सिरोही में तिरंगे का अपमान: राष्ट्र के गौरव तिरंगे के अपमान पर भाजपा ने आक्रोश जताया

सोमवार को स्थानीय भाजपा पदाधिकारियों व पार्षद दल ने 28 जनवरी को शहीद स्मारक के लोकार्पण कार्यक्रम के बाद जिस प्रकार नगर परिषद के गैर जिम्मेदाराना रवैया के कारण राष्ट्र का गौरव तिरंगे का अपमान हुआ उसको लेकर परिषद कार्यालय के बाहर जमकर नारेबाजी करते हुए कड़ा विरोध प्रकट किया।

राष्ट्र के गौरव तिरंगे के अपमान पर भाजपा ने आक्रोश जताया
sirohi nagar parishad

नगर परिषद से आयुक्त बाहर निकल गए, सभापति को उलाहना देकर दोषी के विरुद्ध कड़ी कार्रवाई की मांग रखी

आरोपों में कहा कि शहीदों के नाम पर आयोजन में म्यूजिकल नाइट फिल्मी गीतों का भोंडा प्रदर्शन हुआ, परिषद के कचरा वाहन में तिरंगा ले जाने को राष्ट्रीय ध्वज अपमान निवारण अधिनियम का उल्लंघन बताया

सिरोही। नगर परिषद सिरोही द्वारा शहीद स्मारक के लोकार्पण कार्यक्रम के बाद जिस प्रकार परिषद के कचरा वाहन में राष्ट्रीय गौरव गरिमा और देशवासियों की शान तिरंगे को ले जाने की तस्वीरें वायरल हुई उसके बाद आमजन सहित भाजपा ने भी कड़ा रोष प्रकट किया है.

घटना से आक्रोशित भाजपा पदाधिकारी व पार्षद मिलकर आयुक्त का घेराव कर नाराजगी प्रकट करने पहुंचने पर वहा से नदारद आयुक्त की गैरमौजूदगी में सभापति से मिलकर प्रतिनिधिमंडल ने घटना पर नाराजगी प्रकट की और कड़ी कार्रवाई की मांग रखी।

सोमवार को स्थानीय भाजपा पदाधिकारियों व पार्षद दल ने 28 जनवरी को शहीद स्मारक के लोकार्पण कार्यक्रम के बाद जिस प्रकार नगर परिषद के गैर जिम्मेदाराना रवैया के कारण राष्ट्र का गौरव तिरंगे का अपमान हुआ उसको लेकर परिषद कार्यालय के बाहर जमकर नारेबाजी करते हुए कड़ा विरोध प्रकट किया।

भाजपा की ओर से कृत्य को निंदनीय बताते हुए इसे राष्ट्रध्वज का अपमान बताया गया। जिला उपाध्यक्ष नारायण देवासी ने कहां की सार्वजनिक स्थान पर एक से अधिक भारतीय राष्ट्रीय ध्वज को दूषित व कुरूपित करने का कृत्य तथा प्रशासनिक अमले की मौजूदगी में जानबूझकर लापरवाही पूर्वक कचरा वाहन का प्रयोग करते हुए तिरंगे को अस्त-व्यस्त तरीके से ले जाने की घटना घोर लापरवाही का नतीजा है।

उन्होंने कहा कि स्थानीय विधायक की घटना व मामले के प्रति अनभिज्ञता समझ से परे है। भाजपा नगर अध्यक्ष लोकेश खंडेलवाल ने भी तीव्र प्रतिक्रिया देकर इसे राष्ट्रीय गौरव अपमान निवारण अधिनियम का घोर उल्लंघन बताया और कहा कि जिस प्रकार नगर परिषद आयुक्त अनिल झिगोनिया ने बेहूदा शर्मनाक बयान मीडिया में देकर पल्ला झाड़ने की कोशिश की है वह माफी योग्य नहीं है।

भाजयुमो जिलाध्यक्ष गोपाल माली, पूर्व जिलाध्यक्ष हेमंत पुरोहित, किसान नेता मांगूसिंह बावली,पूर्व मंडल अध्यक्ष महिपालसिंह चारण आदि ने भी रोष प्रकट करते कहा कि भाजपा शहीदों और तिरंगे का हमेशा सम्मान करती है। उन्होंने कहा कि आयोजन में शहीदों के नाम पर उनका अपमान ज्यादा हुआ और राष्ट्रीय ध्वज की गौरव गरिमा को खंडित किया गया है।

सभी ने नगर परिषद प्रशासन के विरुद्ध नारे लगाकर घटना को असहनीय बताया और कड़ी कार्रवाई किए जाने की मांग रखी। परिषद में नेता प्रतिपक्ष मगनलाल मीणा व पार्षद अरुण ओझा, गीता पुरोहित आदि सभी उपस्थित पार्षदों ने नगर परिषद की ओर से आयोजन में मनमानी और लापरवाही करने के आरोप लगाए।

सभापति ने माना अपमान हुआ 

भाजपा प्रतिनिधिमंडल के द्वारा सभापति महेंद्र मेवाड़ा को घटना पर कार्रवाई करने की मांग की जा रही थी उस बातचीत के दरमियान पार्षद गोपाल माली ने अखबार व फोटो दिखाकर सभापति से सवाल पूछा कि " क्या आप मानते हैं कि नहीं वहा तिरंगे का अपमान हुआ है?" इस पर सभापति ने अपना सिर हिलाकर आरोप में सहमति दर्शाई। प्रतिनिधिमंडल ने आयुक्त को अविलंब बर्खास्त करने की कार्रवाई करने की मांग की। इस पर सभापति ने उचित व कड़ी कार्रवाई किए जाने का भरोसा दिलाया।

नारेबाजी करके विरोध किया 

नगर परिषद सिरोही में भाजपा की ओर से तिरंगे के अपमान को लेकर विरोध प्रदर्शन के दौरान जमकर नारेबाजी करते हुए आयुक्त के खिलाफ मोर्चा खोल दिया। सभी ने एक स्वर में आयुक्त को बर्खास्त करने की मांग की और कहा कि तिरंगे का अपमान नहीं सहेंगे - नहीं सहेंगे, इसी प्रकार हाय हाय के नारे लगाते हुए भारत माता की जय के नारे लगाए।

इनकी रही उपस्थित 

नगर परिषद में विरोध प्रदर्शन के मौके पर नगर महामंत्री जब्बरसिंह चौहान, विजय पटेल, पार्षद सुरेश सगरवंशी,गोविंद माली, मणिदेवी माली, प्रवीण राठौड़,  मीडिया प्रभारी चिराग रावल, दीपेंद्रसिंह, नगर मंत्री अजय भट्ट, भाजयुमो नगर अध्यक्ष रिक्षितसिंह कोटेशा, ओबीसी मोर्चा अध्यक्ष कपूर पटेल, किसान मोर्चा अध्यक्ष ललित प्रजापत, सुनील गुप्ता, जितेंद्र खत्री, बाबूसिंह, गोविंद सैनी, भवर माली, रणछोड़ पुरोहित, अनिल प्रजापत, हरिकिशन रावल सहित बड़ी संख्या में कार्यकर्ता मौजूद थे।

Must Read: अलमारी ने खोल दिया राज कि उसका मालिक कितना बड़ा रिश्वतखोर है, इतनी नकदी मिली कि गिनने के लिए मशीन लगानी पड़ी

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :