BWF विश्व चैंपियनशिप 2022 : PV सिंधु की अनुपस्थिति में लक्ष्य, श्रीकांत की भारत की चुनौती का करेंगे नेतृत्व

नौवीं वरीयता प्राप्त लक्ष्य ने टूर्नामेंट के 2021 सीजन में कांस्य पदक जीता था। उन्होंने चैंपियनशिप में गैर-वरीयता प्राप्त की थी, लेकिन टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनलिस्ट केविन कॉर्डन पर जीत के बाद उन्हें अलग पहचान मिली।

PV सिंधु की अनुपस्थिति में लक्ष्य, श्रीकांत की भारत की चुनौती का करेंगे नेतृत्व
लक्ष्य, श्रीकांत

टोक्टो | राष्ट्रमंडल खेल 2022 के स्वर्ण पदक विजेता लक्ष्य सेन और कांस्य पदक विजेता किदांबी श्रीकांत भारत की चुनौती का नेतृत्व करेंगे और चोटिल पीवी सिंधु सोमवार से यहां शुरू होने वाले इस टूर्नामेंट में नहीं खेलेंगी।

नौवीं वरीयता प्राप्त लक्ष्य ने टूर्नामेंट के 2021 सीजन में कांस्य पदक जीता था। उन्होंने चैंपियनशिप में गैर-वरीयता प्राप्त की थी, लेकिन टोक्यो ओलंपिक के सेमीफाइनलिस्ट केविन कॉर्डन पर जीत के बाद उन्हें अलग पहचान मिली।

21 वर्षीय लक्ष्य भारतीय सेमीफाइनल में हमवतन किदांबी श्रीकांत से हार गए और कांस्य पदक से संतुष्ट करना पड़ा।

भारत को 12वीं वरीयता प्राप्त किदांबी श्रीकांत से भी उम्मीद होगी, जिन्होंने 2021 में रजत पदक जीता था। वह बीडब्ल्यूएफ विश्व चैंपियनशिप के फाइनल में पहुंचने वाले और रजत पदक के साथ वापसी करने वाले पहले भारतीय शटलर थे। पिछली बार फाइनल में सीधे सेटों में सिंगापुर के लोह कीन यू से हार गए थे।

राहुल गांधी के इनकार के बाद कई नाम सामने: कौन बनेगा कांग्रेस का अध्यक्ष, कई नामों पर विचार

श्रीकांत और लक्ष्य के अलावा 2019 सीजन के कांस्य पदक विजेता बी साई प्रणीत और एचएस प्रणय भी बेहतर करने में सक्षम हैं।

हालांकि, भारतीय पुरुषों को पोडियम फिनिश के लिए वल्र्ड नंबर 1 और शीर्ष वरीयता प्राप्त विक्टर एक्सेलसन से सामना करना होगा। ऑल इंग्लैंड ओपन चैंपियन 31 मैचों की लगातार जीत के साथ आगे बढ़ रहे हैं।

महाकाल से जुड़े विज्ञापन पर बवाल: महाकाल से मंगवाई थाली ह्रितिक को भरी पड़ी!

युगल वर्ग में भारत को राष्ट्रमंडल खेलों 2022 के स्वर्ण पदक विजेता सात्विकसाईराज रंकीरेड्डी और चिराग शेट्टी से काफी उम्मीदें होंगी।

महिला एकल वर्ग में सिंधु और जापान की नोजोमी ओकुहारा दोनों ही चोट के कारण बाहर हो गईं हैं।

वल्र्ड नंबर 33 साइना नेहवाल, इस बार गैर वरीयता प्राप्त, टोक्यो इवेंट में फॉर्म में वापसी करना चाहेगी। पूर्व विश्व नंबर 1 ओकुहारा और सिंधु की अनुपस्थिति में अच्छा प्रदर्शन करने की कोशिश करेगी। वह पहले दौर में चेउंग नगन यी से भिड़ेंगी, जिनके खिलाफ उनका 3-1 का रिकॉर्ड है।

32 वर्षीय साइना के पास दो विश्व चैम्पियनशिप पदक हैं, जिसमें 2015 सीजन में एक रजत, उसके बाद 2017 में कांस्य पदक शामिल हैं।

विशेष रूप से, भारत ने विश्व बैडमिंटन चैंपियनशिप में 12 पदक जीते हैं, लेकिन सिंधु के माध्यम से 2019 में एकमात्र स्वर्ण पदक आया था। भारत, 26 खिलाड़ियों के साथ, जापान (32) और मलेशिया (27) के बाद विश्व चैंपियनशिप में तीसरे स्थान पर है।

Must Read: मैनचेस्टर में भारत बनाम इंग्लैंड के बीच आज से शुरू होने वाला पांचवां टेस्ट मैच कोरोना के चलते रद्द

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :