भारत: भाजपा स्थानीय निकायों में आरक्षण के लिए प्रतिबद्ध, पाटिल ने ओबीसी को दिया आश्वासन

पाटिल ने यह घोषणा बुधवार शाम दक्षिण गुजरात में कांग्रेस द्वारा स्थानीय निकायों में ओबीसी के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर राज्यव्यापी अभियान शुरू करने के जवाब में की।

भाजपा स्थानीय निकायों में आरक्षण के लिए प्रतिबद्ध, पाटिल ने ओबीसी को दिया आश्वासन
BJP state unit president C R Patil on Wednesday inaugurated a community hall in the Bharuch district.
सूरत, 25 अगस्त (आईएएनएस)। गुजरात भाजपा अध्यक्ष सीआर पाटिल ने एक बार फिर दोहराया कि उनकी पार्टी पंचायतों, नगर पालिकाओं और निगमों जैसे स्थानीय निकायों में अन्य पिछड़े समुदायों (ओबीसी) को आरक्षण प्रदान करने के लिए प्रतिबद्ध है।

पाटिल ने यह घोषणा बुधवार शाम दक्षिण गुजरात में कांग्रेस द्वारा स्थानीय निकायों में ओबीसी के लिए 27 प्रतिशत आरक्षण की मांग को लेकर राज्यव्यापी अभियान शुरू करने के जवाब में की।

भाजपा प्रमुख ने कहा है, सुप्रीम कोर्ट के निर्देश पर, राज्य सरकार ने उच्च न्यायालय (सेवानिवृत्त) न्यायमूर्ति के.एस. झावेरी आयोग की अध्यक्षता में एक आयोग का गठन किया है। जब आयोग राजनीतिक दलों को उनके विचारों के लिए बुलाएगा, तो भाजपा स्थानीय निकायों में ओबीसी के लिए आरक्षण की मांग करेगी।

कांग्रेस पार्टी के पूर्व प्रदेश अध्यक्ष अमित चावड़ा ओबीसी आरक्षण अभियान का नेतृत्व कर रहे हैं और ओबीसी समुदाय के सदस्यों की कई बैठकें कर चुके हैं। जिसमें उन्होंने ओबीसी के लिए 27 फीसदी आरक्षण की मांग की।

पहले स्थानीय निकाय चुनाव में ओबीसी सीटों के लिए 10 फीसदी आरक्षण था।

जुलाई के पहले सप्ताह में स्थानीय निकायों में ओबीसी के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण को समाप्त करने के सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद राज्य चुनाव आयोग के सामने यह मुद्दा उठा और ओबीसी आरक्षित सीटों के बिना 3252 ग्राम पंचायतों के चुनाव कराने के लिए एक सर्कुलर जारी किया।

इस सकरुलर को लेकर ओबीसी समुदाय और विशेष रूप से विपक्ष ने जमकर हंगामा किया, जिसने राज्य सरकार को 8 जुलाई को आयोग नियुक्त करने के लिए मजबूर किया।

--आईएएनएस

पीके/एएनएम

Must Read: अनुब्रत मंडल को 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेजा गया

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :