Rajasthan @ राजभवन में शपथ की तैयारियां: राजस्थान में सत्ता की सियासत का चेहरा बदलने की तैयारियां,रविवार शाम को मंत्रियों का शपथ ग्रहण

राजस्थान में कैबिनेट पुनर्गठन की तैयारियां शुरू हो गई है। रविवार शाम 4 बजे नए मंत्रियों का शपथ ग्रहण समारोह होगा। शपथ ग्रहण को लेकर राजभवन में तैयारियां शुरू हो गई हैं। हालांकि, अब तक यह तय नहीं हुआ है

राजस्थान में सत्ता की सियासत का चेहरा बदलने की तैयारियां,रविवार शाम को मंत्रियों का शपथ ग्रहण

जयपुर। राजस्थान में कैबिनेट पुनर्गठन की तैयारियां शुरू हो गई है। रविवार शाम 4 बजे नए मंत्रियों का शपथ ग्रहण समारोह होगा। शपथ ग्रहण को लेकर राजभवन में तैयारियां शुरू हो गई हैं। हालांकि, अब तक यह तय नहीं हुआ है कि कौन-कौन नए चेहरे मंत्रिमंडल में शामिल होंगे, लेकिन बड़ी संख्या में कांग्रेस विधायकों का राजधानी जयपुर पहुंचने का सिलसिला जारी है। बताया जा रहा है कि आज शाम होने वाली कैबिनेट की बैठक के बाद एक साथ सभी मंत्रियों के इस्तीफे ले लिए जाएंगे, उसके बाद नए नामों के साथ नई कैबिनेट बनाई जाएगी। सबका शपथ कल राजभवन में होगा। सूत्रों से मिल रही जानकारी के अनुसार रविवार को शाम 4 बजे मंत्रिमंडल पुनर्गठन होगा। राजभवन से लेकर सचिवालय तक इसकी तैयारियां तेज कर दी गई है। राजभवन में टेंट लगाने का काम तेजी से चल रहा है, तो सचिवालय में नए मंत्रियों के लिए कमरे तलाशे जा रहे हैं। मोटर गैराज में भी नई गाड़ियों की व्यवस्था की जा रही है। यह सब तैयारियां इस बात की ओर स्पष्ट इशारा कर रही है कि लंबे समय से चल रही सियासी उठापटक के बीच मंत्रिमंडल पुनर्गठन का वक्त आ गया है। एक पद-एक सिद्धांत के चलते शिक्षा राज्य मंत्री गोविंद सिंह डोटासरा, राजस्व मंत्री हरीश चौधरी और चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने अपना इस्तीफा सौंप दिया है। इसके साथ ही इन तीनों मंत्रियों के इस्तीफे को स्वीकार भी कर लिया गया है। मंत्रियों ने अपनी गाड़ियों को मोटर गैराज में जमा करा दिया है। यह माना जा रहा है कि आज शाम मंत्रिपरिषद की बैठक में सीएम अशोक गहलोत सभी मंत्रियों से इस्तीफा ले सकते हैं।

परफॉर्मेंस के आधार पर होगा चयन

पिछले दिनों मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सभी प्रभारी मंत्रियों की रिपोर्ट तैयार करने के निर्देश सामान्य प्रशासन विभाग को दिए थे। सामान्य प्रशासन विभाग ने प्रभारी मंत्रियों का रिपोर्ट कार्ड तैयार किया था कि किस मंत्री ने कितनी बार अपने प्रभाव जिले में दौरा किया। साथ ही, सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं को आम जनता तक पहुंचाने में कितनी मदद की। माना जा रहा है कि इसी रिपोर्ट के आधार पर कई मंत्रियों की छुट्टी हो सकती है, जिसकी रिपोर्ट मुख्यमंत्री अशोक गहलोत के पास तैयार है।

Must Read: इसरो का आसमान में निगहबान तैनात करने का मिशन तकनीकी खराबी के चलते हुआ फेल

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :