Rajasthan की भर्तियों में धांधली से आहत: Rajasthan की भर्तियों में हो रही धांधली से परेशान CRPF असिस्टेंट कमांडेंट ने दिया इस्तीफा, शौर्य चक्र से सम्मानित ने रीट भर्ती रद्द करने की उठाई मांग

राजस्थार सरकार की परेशानियां थमने का नाम ही नहीं ले रही है। अब एक बार फिर से राजस्थान की भर्ती परीक्षाओं में हो रही धांधली को लेकर मामला राष्ट्रपति तक पहुंच गया। सीआरपीएफ के असिस्टेंट कमांडेट विकास जाखड़ ने भर्ती प्रक्रिया में धांधली के चलते अपना इस्तीफा राष्ट्रपति के नाम यूनिट हेड को भेज दिया। 

Rajasthan की भर्तियों में हो रही धांधली से परेशान CRPF असिस्टेंट कमांडेंट ने दिया इस्तीफा, शौर्य चक्र से सम्मानित ने रीट भर्ती रद्द करने की उठाई मांग

जयपुर। 
राजस्थार सरकार की परेशानियां थमने का नाम ही नहीं ले रही है। अब एक बार फिर से राजस्थान की भर्ती परीक्षाओं में हो रही धांधली को लेकर मामला राष्ट्रपति तक पहुंच गया। 
सीआरपीएफ के असिस्टेंट कमांडेट विकास जाखड़ ने भर्ती प्रक्रिया में धांधली के चलते अपना इस्तीफा राष्ट्रपति के नाम यूनिट हेड को भेज दिया। 
शौर्य चक्र विजेता विकास जाखड़ की पत्नी ने भी पति की मांग पूरी नहीं करने पर इस्तीफा देने की चेतावनी दी। विकास की पत्नी भी राजस्थान में स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत है। 
जानकारी के मुताबिक विकास जाखड़ ने प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को पत्र लिखकर भर्ती परीक्षाओं में हो रही धांधलियों की जांच कराने की मांग की थी।


जाखड़ में पत्र में लिखा था कि परीक्षाओं में धांधली से युवाओं के भविष्य खराब हो रहा है। 
राजस्थान सरकार भर्तियों में भ्रष्टाचार रोक पाने में नाकाम हो रही हैं। जाखड़ ने इन भर्तियों में भ्रष्टाचार का कारण पूर्व शिक्षा मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा और शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन डीपी जरोली को बताया।
जाखड़ ने सीएम गहलोत के लिखे पत्र में बताया कि वे भर्तियों में धांधली से दुखी हैं, इसके चलते उन्होंने सहायक कमांडेट के पद से इस्तीफा दे दिया। 
विकास जाखड़ ने सीआरपीएफ के मुख्यालय में इस्तीफा भेजा है। शौर्य चक्र विजेता विकास जाखड़ ने बताा कि करीब सवा चार लाख रुपए उन्होंने सरकार की ओर से उन पर खर्च की राशि जमा करवाई है। विकास की 36 साल की नौकरी बाकी है।  
स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत विकास की पत्नी ने भी दी चेतावनी
विकास जाखड़ की पत्नी सुमन पूनियां ने भी अपने पति का साथ देते हुए सरकार को चेतावनी दी है कि अगर सरकार ने उनके पति की मांग नहीं मानी तो वे भी स्वास्थ्य विभाग में अपने पद से इस्तीफा दे देगी। 
सुमन ने बताया कि विकास की मांग रीट परीक्षा को रद्द करना है। रीट परीक्षा की धांधलियों की सीबीआई से जांच होनी चाहिए। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड के चेयरमैन डीपी जरोली को हटाया जाएं। 
नियमित कैलेंडर से परीक्षा करवाने के साथ एक कमेटी का सुप्रीम कोर्ट रिटायर्ड जर्ज की अध्यक्षता में गठन हो। 
2018 में भी विकास आ चुके चर्चा में 
राजस्थान झुंझुनूं के विकास जाखड़ इससे पहले भी एक बार 2018 में चर्चा में आ गए थे। 
शौर्य चक्र विजेता विकास जाखड़ ने किसान राहत कोष बनाने की मांग को लेकर प्रधानमंत्री को पत्र लिखा था। 
उस समय झुंझुनूं के कलेक्टर दिनेश यादव को स्वास्थ्य विभाग में कार्यरत उनकी पत्नी के 12 लाख रुपए के गहने कोष के लिए सौंप दिए।
इसके साथ ही उन्होंने अपनी पुश्तैनी 40 तोला सोना, आधा किलो चांदी भी किसान राहत कोष में देे दिए थे। 
हालांकि तब कलेक्टर ने विकास जाखड़ का मांग पत्र लेकर उसके गहने लौटा दिए थे। 

Must Read: राजस्थान में नहीं रूक रही साधु-संतों द्वारा आत्मदाह की घटनाएं, अब जयपुर में पुजारी ने खुद को लगाई आग

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :