राजस्थान में कोरोना का नया वैरियंट कप्पा: राजस्थान में कोरोना के नए वैरियंट कप्पा के 11 मरीज संक्रमित, अब तक 30 देशों में फैल चुका कप्पा 

इंडियन मेडिकल एसोसिएशन ने जहां कोरोना की तीसरी लहर जल्द आने की चेतावनी जारी की, वहीं दूसरी ओर राजस्थान में कोरोना के नए वैरियंट कप्पा की एंट्री हो गई। राज्य सरकार ने कप्पा वैरियंट की पुष्टि करते हुए प्रदेश में  कोरोना के नए वेरिएंट के 11 मरीज संक्रमित होना बताया  है।

राजस्थान में कोरोना के नए वैरियंट कप्पा के 11 मरीज संक्रमित, अब तक 30 देशों में फैल चुका कप्पा 

जयपुर।
इंडियन मेडिकल एसोसिएशन (IMA) ने जहां कोरोना की तीसरी लहर जल्द आने की चेतावनी जारी की, वहीं दूसरी ओर राजस्थान में कोरोना के नए वैरियंट कप्पा (Corona's new variant Kappa) की एंट्री हो गई। राज्य सरकार ने कप्पा (Kappa) वैरियंट की पुष्टि करते हुए प्रदेश में  कोरोना के नए वेरिएंट के 11 मरीज संक्रमित होना बताया  है। इससे पहले इस नए वैरियंट के मरीजों की पहचान देश के उत्तरप्रदेश राज्य में पिछले 5 दिन पहले हुई थी। वहां 2 सैंपल में इस वैरियंट के केस मिले थे। राजस्थान में कुछ दिन पहले ही बीकानेर में डेल्टा प्लस वैरियंट का भी केस मिला था। 
चिकित्सा एवं स्वास्थ्य विभाग से जारी रिपोर्ट के मुताबिक Rajasthan में 11 केस में से 4-4 केस अलवर और जयपुर, 2 बाड़मेर से और 1 भीलवाड़ा से है। इन सभी सैंपल में से 9 की रिपोर्ट दिल्ली स्थित आईजीआईबी लैब और 2 की रिपोर्ट एसएमएस स्थित जिनोम सीक्वेंसिंग मशीन से हुई जांच से मिली है। चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा (Medical Minister Dr. Raghu Sharma) ने बताया कि कोरोना का ये नया वैरियंट डेल्टा वैरीएंट के मुकाबले मध्यम तरीके का है। हालांकि उन्होंने जनता से अभी भी कोरोना एप्रोप्रियेट बिहेवियर अपनाने की अपील की है। 
कोरोना का कप्पा वैरिएंट 30 देशों में फैला
विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) की माने तो कप्पा वैरिएंट 30 देशों में मिल चुका है। डब्ल्यूएचओ ने इसे वैरिएंट ऑफ कंसर्न कहा है, यानी इसके बारे में ज्यादा सजग रहने की जरूरत है। कप्पा वैरिएंट बी.1.617 वैरिएंट के म्यूटेशन से ही पैदा हुआ है, जो डेल्टा वैरिएंट के लिए भी जिम्मेदार है।
16 माह में 9 लाख से अधिक कोरोना की चपेट में
Rajasthan में पिछले 16 माह के अंदर 9 लाख 53,187 लोग कोरोना की चपेट में आ चुके है। इनमें से 8945 लोगों की मौत हो चुकी है। राजस्थान में वर्तमान में अभी भी 613 मरीजों का इलाज चल रहा है। 9 लाख 43,629 लोगों ठीक हो चुके है। राज्य में जिलेवार स्थिति देखे तो सबसे ज्यादा केस जयपुर जिले में 1.87 लाख से ज्यादा आए है और मौत भी सबसे ज्यादा यहीं हुई है। प्रदेश में 33 में से 3 जिले प्रतापगढ़, धौलपुर और बूंदी कोरोना मुक्त हो चुके है। वहीं बांसवाड़ा, जालौर, करौली, पाली जिले ऐसे है जहां केवल एक-एक एक्टिव केस बचा है। यह जिले भी जल्द ही कोरोना मुक्त हो सकते है।
आखिर क्या है कप्पा वैरियंट
कोरोना वायरस लगातार नए-नए वैरिएंट के जरिए साइंस और साइंटिस्ट को चुनौती दे रहा है। डेल्टा प्लस वैरिएंट के बढ़ते मामलों के बीच देश में अब कोरोना के कप्पा वैरिएंट के सात मामले मिले हैं। डेल्टा की तरह कप्पा भी कोरोना वायरस का डबल म्यूटेंट है। कप्पा वैरिएंट कोरोना वायरस के डबल म्यूटेंट वैरिएशन यानी दो बदलावों से बना है। इसे बी.1.617.1 के नाम से भी जाना जाता है। वायरस के इन दो म्यूटेशंस को ई484क्यू और एल453 आर के वैज्ञानिक नामों से जाना जाता है।

Must Read: राज्यपाल कलराज मिश्र ने झालाना वन क्षेत्र का किया भ्रमण, झालाना सफारी में वन्यजीवों और वनस्पतियों पर की चर्चा

पढें लाइफ स्टाइल खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :