बीकानेर पुलिस की राजपासा में कार्रवाई: रोहित गोदारा गैंग का गुर्गा हार्डकोर अपराधी दानिया राजपासा एक्ट में 1 साल के लिए गिरफ्तार, बीकानेर में चला रहा था गोदारा की गैंग

राजस्थान में अब बदमाशों की खैर नहीं, राजस्थान पुलिस ने बदमाशों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई शुरू कर दी। बीकानेर पुलिस ने रोहित गोदारा गैंग का गुर्गा और हार्डकोर बदमाश दानाराम सियाग उर्फ दानिया को राजस्थान समाज विराेधी क्रियाकलाप निवारण अधिनियम 'राजपासा' एक्ट के तहत गिरफ्तार कर लिया।

रोहित गोदारा गैंग का गुर्गा हार्डकोर अपराधी दानिया राजपासा एक्ट में 1 साल के लिए गिरफ्तार,  बीकानेर में चला रहा था गोदारा की गैंग

जयपुर। राजस्थान में अब बदमाशों की खैर नहीं, राजस्थान पुलिस ने बदमाशों के खिलाफ अभियान चलाकर कार्रवाई शुरू कर दी। बीकानेर पुलिस ने रोहित गोदारा गैंग का गुर्गा और हार्डकोर बदमाश दानाराम सियाग उर्फ दानिया को राजस्थान समाज विराेधी क्रियाकलाप निवारण अधिनियम 'राजपासा' एक्ट के तहत गिरफ्तार कर लिया।

पुलिस ने दानाराम उर्फ दानिया सियाग पुत्र जगदीश प्रसाद निवासी बिल्यूं पुलिस थाना भानीपुरा जिला चूरू हाल वार्ड नम्बर 2 सुरनाणा रोड, लूणकरणसर को राजपासा एक्ट में ​एक साल के लिए निरुद्ध किया है। यह कार्रवाई राजस्थान हाई कोर्ट के सलाहकार मंडल बोर्ड द्वारा निरुद्धगी को कंफर्म करने के बाद की गई।  

    
बीकानेर पुलिस अधीक्षक तेजस्विनी गौतम के मुताबिक बीकानेर पुलिस की 1 साल में राजपासा एक्ट के तहत निरुद्धगी की यह दूसरी कार्रवाई है। इससे पहले सलाहकार मंडल बोर्ड के आदेश पर बदमाश हरिओम रामावत को भी निरुद्ध किया गया था।

हार्डकोर बदमाश दानाराम उर्फ दानिया की निरुद्धगी के लिए 14 मई को वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सलाहकार मंडल बोर्ड के समक्ष पेशी हुई थी, इसके बाद 27 मई को बोर्ड द्वारा एक वर्ष की अवधि अर्थात 2 अप्रैल 2025 तक निरुध्द करने के आदेश जारी किए।

एसपी तेजस्विनी गौतम के मुताबिक गत 4 अप्रेल को बीकानेर पुलिस द्वारा 75 हजार के इनामी हार्डकोर क्रिमिनल दानाराम उर्फ दानिया सियाग को गिरफ्तार किया गया था। दानिया रोहित गोदारा गैंग का मुख्य गुर्गा भी है। यह बीकानेर में गैंग को ऑपरेट कर रहा था।

दानिया की राजू ठेहट व मूसे वाला मर्डर के आरोपियों से भी नजदीकियां रही है। लूणकरणसर का हिस्ट्रीशीटर और जिले का हार्डकोर अपराधी दानिया के खिलाफ विभिन्न थानों में लूट, डकैती, हत्या के प्रयास, फिरौती और अवैध हथियार रखने के 13 मामले दर्ज हैं। दानाराम सिहाग गंभीर अपराधों में शामिल रहा है।

इसके विरुद्ध अप्रेल महीने में राजस्थान असामाजिक क्रियाकलाप निवारण अधिनियम, 2006 के तहत जिला मजिस्ट्रेट बीकानेर के समक्ष इस्तगासा पेश किया था। धारा (3) राजपासा (RAJPASA) एक्ट के तहत अपराधी दानाराम सियाग को निरुद्ध करने के आदेश जारी किए गए थे। जिसे पुलिस ने केंद्रीय कारागृह बीकानेर में भेजा था। अब सलाहकार मंडल बोर्ड द्वारा इसके निरुद्धगी आदेश को कंफर्म किया गया है।

Must Read: हाईस्कूल के छात्र ने स्कूल नहीं जाना पड़े इसलिए दोस्त को मार डाला

पढें क्राइम खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :