भाजपा जालोर का अनिश्चित कालीन घरना : जालोर में जनता से जुड़े कार्य नहीं होने पर भाजपा का प्रदर्शन, कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन, 7 दिन में मांग पूरी नहीं करने पर धरने की चेतावनी

  भारतीय जनता पार्टी जालोर द्वारा चारसूत्रीय मांगों को लेकर सोमवार को जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन किया गया।  भाजपा जिलाध्यक्ष श्रवणसिंह राव बोरली की अध्यक्षता में 4 सूत्रीयमांगों को लेकर जालोर में धरना प्रदर्शन एवं मुख्यमंत्री व राज्यपाल के नाम जिला कलेक्टर को सौंपा गया।

जालोर में जनता से जुड़े कार्य नहीं होने पर भाजपा का प्रदर्शन, कलेक्टर को सौंपा ज्ञापन, 7 दिन में मांग पूरी नहीं करने पर धरने की चेतावनी

जालोर।          
भारतीय जनता पार्टी जालोर द्वारा चारसूत्रीय मांगों को लेकर सोमवार को जिला मुख्यालय पर धरना प्रदर्शन किया गया। 
भाजपा जिलाध्यक्ष श्रवणसिंह राव बोरली की अध्यक्षता में 4 सूत्रीयमांगों को लेकर जालोर में धरना प्रदर्शन एवं मुख्यमंत्री व राज्यपाल के नाम जिला कलेक्टर को सौंपा गया।
क्षतिग्रस्त टोल रोड के नवीनीकरण एवं टोल माफी
श्रवण सिंह ने बताया कि जालोर से रोहिट एवं जालोर से रेवदर तक विगत 12 वर्षों से बी.ओ.टी. योजना के अंतर्गत सड़क का निर्माण एवं उसका रखरखाव दो अलग—अलग कंपनियों को दे रखा है उन कंपनियों के साथ राज्य सरकार ने जो अनुबंध कर रखा है उसकी शर्तों के अनुसार समय—समय पर सड़कों की मरम्मत रखरखाव एवं नवीनीकरण किया जाना आवश्यक है। हम अनेकों बार इस विषय को सरकार के ध्यान में ला चुके हैं कि दोनों कंपनियां अनुबंधों की शर्तों का पालन जानबूझकर नहीं कर रही है। इस परिस्थिति में सड़कों की स्थिति अत्यंत दयनीय हो गई है जगह जगह पर टूट—फूट होने के कारण बड़े—बड़े गड्ढे बन गए हैं जिनके कारण आए दिन दुर्घटना घटित हो रही है इन दुर्घटनाओं में बड़ी संख्या में लोग न केवल घायल हुए हैं अपितु अपंग एवं दिवंगत भी हो चुके हैं ,इन दुखद परिस्थितियों के लिए यदि कोई जिम्मेदार है तो अनुबंध की शर्तों की पालना नहीं करने वाली कंपनियां और अनुबंध की शर्तों की पालना नहीं करवा सकने वाला सरकारी तंत्र है। ऐसे में भाजपा ने मांग की है कि सरकारी तंत्र को व्यवस्थित एवं सक्रिय करें तथा दोनों कंपनियों के अनुबंध की शर्तों के अनुसार सड़कों का नवीनीकरण करने के लिए बाध्य करें जब तक नवीनीकरण का कार्य पूरा नहीं हो जाता तब तक किसी भी वाहन से टोल राशि वसूल नहीं की जाए।
 जवाई पुनर्भरण योजना लागू की जाए


वर्ष 2017-2018 में तत्कालीन राज्य सरकार ने जवाई पुनर्भरण योजना लागू करने का विचार करके उसके लिए ​विस्तृत परियोजना विवरण तैयार करवा कर विधिवत मंजूरी भी दे दी थी परंतु वर्तमान सरकार ने उस डीपीआर को पिछले ढाई वर्षो से ठंडे बस्ते में डाल रखा है, जवाई पुनर्भरण योजना जालौर, पाली एवं सिरोही तीनों जिलों के लिए अत्यंत महत्वपूर्ण एवं महत्वाकांक्षी योजना है इन तीनों जिलों की जनता के उज्जवल भविष्य के लिए इस परियोजना का क्रियान्वयन अत्यंत आवश्यक है। वर्तमान सरकार राजनीतिक कारणों से इस परियोजना को दबा कर बैठी है जो एक जन विरोधी एवं अमानवीय कृत्य है। सिरोही जिले के गौतम ऋषि मंदिर क्षेत्र से जो बरसात का पानी सुकड़ी नदी के रूप में जालौर जिले में आता है उस पर सिरोही जिले के जोयला गांव की सीमा में एक बड़ा एनीकट बनाने की स्वीकृति जारी की गई है यदि यह एनीकट बन जाता है तो जवाई बांध की मार झेल रही जवाई नदी पूर्णतया सुखी हो जाएगी जिसके दुष्परिणाम के रूप में जालोर जिले में लगभग 300 किलोमीटर लंबाई में भूजल स्तर बहुत नीचे चला जाएगा । अतः जनहित में उस एनीकट की स्वीकृति तुरंत निरस्त की जाए । 
 गांव गांव ढाणी ढाणी पेयजल उपलब्ध करवाने की मांग


वर्तमान गर्मी में जालोर जिले के लगभग हर गांव एवं ढाणी में पेयजल का संकट बना हुआ है। गर्मी की ऋतु में संभावित पेयजल संकट का आकलन करते हुए आपातकालीन व्यवस्थाएं की जाती है,दुर्भाग्य से पिछले 3 वर्षों में सरकार इस मोर्चे पर पूरी तरह असफल रही है सूख चुके कुएं एवं हैंडपंपों के स्थान पर वैकल्पिक कुएं एवं हैंडपंप का निर्माण नहीं किया गया है साथ ही नर्मदा जल से पोषित गांवों में भी पानी पर्याप्त मात्रा में नहीं पहुंच रहा है इस प्रकार पीने योग्य जल की कमी इस जल संकट का एक बड़ा कारण है, वहीं दूसरी ओर सरकार एवं जलदाय विभाग का कुप्रबंधन भी इसके लिए जिम्मेदार है ।
ऐसे में एक और पीने योग्य पानी की उपलब्धता बढ़ाने की दिशा में प्रभावी कदम उठाए जाएं एवं वहीं दूसरी ओर वितरण व्यवस्था को भी व्यवस्थित किया जाए ताकि इस भीषण गर्मी में आमजन को पेयजल की इस अत्यंत गंभीर समस्या से मुक्ति मिल सके ।

किसानों को कृषि विद्युत कनेक्शन जारी करने की मांग
राजस्थान में जब से कांग्रेस सरकार आई है तब से किसानों को कुएं पर बिजली कनेक्शन उपलब्ध करवाने का काम बंद सा हो गया है,लंबित पड़ी पत्रावलियों के डिमांड भी जारी नहीं किए जा रहे हैं तो दूसरी तरफ जिन मामलों में डिमांड नोट जारी हो गए हैं एवं डिमांड राशि जमा करवा दी गई है उनको भी 8 से10 माह तक कनेक्शन देने की कार्रवाई नहीं हो रही है। किसानों का 1 माह के भीतर विद्युत कनेक्शन जोड़ा जाये, अन्य किसान जिनकी पत्रावलियां लंबित है उनके भी डिमांड नोट शीघ्र जारी किए जाए ए जीससे की किसानों में व्याप्त निराशा एवं असंतोष पर नियंत्रण किया जा सके। अगर ऐसा नहीं होता है तो भारतीय जनता पार्टी को उग्र आंदोलन के लिए विवश होना पड़ेगा। इन चारों मांगों को लेकर भाजपा पदाधिकारियों एवं कार्यकर्ताओं ने धरना प्रदर्शन करते हुए मुख्यमंत्री एवं राज्यपाल के नाम जिला कलेक्टर को ज्ञापन सौंपा।


जनप्रतिनिधियों के साथ आमजन भी प्रदर्शन में
इस दौरान जालोर विधायक जागेश्वर गर्ग,आहोर विधायक छगनसिंह राजपुरोहित, जिला प्रमुख राजेश राणा,नगर परिषद सभापति गोविन्द टांक, जिलामंत्री, पुखराज राजपुरोहित,किसान मोर्चा जिलाध्यक्ष धुखाराम राजपुरोहित,ओबीसी मोर्चा जिलाध्यक्ष ओबाराम देवासी,महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष मंजु सोलंकी, पूर्व महामंत्री जसराज राजपुरोहित जालोर भाजपा नगर अध्यक्ष अधिवक्ता सुरेश सोलंकी नगर महामंत्री दिनेश महावर, रतन सुथार, नाथूसिंह तीखी राजवीरसिंह नोसरा मुकेश राजपुरोहित गजेन्द्रसिंह सिसोदिया,परमवीरसिंह भाटी महेंद्र मुणौत,ओटाराम सोलंकी राजू परिहार मनोहर राणा हमेन्द्रसिंह बगैडिया, जिला परिषद सदस्य गोपाल चौधरी, रणजीतसिंह राजपुरोहित,रमेश सैन  आदि भाजपा कार्यकर्ता उपस्थित रहे।

Must Read: गुजरात की क्राइम ब्रांच ने बडग़ांव से तीन शातिर दबोचे

पढें जालोर खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :