अवैध शराब तस्करी पर सिरोही विधायक: सिरोही के सीमावर्ती पुुलिस थानों से हो रही अवैध शराब तस्करी की जड़ें पुलिस मुख्यालय में: सिरोही विधायक लोढ़ा

राजस्थान के सीमावर्ती पुलिस थाना इलाकों से अगर गुजरात में अवैध शराब तस्करी हो रही है तो इसके लिए कहीं ना कहीं पुलिस प्रशासन और आबकारी विभाग का सरंक्षण प्राप्त है। ऐसा कहना है सिरोही विधायक संयम लोढ़ा का।

सिरोही के सीमावर्ती पुुलिस थानों से हो रही अवैध शराब तस्करी की जड़ें पुलिस मुख्यालय में: सिरोही विधायक लोढ़ा

सिरोही। 
राजस्थान के सीमावर्ती पुलिस थाना इलाकों से अगर गुजरात में अवैध शराब तस्करी हो रही है तो इसके लिए कहीं ना कहीं पुलिस प्रशासन और आबकारी विभाग का सरंक्षण प्राप्त है। ऐसा कहना है सिरोही विधायक संयम लोढ़ा का। सिरोही में करीबन सप्ताह भर से चल रहे अवैध शराब तस्करी के घटना क्रम के बाद चुप्पी तोड़ते हुए सिरोही विधायक  शु्क्रवार को मीडिया से रू ब रू हुए और जिले में अवैध शराब , मादक पदार्थों की तस्करी पर खुलकर बयान दिया।
सिरोही विधायक ने तो यहां तक कह दिया कि गुजरात में अवैध शराब तस्करी की जड़े राजस्थान के जयपुर स्थित पुलिस मुख्यालय तक जमी हुई है। तभी तो सीमावर्ती पुलिस थानों में आने वाला थानाधिकारी पुलिस मुख्यालय की सिफारिश से आता है और पुलिस के आला अधिकारियों का सरंक्षण उनको प्राप्त है। विधायक लोढ़ा ने इसका ​उदाहरण तक दिया और मंडार पुलिस थाने में गत वर्ष कोरोना काल में पकड़ी गई तंबाकू के मामले पर सवाल उठाया। लोढ़ा ने बताया कि मंडार थाना पुलिस ने अवैध तंबाकू पकड़ी, उसे बेच भी दी, विधान सभा में सवाल उठाया गया। पुलिस मुख्यालय के आदेशों से मंडार में नए थानाधिकारी तक लगा दिए गए। चौंकाने वाली बात तो यह है कि पिछले एक साल में मंडार पुलिस थाने में एक, दो या तीन नहीं, चार बार थानाधिकारी बदल दिए गए। ये किसके कहने पर बदले, किसने बदलें! ऐसे में सबसे पहले पुलिस मुख्यालय में जमी जड़ों को ठीक करना होगा।

सिरोही में हरियाणा निर्मित शराब कहां से आई ?
सिरोही विधायक ने कहां कि पिछले दिनों सिरोही में आबकारी विभाग ने अवैध हरियाणा निर्मित शराब जब्त की। अब ऐसे में सवाल खड़ा होता है कि सिरोही में हरियाण निर्मित शराब कहां से आईं ? क्या सिरोही में हरियाणा की शराब बनाई जाती है ? क्या हवाई जहाज से सिरोही में पहुंचाई गई ? नहीं, अवैध शराब तस्करों ने इसका रूट तक तय कर रखा है। नागौर, जोधपुर पाली होते हुए सिरोही फिर गुजरात। ऐसे में इस अवैध शराब तस्करी के मसले में पड़ौसी राज्यों को भी एकजुट होना होगा। सबकी इसके खिलाफ कार्रवाई करने की मंशा होनी चाहिए। 

सिरोही में लाइसेंसी खोलकर बैठे है ब्रॉच
विधायक संयम लोढ़ा ने यहां तक कह दिया कि सिरोही में शराब के ठेकेदार एक लाइसेंस पर कई ब्रॉच तक खोलकर बैठे है। कौन कार्रवाई कर रहा है। राजस्थानी के सीमावर्ती शराब के ठेकों की बोली करोड़ों में जाती है, क्यों। क्या सिरोही के लोग शराब पी रहे है। इन सब सवालों के जवाब आबकारी या प्रशासन को देना चाहिए। सिरोही में कुख्यात तस्कर शराब के लाइसेंस लेकर बैठा है, कहां नियमों की पालना हो रही है। आबकारी शराब बिक्री पर ध्यान देता है नियमों की पालना पर नहीं। सिरोही में राजस्थान हाईकोर्ट तक के आदेशों की अवेहलना हो रही है। बिना सरंक्षण प्राप्त होने पर 1 शराब की बोतल तक बेचना मु​मकीन नहीं हो सकता।

करोड़ों की शराब क्या ट्रक चालक या खलासी की 
विधायक संयम लोढ़ा ने कहा कि पुलिस प्रशासन आए दिन अवैध डोडा, अ​फीम, अवैध शराब पकड़ता है। कभी वाहन चालक अंधेरे का फायदा उठाकर फरार हो जाता है तो कभी खलासी और चालक को गिरफ्तार कर लिया जाता है। ऐसे में फिर सवाल खड़ा होता है कि क्या ट्रक में पकड़ी गई अवैध शराब खलासी की है या ट्रक चालक की। आज तक ट्रक मालिक या शराब बेचने के साथ खरीदार तक पुलिस क्यों नहीं पहुंचती। अंत में सिरोही विधायक लोढ़ा ने पुलिस महानिदेशक पर विश्वास जताते हुए अवैध तस्करी मामले में संलिप्त अधिकारियों पर सख्त कार्रवाई करने का भरोसा जताया।