जलदाय विभाग में दूषित पानी मामला: Water Supply Minister Mshesh Joshi ने कोटा में जलदाय विभाग के एडिशनल चीफ के साथ दुर्व्यवहार पर जताई नाराजगी, भाजपा नेता भवानी सिंह के खिलाफ दर्ज हो सकता है राजकार्य में बाधा का मुकदमा

जलदाय विभाग के मंत्री महेश जोशी ने कर्मचारियों से दुर्व्यवहार करने पर नाराजगी जताई। कर्मचारियों से ऐसा व्यवहार करने पर राजकार्य में बाधा का मुकदमा दर्ज किया जा सकता है। 

Water Supply Minister Mshesh Joshi ने कोटा में जलदाय विभाग के एडिशनल चीफ के साथ दुर्व्यवहार पर जताई नाराजगी, भाजपा नेता भवानी सिंह के खिलाफ दर्ज हो सकता है राजकार्य में बाधा का मुकदमा

जयपुर। 
जलदाय विभाग कोटा के एडिशनल चीफ इंजीनियर महेश जांगिड़ को दूषित पानी पिलाने के मामले में जलदाय ​विभाग के मंत्री की ओर से आज बयान आया है। 
जलदाय विभाग के मंत्री महेश जोशी ने कर्मचारियों से दुर्व्यवहार करने पर नाराजगी जताई। 
उन्होंने यहां तक कहा कि कर्मचारियों से ऐसा व्यवहार करने पर राजकार्य में बाधा का मुकदमा दर्ज किया जा सकता है। 
जोशी ने कहा कि कोटा में पूर्व विधायक भवानी सिंह राजावत द्वारा जन स्वास्थ्य अभियांत्रिकी विभाग के अतिरिक्त मुख्य अभियंता स्तर के अधिकारी से दुर्व्यवहार कर उनको जबरन जल पिलाया यह गलत है। 
डॉ. महेश जोशी ने बुधवार को शासन सचिवालय में विभागीय अधिकारियों के साथ बैठक में इस घटनाक्रम के बारे में जानकारी ली। 
उन्होंने बताया कि इस प्रकार की घटना राजकार्य में बाधा का प्रयास है, किसी भी जनप्रतिनिधि को ऐसा आचरण शोभा नहीं देता। जोशी  ने कहा कि किसी भी मुद्दे पर अपनी बात रखने या विरोध दर्ज कराने का सबको अधिकार है। लेकिन राज्य सरकार द्वारा इस तरह की हरकतें बर्दाश्त नहीं की जाएगी। 
उन्होंने बताया कि अधिकारियों से पूरे मामले की जांच के बाद विस्तृत रिपोर्ट देने को कहा गया है। इसके आधार पर आगामी कार्रवाई की जाएगी।


जलदाय विभाग में लम्बित भर्तियों को प्राथमिकता के साथ पूरा करने के दिए निर्देश
जलदाय मंत्री डॉ.महेश जोशी ने विभाग में कनिष्ठ अभियंता तथा अन्य प्रक्रियाधीन भर्तियों के संबंध में बुधवार को शासन सचिवालय में समीक्षा बैठक ली। 
उन्होंने बैठक में राजस्थान अधीनस्थ एवं मंत्रालयिक सेवा चयन बोर्ड के अध्यक्ष हरि प्रसाद शर्मा से कहा कि वे बोर्ड के स्तर पर लंबित भर्तियों को प्राथमिकता के साथ पूरा करें।
डॉ.जोशी ने कहा कि पानी आमजन से जुड़ा सबसे महत्त्वपूर्ण मुद्दा है। विभाग में निचले स्तर पर भर्तियों से ही योजनाओं और कार्यक्रमों को गति मिलेगी और हर घर तक पीने का साफ पानी पहुंचाने के राज्य सरकार के लक्ष्य को पूरा किया जा सकेगा। 
जोशी ने बोर्ड अध्यक्ष को कनिष्ठ अभियंता के पदों पर भर्ती के लिए यथाशीघ्र विज्ञप्ति जारी करने के लिए कहा।
इसके साथ ही अन्य पदों पर प्रक्रियाधीन भर्तियों के संबंध में भी विभाग के साथ संयुक्त बैठक कर आपसी समन्वय से शीघ्र प्रक्रिया पूरी करने के लिए कहा। 
उन्होंने विभाग में विभिन्न पदों के लिए आवश्यक शैक्षणिक तथा अन्य अर्हताओं तथा रिक्त पदों के बारे में विभागाधिकारियों से जानकारी ली। उन्होंने अधिकारियों को रिक्त पदों पर भर्तियों के लिए अतिशीघ्र फ्रेम वर्क तैयार करने के निर्देश दिए।

बोर्ड अध्यक्ष श्री शर्मा ने आश्वस्त किया कि बोर्ड द्वारा यथाशीघ्र विभाग के विभिन्न पदों के लिए भर्ती प्रक्रियाओं को पूरा किया जाएगा। 
इस दौरान बैठक में विभाग के अतिरिक्त मुख्य सचिव सुधांश पंत, संयुक्त शासन सचिव पुष्पा सत्यानी तथा  प्रताप सिंह तथा मुख्य अभियंता (प्रशासन) राकेश लुहाड़िया सहित अन्य अधिकारी उपस्थित थे।

Must Read: रीट परीक्षा को लेकर कन्ट्रोल रुम के फोन नंबर जारी, परीक्षार्थी अवश्य पढ़ लें ये दिशा-निर्देश

पढें लाइफ स्टाइल खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :