Indian Navy आईएनएस सुदर्शनी की तैनाती: Bridges of Friendship के तहत भारतीय नौसेना के प्रयासों से आईएनएस सुदर्शनी की खाड़ी क्षेत्र में तैनाती

भारतीय नौसेना के प्रयासों से ब्रिजेज आफ फ्रेंडशिप का विस्तार करते हुए आईएनएस सुदर्शनी को खाड़ी क्षेत्र में तैनात किया है।  आईएनएस सुदर्शनी जहाज को पिछले दिनों आईआरआईएस जेरेह द्वारा पोर्ट साहिद बहोनार, बंदर अब्बास (ईरान) ले जाया गया। 

Bridges of Friendship के तहत भारतीय नौसेना के प्रयासों से आईएनएस सुदर्शनी की खाड़ी क्षेत्र में तैनाती

नई दिल्ली, एजेंसी। 
भारतीय नौसेना के प्रयासों से ब्रिजेज आफ फ्रेंडशिप का विस्तार करते हुए आईएनएस सुदर्शनी को खाड़ी क्षेत्र में तैनात किया है। 
आईएनएस सुदर्शनी जहाज को पिछले दिनों आईआरआईएस जेरेह द्वारा पोर्ट साहिद बहोनार, बंदर अब्बास (ईरान) ले जाया गया। 
वहां तट पर आईआरआई नौसेना के नौसेना बैंड द्वारा जहाज का गर्मजोशी से स्वागत किया गया। 
ईरान में भारतीय दूतावास के एक प्रतिनिधि मंडल के साथ आईआरआई नौसेना प्रथम नौसेना क्षेत्र सुदर्शनी को रिसीव किया। 
इसके बाद ईरान में भारतीय राजदूत गद्दाम धर्मेंद्र ने जहाज का दौरान किया। 
नौसेना के अधिकारियों की टीम ने जहाज की जानकारी देते हुए राजूदत को निरीक्षण करवाया। 
इसके बाद भारतीय नौसेना और आईआरआई नौसेना कार्मिकों के आयोजन में संयुक्त रूप से केक कटिंग समारोह आयोजित किया गया।


इसके बाद नौसेना अटैशे इंडिया के साथ कमांडिंग ऑफिसर ने कमांडर आईआरआई नेवी फर्स्ट डिस्ट्रिक्ट से मुलाकात की। 
इस दौरान ऐतिहासिक समुद्री संपर्क, प्रशिक्षण कैडेटों और युवा अधिकारियों के विषय पर दोनों नौसेनाओं के बीच आपसी सहयोग और सेल प्रशिक्षण के विभिन्न पहलुओं पर चर्चा की गई। 
आईआरआई नौसेना के प्रशिक्षण निदेशक कैप्टन हमजा ने आईआरआई नौसेना के अधिकारियों की एक टीम के साथ जहाज का दौरा किया।
उन्हें आईआरआई नौसेना कैडेट्स के हार्बर प्रशिक्षण के दौरान जहाज की कार्यप्रणाली और विशेषताओं का गहन अवलोकन कराया गया। 
आईआरआई नेवी ट्रेनी ऑफिसर्स जिन्हें सेल ट्रेनिंग के लिए नामित किया गया है, ने जहाज के परिचय हेतु जहाज का दौरा किया।


इस दौरान सीमैनशिप, सेल अरेंजमेंट, रोप वर्क और सेल ट्रेनिंग के तकनीकी विषयों पर व्यावहारिक ज्ञान साझा किया गया। 
इस दौरे के दौरान दोनों पक्षों को सेल रिगिंग का व्यावहारिक ज्ञान और अनुभव भी प्रदान किया गया। 
जहाज तीन दिनों के लिए बंदर अब्बास में रहेगा। 
इसमें नौसेना बेस (बंदर अब्बास) की यात्रा और आईआरआई नौसेना के सी राइडर्स द्वारा एक दिन नौकायन प्रशिक्षण का अनुभव शामिल है।

Must Read: डब्ल्यूएचओ ने भारत में कोरोना के नए वैरिएंट को लेकर जाहिर की चिंता

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :