Rajasthan @ भाजपा प्रदेशाध्यक्ष का बयान: कांग्रेस पार्टी की नीति फासीवादी, वंशवादी और परिवारवादी, ना तो परिवार में और ना ही कांग्रेस पार्टी में लोकतंत्र: पूनिया

भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया ने गांधी परिवार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने फासिस्टराज की बात शायद सोनिया गांधी के लिए बोली होगी। देश में ​फासिस्टराज सोनिया गांधी की सास इंदिरा गांधी ने ही आपातकाल लागू करके शुरू किया था।

कांग्रेस पार्टी की नीति फासीवादी, वंशवादी और परिवारवादी, ना तो परिवार में और ना ही कांग्रेस पार्टी में लोकतंत्र: पूनिया

जयपुर। 
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनिया (Dr. Satish Poonia) ने गांधी परिवार पर निशाना साधते हुए कहा कि प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत (Ashok Gehlot) ने फासिस्टराज की बात शायद सोनिया गांधी(Sonia Gandhi) के लिए बोली होगी। देश में ​फासिस्टराज सोनिया गांधी की सास इंदिरा गांधी ने ही आपातकाल लागू करके शुरू किया था। कांग्रेस पार्टी की नीति ही फासीवादी, वंशवादी और परिवारवादी रही है। ना तो परिवार में और ना ही कांग्रेस पार्टी में लोकतंत्र है। पूनिया जयपुर जिला परिषद की नई जिला प्रमुख रमा देवी चोपड़ा के कार्यभार ग्रहण करवाने के बाद मीडिया से रूबरू हुए थे। इस दौरान उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी में लोकतंत्र होता तो शायद कांग्रेस सत्ता से बाहर नहीं होती। देश में 1885 की वह पार्टी जिसने 50 साल तक शासन किया और वह गैर वाजिब नीति एवं व्यवहार के चलते बर्बाद नहीं होती। माना जा रहा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की ओर से पंजाब में कैप्टन द्वारा पद छोड़ने के बाद सोशल मीडिया पर दी गई नसीहत और भाजपा की केंद्र सरकार पर किए गए कटाक्ष के बाद भाजपा प्रदेशाध्यक्ष पूनिया ने यह जवाब दिया है।

डरा हुआ व्यक्ति ही दे सकता है ऐसी सलाह
भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि ऐसी सलाह कोई डरा हुआ व्यक्ति ही दे सकता है। इसके नीचे की जमीन खिसक रही हो और कुर्सी के पाये हिल रहे हों। प्रदेश में मंत्रिमंडल विस्तार की संभावनाओं को लेकर पूछे गए सवाल पर उन्होंने कहा कि अभी तो ऐसा लग रहा है कि राजस्थान में बाकी समस्याओं के निपटारे से बड़ा काम मंत्रिमंडल का पुनर्गठन ही है। प्रदेश में मंत्री मंडल के विस्तार की संभावनाओं और लंबे समय से चलती आ रही चर्चाओं से लग रहा है कि मुझे लग रहा है कि अब यहां कुछ नहीं हो पाएगा। कई लोगों के कोट सिले सिलाए रह गए। कई लोगों के लिए मुंगेरीलाल के हसीन सपने हो गए। अब पता नहीं कब राधा नाचेगी और कब नौ मन तेल होगा। 

Must Read: आरएएस परीक्षा के इंटरव्यू में शिक्षा मंंत्री के रिश्तेदार को मिले 100 में से 80 अंक, जबकि आरएएस टॉपर को 77, सोशल मीडिया पर वायरल

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :