संसद में हंगामेदार मानसून सत्र: देश की संसद में मानसून सत्र का हंगामेदार आगाज, मजबूरन स्पीकर ने की स्थगित 

आज देश की संसद में मानसून सत्र की शुरुआत ही हंगामेदार हुई। सत्र शुरू होने के साथ ही नए सदस्यों को शपथ दिलाई गई। इसके बाद मोदी नए मंत्रियों का परिचय देने खड़े हुए, तो विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया। संसद में सदन की कार्यवाही शुरू होने के महज 8 मिनट बाद ही विपक्ष ने शोर-शराबा शुरू कर दिया।

देश की संसद में मानसून सत्र का हंगामेदार आगाज, मजबूरन स्पीकर ने की स्थगित 

नई दिल्ली, एजेंसी। 
आज देश की संसद (Parliament) में मानसून सत्र (Monsoon session ) की शुरुआत ही हंगामेदार हुई। सत्र शुरू होने के साथ ही नए सदस्यों को शपथ दिलाई गई। इसके बाद मोदी नए मंत्रियों का परिचय देने खड़े हुए, तो विपक्ष ने हंगामा शुरू कर दिया। संसद में सदन की कार्यवाही शुरू होने के महज 8 मिनट बाद ही विपक्ष ने शोर-शराबा शुरू कर दिया। विपक्ष के शोर शराबे पर रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह (Defense Minister Rajnath Singh) ने आपत्ति जताई। इसके बाद भी विपक्ष के सांसदों की नारेबाजी जारी रही, तो स्पीकर ने लोकसभा को 2 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया।


वहीं इस बीच हंगामे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Prime Minister Narendra Modi) ने कहा कि मैं सोच रहा था कि आज सदन में उत्साह का वातावरण होगा क्योंकि बहुत बड़ी संख्या में हमारी महिला सांसद, दलित भाई, आदिवासी, किसान परिवार से सांसदों को मंत्री परिषद में मौका मिला। उनका परिचय करने का आनंद होता, लेकिन शायद देश के दलित, महिला, ओबीसी,किसानों के बेटे मंत्री बनें ये बात कुछ लोगों को रास नहीं आती है। इसलिए उनका परिचय तक नहीं होने देते।

मोदी ने शांति बनाए रखने की अपील की 
संसद के मानसून सत्र की शुरुआत से पहले प्रधानमंत्री Modi ने सांसदों से सदन में शांति बनाए रखने की अपील की। संसद के बाहर PM मोदी ने मीडिया से कहा कि मैं सभी सांसदों से आग्रह करूंगा कि वे तीखे से तीखे सवाल पूछें, बार-बार सवाल पूछें, लेकिन शांत वातावरण में सरकार को जानकारी देने का मौका भी दें। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि सदन में चर्चा सार्थक हो, परिणामकारी हो। इससे जनता-जनार्दन को भी जानकारी मिलती है। देश की गति भी तेज होती है। देश की जनता जो जवाब चाहती है, वो जवाब देने की सरकार की पूरी तैयारी है।

प्रधानमंत्री की वैक्सीन को लेकर अपील
PM नरेंद्र मोदी ने सभी से कोरोना वैक्सीन (corona vaccine) लगवाने की अपील भी की। उन्होंने कहा कि मैं आशा करता हूं कि आप सब को वैक्सीन का एक डोज लग गया होगा, लेकिन मेरी आप सब से प्रार्थना है कि सदन में कोरोना प्रोटोकॉल का पालन करने में सहयोग दें। ये वैक्सीन बाहु पर लगती है और जब वैक्सीन बाहु पर लगती है, तो आप बाहुबली बन जाते हैं। कोरोना के खिलाफ लडऩे के लिए बाहुबली बनने का यही तरीका है कि आपके बाहु पर वैक्सीन लगवा लीजिए। पीएम मोदी ने कहा कि अब तक 40 करोड़ से ज्यादा लोग कोरोना के खिलाफ लड़ाई में बाहुबली(get the vaccine, become Bahubali) बन चुके हैं। 
क्या खास होगा मानसून सत्र में 
इस सत्र में 2 फाइनेंशियल सहित कुल 31 बिल पेश किए जा सकते हैं। यह सत्र 13 अगस्त तक चलना है। कांग्रेस सांसद मनीष तिवारी (Congress MP Manish Tewari) लोकसभा में किसान कानून के खिलाफ स्थगन का प्रस्ताव देंगे। सरकार की कोशिश है कि सेशन हंगामे की भेंट न चढ़े, क्योंकि विपक्ष किसान आंदोलन और कोरोना के बहाने सरकार को घेरने की तैयारी में है। रविवार को हुई ऑल पार्टी मीटिंग में मोदी ने कहा कि सरकार संसद में सार्थक चर्चा के लिए तैयार है।