कमलेश एनकाउंटर मामले की सीबीआई जांच: सीबीआई टीम सांडेराव व सुमेरपुर भी गई, सघर्ष समिति के लोगों से की पूछताछ

कमलेश एनकाउंटर के बाद सीबीआई जांच के लिए संघर्ष समिति बनी थी। उसी संघर्ष समिति के बलराम प्रजापत सहित अन्य सदस्यों से भी सीबीआई ने पूछताछ कर बयान दर्ज किए गए।

सीबीआई टीम सांडेराव व सुमेरपुर भी गई, सघर्ष समिति के लोगों से की पूछताछ

बाड़मेर। राजस्थान के बहुचर्चित कमलेश एनकाउंटर मामले की सीबीआई जांच जारी है। सीबीआई ने कमलेश के भाई, एकाउंटेंट, ड्राईवर, और एनकांउटर से जुडे पुलिसकर्मियों से पूछताछ की है। सीबीआई टीम एनकाउंटर वाली जगह पर जाकर लोकेशन भी देख चुकी है। सीबीआई टीम ने बाड़मेर सर्किट हाउस में अस्थाई ऑफिस बना रखा है। सीबीआई कमलेश एनकाउंटर से जुड़े डीएसपी पुष्पेन्द्र आढ़ा, सीआई प्रेमप्रकाश, परबत सिंह, उप निरीक्षक सहित कई पुलिसकर्मियों से सीबीआई ने पूछताछ कर बयान दर्ज कर लिए हैं। सीबीआई एनकाउंटर से जुडे पुलिस, प्रशासनिक और परिजनों सहित दर्जनों लोगों से पूछताछ कर चुकी है।

सीबीआई टीम सांडेराव व समेरपुर भी गई

सांडेराव थाना प्रभारी धोलाराम परिहार पर जानलेवा हमला करने को लेकर सांडेराव थाने में केस दर्ज है, जिसकी जांच सीओ सुमेरपुर रजत विश्नोई कर रहे थे। सांडेराव थाना प्रभारी पर जानलेवा हमले को लेकर पाली पुलिस ने बाड़मेर पुलिस को कमलेश प्रजापत के बाड़मेर होने का इनपुट दिया था। इसके बाद बाड़मेर पुलिस ने कमलेश प्रजापत की लोकेशन को ट्रेस कर सदर थाने के पीछे उसके घर को घेरा था। गिरफ्तारी के दौरान 22 अप्रेल को कमलेश को एनकाउंटर में मार गिराया था। सीबीआई टीम सांडेराव व सुमेरपुर पुलिस से भी पूछताछ कर चुकी है। कमलेश के परिजनों ने आरोप लगाया था कि एनकाउंटर से पहले सीओ सुमेरपुर रजत विश्नोई और कमलेश के बीच वाट्सएप कॉल हुआ था। इसी संबंध में सीओ सुमेरपुर से पूछताछ की है।

सीबीआई ने कमलेश के घर की लोकेशन देखी

सीबीआई टीम बाड़मेर में करीब एक माह से बाड़मेर सर्किट हाउस में अस्थाई ऑफिस बनाकर कमलेश एनकाउंटर की जांच कर रही है। सीबीआई टीम ने कमलेश के भाई भैराराम को साथ लेकर कमलेश के घर की लोकेशन देखने पहुंची थी। कमलेश के परिजनों ने बताया कि सीबीआई टीम एक-दो बार घर के आसपास के पड़ौसियों से भी पूछताछ की थी। कमलेश के व्यवहार और तस्करी को लेकर पड़ौसियों से पूछताछ की थी।

संघर्ष समिति से भी की पूछताछ

कमलेश के भाई भैराराम ने बताया कि कमलेश एनकाउंटर के बाद सीबीआई जांच के लिए संघर्ष समिति बनी थी। उसी संघर्ष समिति के बलराम प्रजापत सहित अन्य सदस्यों से भी सीबीआई ने पूछताछ कर बयान दर्ज किए गए। वहीं, रविवार को सीबीआई कैम्प बाड़मेर में कुम्हार महासभा राजस्थान के प्रदेश अध्यक्ष किशोर दुल्हेपुरा को बुलाया। किशोर दुल्हेपुरा ने बताया कि कमलेश प्रजापत एनकाउंटर की जांच के लिए सीबीआई से करवाने के आंदोलन के विषय पर पूछताछ कर बयान दर्ज किए गये।

हाईकोर्ट की निगरानी में सीबीआई जांच

कमलेश प्रजापत एनकाउंटर मामले की सीबीआई जांच अब हाईकोर्ट जोधपुर की निगरानी में होगी। कमलेश प्रजापत के भाई की याचिका पर सुनवाई के दौरान अधिवक्ता धीरेंद्र सिंह दासपा के तर्कों के आधार पर बाड़मेर पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा, पाली पुलिस अधीक्षक, थानाधिकारी सांडेराव, पुष्पेंद्र आढ़ा उप-अधीक्षक, प्रेम प्रकाश पुलिस निरीक्षक, परबत सिंह पुलिस निरीक्षक, प्रभु राम उप-निरीक्षक, महिपाल सिंह, हरदान, मेहा राम, दुर्ग सिंह, प्रेम कुमार, दिनेश कुमार, रमेश कुमार, कानाराम, पुखराज, किशोर, प्रेमा राम, श्याम लाल, प्रभुराम, श्रीराम, राजकुमार, नरसिंग राम पर लगे आरोपों की सीबीआई द्वारा की जा रही जांच की निगरानी याचिका को हाईकोर्ट ने स्वीकार किया।

Must Read: कूटरचित दस्तावेजों से हासिल किया गया बेचे गए मकान का पट्टा अब निरस्त

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :