फलोदी में जेल से भागे कैदी: जोधपुर के फलोदी जेल से 1 या 2 नहीं, 16 कैदी गार्डों की आंखों में मिर्च डालकर हो गए फरार

फलोदी जेल से एक साथ 16 कैदी भाग गए। चौंकाने वाली बात यह है कि कैदियों ने गार्डों की आंखों में लाल मिर्च का पाउडर डाला और फरार हो गए। एक साथ सोलह बंदियों के भागने से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया।

जोधपुर के फलोदी जेल से 1 या 2 नहीं, 16 कैदी गार्डों की आंखों में मिर्च डालकर हो गए फरार

जोधपुर। 
जोधपुर जिले के फलोदी जेल से एक साथ 16 कैदी भाग गए। चौंकाने वाली बात यह है कि कैदियों ने गार्डों की आंखों में लाल मिर्च का पाउडर डाला और फरार हो गए। एक साथ सोलह बंदियों के भागने से पुलिस महकमे में हड़कंप मच गया। पुलिस एसपी ने सूचना मिलने के साथ ही बदमाशों को पकड़ने के लिए टीमें रवाना कर दी।  फलोदी क्षेत्र में पुलिस ने सघन जांच अभियान शुरू कर दिया है। भागने वाले कैदियों में हत्या के अलावा अधिकांश बंदी एनडीपीएस एक्ट के तहत पकड़े गए है।


जानकारी के मुताबिक फलोदी के उप कारागृह में आज शाम करीब सवा आठ बजे कुछ बंदियों ने वहां तैनात गार्ड की आंखों में मिर्च फैंक दी। इस बीच मौका पाकर वहां से सोलह बंदी एक साथ भाग निकले। भागने वाले बंदियों में से तीन बिहार के है। शेष कैदी फलोदी, बाप व लोहावट क्षेत्र के है। अधिकांश आरोपी है एनडीपीएस एक्ट के है। वहीं कुछेक हत्या के आरोपी भी भागने वालों में शामिल है। फलोदी थाना प्रभारी राकेश ख्यालिया ने की घटना की पुष्टि की है। वहीं जिला पुलिस अधीक्षक जोधपुर ग्रामीण अनिल कयाल ने क्षेत्र के सभी थाना प्रभारियों से क्षेत्र में सघन तलाशी अभियान चलाने के निर्देश दिए है। एनडीपीएस मामलों में गिरफ्तार अधिकांश कैदी अफीम व डोडा पोस्त की तस्करी में लिप्त रहते हुए पकड़े गए थे।

3 दिन पहले ही डिप्टी जेलर पर गिरी थी गाज
आप को बता दें कि फलोदी स्थित उप कारागृह में बंदियों के पास मोबाइल व आपत्तिजनक सामग्री होने की सूचना मिली। जेल एसपी ओमप्रकाश शर्मा के निर्देश पर विशेष टीम ने फलोदी उप कारागृह की आकस्मिक जांच की। इसमें 11 मोबाइल, ईयर फोन, चार्जर, डाटा केबल जब्त किए गए। इस संबंध में लापरवाही मानते हुए डिप्टी जेलर सत्येन्द्र कुमार को निलम्बित करने के आदेश जारी किए गए।

ये कैदी हुए फरार

सुखदेवशोकत अलीअशोकप्रदीप

ये फोटो हत्या के जुर्म में जेल में बंद थे। 
फरार हुए अपराधियों के नाम पुलिस के मुताबिक सुखदेव, जगदीश, शोकत अली,अशोक, प्रेम अनिल, प्रदीप, राजकुमार, मोहन,श्रवण, मुकेश, शिव प्रताप,  शंकर, हनुमान, महेंद्र  और श्याम लाल है।

Must Read: शिवगंज के अस्पताल में गर्म पानी उपलब्ध नहीं ? या उपचार करने की इच्छाशक्ति का अभाव?

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :