लिए स्वायत्त शासन विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी किया है।

रूपहले पर्दे पर राजस्थान का वैभव दिखाने के लिए फिल्म मेकर्स को मिली रियायत

सिरोही। राजस्थान फिल्म पर्यटन को प्रोत्साहन देने के लिए स्वायत्त शासन विभाग ने बड़ा फैसला किया है। इसके तहत अब नगरीय निकायों की ओर से फिल्म शूटिंग के लिए कोई शुल्क या फीस नहीं ली जाएगी। राजस्थान फिल्म पर्यटन को प्रोत्साहन देने के लिए स्वायत्त शासन विभाग ने इस संबंध में आदेश जारी किया है। आदेश के तहत नगरीय निकायों की ओर से फिल्म शूटिंग के लिए लगाए जाने वाले शुल्क से राजस्थान फिल्म पर्यटन को मुक्त कर दिया गया है।

राज्य सरकार के मंत्री मंडल आज्ञा के अनुसरण में यूडीएच मंत्री ने पत्रावली पर स्वीकृति प्रदान की है। राज्य सरकार की ओर से 8 अप्रैल 2022 को राजस्थान फिल्म पर्यटन प्रोत्साहन नीति 2022 लागू की गई थी, जिसमें राज्य में फिल्म पर्यटन को प्रोत्साहित करने के लिए सभी विभागों को निर्देशित किया गया।

इस क्रम में यूडीएच मंत्री शांति धारीवाल की ओर से दी गई स्वीकृति के अनुसार फीचर फिल्म शूटिंग, टेलीविजन सीरीज, वेब सीरीज, रियलिटी शो, डॉक्यूमेंट्री की शूटिंग एफटीसी से स्वीकृति दिए जाने पर नगरीय निकायों के उद्यानों, सामुदायिक केंद्रों और स्थानों पर की जाती है, तो उसे निकायों की ओर से लगाये जाने वाले शुल्क से मुक्त किया गया है। इससे राजस्थान को फिल्म डेस्टिनेशन बनने में मदद मिलेगी। बीते दिनों अशोक गहलोत कैबिनेट की बैठक में राजस्थान फिल्म पर्यटन प्रोत्साहन नीति को मंजूरी दी गई थी। इसके तहत राजस्थान को फिल्म डेस्टिनेशन के रूप में विकसित करने के नजरिए से अब स्वायत्त शासन विभाग ने ये अहम फैसला किया है।

Must Read: दो सगे भाइयों की यह कहानी आपकी आंख में आंसू ला देगी, साथ—साथ छोड़ा शरीर

पढें जालोर खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :