राजस्थान विधानसभा में रीट मामला: विधानसभा में भाजपा ने उठाया रीट परीक्षा मामला, विपक्ष ने सदन में तख्तियां दिखाकर जताया विरोध, मामले की सीबीआई जांच की मांग

राजस्थान विधानसभा का सत्र आज से शुरू हो गया। इस दौरान राज्यपाल अभिभाषण के बाद विपक्ष की ओर से विरोध किया गया। सदन में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व सीएम वसुंधरा राजे की वेल में मुलाकात हुई। राज्यपाल कलराज मिश्र के सदन से जाने के बाद गहलोत राजे के पास गए और उनसे बैठकर ही तख्तियां दिखाकर विरोध जताने के लिए कहा। 

विधानसभा में भाजपा ने उठाया रीट परीक्षा मामला, विपक्ष ने सदन में तख्तियां दिखाकर जताया विरोध, मामले की सीबीआई जांच की मांग

जयपुर। 
राजस्थान विधानसभा का सत्र आज से शुरू हो गया। इस दौरान राज्यपाल अभिभाषण के बाद विपक्ष की ओर से विरोध किया गया। सदन में मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पूर्व सीएम वसुंधरा राजे की वेल में मुलाकात हुई। 
राज्यपाल कलराज मिश्र के सदन से जाने के बाद गहलोत राजे के पास गए और उनसे बैठकर ही तख्तियां दिखाकर विरोध जताने के लिए कहा। 
गहलोत ने कहा कि आप बैठे बैठे ही ​तख्तियां दिखा देते तो हम विरोध मान लेते। इस दौरान दोनों ही पार्टियों के नेता मौजूद थे। इस दौरान दोनों की मुलाकात सियासी हलकों में चर्चा का विषय बनी हुई है। 
अभिभाषण के दौरान राज्यपाल मिश्र ने विरोध कर रहे भाजपा विधायकों से सीटों पर बैठने का आग्रह किया। उन्होंने कहा कि आप बैठ जाएंगे तो बेहतर होगा। सदन चलता रहेगा आप विरोध करें, इसमें कोई हर्ज नहीं है।

रीट परीक्षा की सीबीआई जांच की मांग
विधानसभा में राज्यपाल कलराज मिश्र के अभिभाषण के दौरान भाजपा के विधायकों ने खड़े होकर रीट परीक्षा मामले में सीबीआई जांच की मांग की। 
भाजपा विधायकों की ओर से हाथों में तख्तियां लेकर खड़े रहकर विरोध जताया। 
इस मामले में राजेंद्र राठौड़ ने सोशल मीडिया पर फोटो शेयर करते हुए लिखा कि आज राजस्थान विधानसभा के सप्तम सत्र में माननीय राज्यपाल महोदय के अभिभाषण के दौरान भाजपा विधायक दल ने रीट पेपर लीक प्रकरण को लेकर सीबीआई जांच की मांग की। 
भाजपा विधायक राज्यपाल के अभिभाषण के दौरान करीबन एक घंटे से अधिक समय तक खड़े रहें।

कोविड मैनेजमेंट में राजस्थान रोल मॉडल:राज्यपाल मिश्र
विधानसभा सत्र में राज्यपाल मिश्र ने कहा कि राजस्थान कोरोना मैनेजमेंट में सर्वश्रेष्ठ प्रदेश है। राजस्थान रोल मॉडल बनकर उभरा है। राज्य सरकार ने इस आपदा में अच्छा प्रदर्शन किया हैं। 
सरकार ने किसी को भूखा नहीं सोने दिया, लाखों परिवारों को सहायता दी और प्रवासी मजदूरों कों वाहन लगाकर गंतव्य तक पहुंचाया। मिश्र ने कहा कि प्रदेश में मेडिकल सुविधाएं बेहतर हुई है। 
हर जिले में मेडिकल कॉलेज की तर्ज पर नर्सिंग कॉलेज और अच्छी ट्रेनिंग का फैसला किया। सरकार ने मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना शुरू की। 
विधानसभा सत्र के दौरा लता मंगेशकर, बिपिन रावत और दिवंगत नेताओं को श्रद्धांजलि दी गई। 

Must Read: Rajasthan University के दीक्षांत समारोह में राज्यपाल मिश्र ने कहा शिक्षा का उद्देश्य व्यक्ति एवं आत्मनिर्भर भारत का निर्माण करना हो

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :