Jalore @ आहोर एसडीएम का रीडर गिरफ्तार: जालोर में 40 हजार रुपए की रिश्वत लेते ट्रेप हुए आहोर एसडीएम की गिरफ्तारी के 24 घंटे बाद एसडीएम का ​रीडर भी गिरफ्तार

आहोर एसडीएम के ट्रैप मामले में दूसरे दिन एसीबी की टीम ने उसके रीडर को गिरफ्तार किया है। एसीबी टीम ने जैसे ही एसडीएम को पकड़ा था, तो आरोपी रीडर गजेंद्र कुमार परिवादी की पत्रावली लेकर फरार हो गया।

जालोर में 40 हजार रुपए की रिश्वत लेते ट्रेप हुए आहोर एसडीएम की गिरफ्तारी के 24 घंटे बाद एसडीएम का ​रीडर भी गिरफ्तार

जालोर।
जिले के आहोर एसडीएम 40 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए रंगेहाथ ट्रेप होने के 24 घंटे बाद एसीबी ने उनके रीडर को भी गिरफ्तार कर लिया। एसीबी के मुताबिक आहोर एसडीएम को ट्रेप में फंसने के बाद उनका रीडर परिवादी की फाइल को लेकर फरार हो गया था। ऐसे में आज मंगलवार को एसीबी ने रीडर की तलाश की तो शाम को वो भी गिरफ्तार हो गया। एसीबी के मुताबिक जैसे ही एसडीएम को पकड़ा था, तो आरोपी रीडर गजेंद्र कुमार परिवादी की पत्रावली लेकर मौके से फरार हो गया। इसके बाद से ही एसीबी की टीम जगह जगह दबिश देकर रीडर गजेंद्र कुमार की तलाश कर रही थी। एसीबी की टीम ने आहोर के तखतगढ़ चौराह से आरोपी रीडर को गिरफ्तार कर लिया। एसडीएम के अलावा रीडर गजेंद्र कुमार ने भी परिवादी से रिश्वत मांगी थी। एसीबी ने रीडर गजेंद्र कुमार से पत्रावली भी बरामद कर ली है। गौरतलब है कि मूलत: बाड़मेर जिले के तारातरा निवासी मासिंगाराम जांगिड़ 2019 बैच का आरएएस अफसर है। अंडर ट्रेनिंग के बाद आहोर उपखंड में एसडीएम के पद पर जांगिड़ को पहली पोस्टिंग दी गई थी। हालांकि इससे पहले अंडर ट्रेनिंग चितलवाना उपखंड मुख्यालय पर रह चुका है। आरएएस में चयन होने से पहले वह पटवारी के पद पर तैनात था।

Must Read: जालोर के लाछड़ी गांव में बोरवेल में गिरे बालक को माधाराम के जुगाड़ से सुरक्षित निकाला बाहर, सीएम ने सोषल मीडिया पर दी बधाई

पढें जालोर खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :