भ्रष्टाचार के खिलाफ एसीबी की कार्रवाई: एसीबी ने नागौर में जल ग्रहण एवं भू संरक्षण विभाग के जेईएन और बाड़मेर के सहायक विकास अधिका​री को रिश्वत लेते किया गिरफ्तार

भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम में आज प्रदेश में नागौर के साथ बाड़मेर में कार्रवाई करते हुए दो अधिकारियों को रिश्वत की राशि के साथ गिरफ्तार किया।

एसीबी ने नागौर में जल ग्रहण एवं भू संरक्षण विभाग के जेईएन और बाड़मेर के सहायक विकास अधिका​री को रिश्वत लेते किया गिरफ्तार

जयपुर।
भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम में आज प्रदेश में नागौर के साथ बाड़मेर में कार्रवाई करते हुए दो अधिकारियों को रिश्वत की राशि के साथ गिरफ्तार किया।
एसीबी के मुताबिक बाड़मेर में शिव पंचायत समिति के सहायक विकास अधिकारी ने परिवादी से 9 हजार रुपए की रिश्वत मांगी। इसके सत्यापन के बाद टीम ने रिश्वत लेते हुए सहायक विकास अधिकार मदन लाल को गिरफ्तार कर लिया।

मदन लाल ने रिश्वत की राशि आबादी भूमि में पट्टे जारी करने के एवज में मांगी थी। मदन लाल का कुछ दिन पहले ही सहायक विकास अधिकारी के पद पर प्रमोशन हुआ है। 
नागौर के परबतसर में जेईएन गिरफ्तार 
वहीं दूसरी ओर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने नागौर जिले के परबतसर तहसील मुख्यालय पर कार्रवाई की। परबतसर जल ग्रहण एवं भू संरक्षण विभाग के कनिष्ठ अभियंता शिव शंकर योगी को 15 हजार रुपए की रिश्वत लेते गिरफ्तार किया गया।

आरोप है कि शिवशंकर योगी ने बिल पास करने के एवज में यह राशि मांगी थी। परबतसर में एसीबी की सीकर ईकाई ने कार्रवाई की। एसीबी के मुताबिक वाटर शेड योजना के तहत टांके एवं ​एनीकट के निर्माण के बिलों का भुगतान के लिए योगी ने 25 हजार रुपए मांगे थे।

इसके लिए वह उसे लगातार परेशान कर रहा था। रिश्वत की राशि के 10 हजार रुपए वे ले चुका था। परिवादी की शिकायत पर एसीबी ने आरोपी योगी को 15 हजार रुपए रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार किया। 

Must Read: राजस्थान में आसमान से बरसी आफत! कई बस्तियां जमग्न, सड़कों पर दौड़ी नावें, खेत बन गए तालाब, फसलें चौपट

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :