धार्मिक क्षेत्र को मिलेगा बढ़ावा: देश के अन्य ब्रॉडगेज नेटवर्क से सम्पर्क स्थापित करेगी आबूरोड से अंबाजी होकर तारंगाहिल तक रेलवे लाइन

आबूरोड़-अंबाजी-तारंगाहिल नई रेल लाइन से आबूरोड़ और अहमदाबाद के बीच वैकल्पिक रेल मार्ग होगा। इससे क्षेत्र के लोगों को सुगम रेल यातायात की सुविधा उपलब्ध होगी तथा क्षेत्र में सामाजिक एवं आर्थिक विकास के द्वार खुलेंगे। आबूरोड़ (सिरोही) से गुजरात राज्य के बनासकांठा, साबरकांठा एवं महेसाना जिले से यह नई रेल लाइन गुजरेगी।

देश के अन्य ब्रॉडगेज नेटवर्क से सम्पर्क स्थापित करेगी आबूरोड से अंबाजी होकर तारंगाहिल तक रेलवे लाइन

सिरोही। आर्थिक मामलों की कैबिनेट कमेटी ने पीएम नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में 2798.16 करोड़ रुपए की अनुमानित लागत से रेल मंत्रालय की ओर से बनाई जाने वाली तांरगाहिल-अंबाजी-आबू रोड नई रेल लाइन करीब 116.65 किलोमीटर के निर्माण को मंजूरी दी है। इस नई रेल लाइन से क्षेत्र में बेहतर रेल कनेक्टिविटी मिलेगी तथा धार्मिक क्षेत्र को बढ़ावा मिलेगा। सांसद देवजी पटेल ने 3 जुलाई 2019 को लोकसभा सत्र के दौरान रेल मंत्रालय से आबूरोड़-अंबाजी-तारंगाहिल नई रेल लाइन मंजूरी की मांग थी। इसके बाद रेल मंत्री से मुलाकात कर इस बारे में मांग की थी।

2798.16 करोड़ रुपये की अनुमानित लागत से रेल मंत्रालय की ओर से बनाई जाने वाली तारंगाहिल-अंबाजी-आबू रोड नई रेल लाइन (116.65 किलोमीटर) परियोजना 2026-27 तक पूरी की जाएगी इस परियोजना में निर्माण के दौरान सैकड़ों लोगों को रोजगार के अवसर प्राप्त होंगेअंबाजी देश का प्रसिद्ध एवं महत्वपूर्ण तीर्थ स्थल है और यह भारत में 51 शक्तिपीठों में से एक है अंबाजी धार्मिक स्थल में हर साल गुजरात और देश के विभिन्न क्षेत्रों के साथ-साथ विदेशों से भी लाखों भक्त दर्शन के लिये आते हैं तारंगाहिल-अंबाजी-आबू रोड नई लाइन के निर्माण से यहां आने वाले लाखों श्रद्धालुओं को यात्रा में आसानी होगी इसके अलावा, तारंगाहिल में स्थित अजीतनाथ जैन मंदिर (24 पवित्र जैन तीर्थंकरों में से एक) के दर्शन के लिये आने वाले श्रद्धालुओं के लिए यह रेल लाइन देश के अन्य ब्रॉडगेज नेटवर्क से सम्पर्क स्थापित करेगी यह रेल लाइन कृषि और स्थानीय उत्पादों के परिवहन में तीव्र आवागमन की सुविधा प्रदान करेगी और गुजरात और राजस्थान राज्यों का देश के अन्य हिस्सों के साथ बेहतर गतिशीलता प्रदान करेगी यह परियोजना मौजूदा अहमदाबाद-आबू रोड रेलवे लाइन के लिए वैकल्पिक मार्ग भी प्रदान करेगी

प्रस्तावित नई रेल लाइन प्रदेश के सिरोही जिले और गुजरात के साबरकांठा, बनासकांठा और महेसाणा जिलों से होकर गुजरेगी नई रेल लाइन के निर्माण से इस क्षेत्र में उद्योग धन्धे विकसित होंगे और क्षेत्र का समग्र सामाजिक-आर्थिक विकास होगा तारंगाहिल-अंबाजी-आबू रोड नई रेल लाइन (116.65 किलोमीटर) की अनुमानित लागत 2798.16 करोड़ रुपये हैं इस रेल लाइन पर कुल 15 स्टेशन प्रस्तावित हैं जिनमें 8 क्रॉसिंग और 7 हाल्ट स्टेशन होंगे और 11 टनल, 54 बड़े पुल, 151 छोटे पुल, 8 रोड ओवर ब्रिज, 54 रोड अंडर ब्रिज-सीमित ऊंचाई के पुल और यह विद्युतीकृत ट्रैक्शन पर संचालित मार्ग होगा

सांसद देवजी पटेल ने बताया कि आबूरोड़-अंबाजी-तारंगाहिल 116.65 किमी नई रेल लाइन पर लागत 2798.16 करोड़ रुपए आएगी, जिसमें 54 बड़े तथा 151 छोटे पुल सहित 8 रोड ओवर ब्रिज, 54 रोड अंडर ब्रिज एवं 11 सुरंग का निर्माण किया जाएगा। इस परियोजना को वर्ष 2026-27 में पूर्ण करने का लक्ष्य रखा गया है। उन्होंने बताया कि आबूरोड़-अंबाजी-तारंगाहिल नई रेल लाइन में आबूरोड़, कुली, सियावा, अंबाजी, धारेजा, कंबियावास, दांता, मोटासन, नगल तखतपुरा, जसपुरिया, वरेठा, तारंगाहिल आदि रेलवे स्टेशन होंगे।

Must Read: पाली पुलिस के एएसआई द्वारा राजपूत समाज के प्रति की गई अभद्र टिप्पणी मामले में हाईकोर्ट के वकील ने सीएम को लिखा पत्र

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :