Rajasthan मंत्रिपरिषद की बैठक में सीएम: Rajasthan में चुनावों के चलते प्रशासन गांवों संग अभियान 3 जनवरी से स्थगित, अब तक 10 लाख पट्टे वितरित किए जाने पर सीएम ने जाहिर की प्रसन्नता

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री निवास से राज्य मंत्रि परिषद की बैठक में प्रशासन गांवों के संग अभियान की समीक्षा की।  इस दौरान मुख्यमंत्री ने महात्मा गांधी की जयंती से शुरू किए गए अभियान की सफलता पर प्रसन्नता व्यक्त की।

Rajasthan में चुनावों के चलते प्रशासन गांवों संग अभियान 3 जनवरी से स्थगित, अब तक 10 लाख पट्टे वितरित किए जाने पर सीएम ने जाहिर की प्रसन्नता

जयपुर।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने मुख्यमंत्री निवास से राज्य मंत्रि परिषद की बैठक में प्रशासन गांवों के संग अभियान की समीक्षा की। 
इस दौरान मुख्यमंत्री ने महात्मा गांधी की जयंती से शुरू किए गए अभियान की सफलता पर प्रसन्नता व्यक्त की। 
समीक्षा बैठक में बताया गया कि राजस्थान के 33 जिलों में 10 हजार 571 ग्राम पंचायतों में प्रशासन गांवों के संग शिविर के माध्यम से अब तक 10 लाख पट्टे वितरित किए गए। 
इसके साथ ही 14 लाख 86 हजार 142 प्रकरणों में राजस्व अभिलेखों का शुद्धिकरण किया गया। 
शिविर में 11 हजार 354 प्रकरणों में आबादी विस्तार के लिए 18 हजार 200 हैक्टेयर से अधिक राजकीय भूमि का आवंटन, 1 लाख 45 हजार 107 प्रकरणों में आपसी सहमति से खाता विभाजन, 14 लाख 99 हजार 154 नामांतरण, 2 लाख 32 हजार 766 प्रकरणों में सीमाज्ञान, 20 हजार 832 मामलों में 28 हजार 517 हैक्टेयर राजकीय प्रयोजनार्थ भूमि का आवंटन किया गया है। अब तक 14 हजार 864 भूमिहीनों को 4 हजार 509 हैक्टेयर भूमि का आवंटन किया जा चुका है।
शिविरों में 13 हजार 67 लाभार्थियों को प्रधानमंत्री आवास योजना की किश्त का भुगतान किया गया।  
3 लाख 45 हजार से अधिक नए जॉबकार्ड जारी किए गए। विधवा, वृद्धजन, विशेष योग्यजन, एकल नारी आदि से संबंधित विभिन्न पेंशन योजनाओं के एक लाख 73 हजार से अधिक प्रकरणों का निस्तारण किया गया। 
पालनहार योजना के 67 हजार से अधिक प्रकरणों में लोगों को लाभान्वित किया गया। 
इसके साथ ही 8 लाख 80 हजार से अधिक व्यक्तियों को कोविड वैक्सीन की दूसरी डोज लगाई गई। 

चुनावों के चलते 3 जनवरी तक स्थगित शिविर
बैठक में बताया गया कि आदर्श आचार संहिता के दृष्टिगत अलवर, धौलपुर, उदयपुर एवं प्रतापगढ़ जिलों में 8 नवम्बर से शिविर प्रारंभ हुए जबकि बारां, कोटा, करौली एवं श्रीगंगानगर में चुनाव होने से 24 नवम्बर से स्थगित शिविर अब आगामी 3 जनवरी से प्रारंभ होंगे। 
अब तक 23 जिलों में सभी शिविरों का आयोजन हो चुका है। सभी जिलों के पंचायत समिति मुख्यालयों में जनवरी एवं फरवरी माह में फोलोअप शिविरों का आयोजन किया जाएगा।
अभियान में 22 विभागों के माध्यम से एक ही स्थान पर लोगों के काम किए जा रहे हैं। 
मंत्रिपरिषद् ने शेष शिविरों में भी जन सेवा के संकल्प को साकार करने के लिए इसी भावना के साथ आगे भी काम करने की प्रतिबद्धता पर बल दिया।

Must Read: बिहार के डिप्टी सीएम तेजस्वी यादव आए मुश्किल में, कोर्ट में परिवाद हुआ दायर

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :