Rajasthan @ कोरोना वैक्सीनेशन प्रतापगढ़: राजस्थान में कोविड वैक्सीनेशन की दूसरी डोज लगाने में भी प्रतापगढ़ अव्वल, 66 प्रतिशत अंकों के साथ अजमेर को पछाड़ा

कोविड वैक्सीन की प्रथम डोज शत प्रतिशत लगाने के बाद अब दूसरी डोज में भी प्रतापगढ़ जिले ने राज्य में प्रथम स्थान हासिल कर कीर्तिमान बना लिया है। वैक्सीन की दूसरी डोज में प्रतापगढ़ जिले की 66.0 फीसदी आबादी ने दूसरी डोज लगवा ली है

राजस्थान में कोविड वैक्सीनेशन की दूसरी डोज लगाने में भी प्रतापगढ़ अव्वल, 66 प्रतिशत अंकों के साथ अजमेर को पछाड़ा

जयुपर।
कोविड वैक्सीन की प्रथम डोज शत प्रतिशत लगाने के बाद अब दूसरी डोज में भी प्रतापगढ़ जिले ने राज्य में प्रथम स्थान हासिल कर कीर्तिमान बना लिया है। वैक्सीन की दूसरी डोज में प्रतापगढ़ जिले की 66.0 फीसदी आबादी ने दूसरी डोज लगवा ली है, जबकि अजमेर जिला 64.4 प्रतिशत आकंड़ों के साथ दूसरे स्थान पर बना हुआ है। जिले की इस उपलब्धि पर जिला कलक्टर प्रकाश चंद्र शर्मा एवं मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी डॉ वीडी मीना ने सभी को बधाई दी है। गौरतलब है कि इससे पूर्व प्रतापगढ़ जिला राज्य स्तर से निर्धारित लक्ष्य के अनुपात में सौ फीसदी से ज्यादा लोगों को वैक्सीन लगाकर प्रथम स्थान हासिल किया गया था, इसके लिए मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और चिकित्सा मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने जिलावासियों को बधाई दी थी।

66 फीसदी आबादी कोरोना की पकड़ से हुई दूर
प्रतापगढ़ की करीबन 66 फीसदी आबादी को वैक्सीन की दूसरी डोज लगा दी गई है। आकंड़ों के मुताबिक यहां 4 लाख 3 हजार 77 लोग पूरी तरह से वैक्सीन के जरिए प्रतिरक्षित हो चुके है। विशेषज्ञों की मानें तो इस हिसाब से यहां की आधे से ज्यादा पात्र आबादी कोरोना की पकड़ से दूर हो गई है। वहीं प्रथम डोज के मामले में 6 लाख 58 हजार 7 सौ 57 को प्रथम डोज लगवा चुके है। आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र में लोग हुए जागरूक
विषम भौगोलिक परिस्थिति एवं आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र होने के बाद भी यहां के लोगों में वैक्सीन के प्रति रूझान बरकार है। यहीं कारण है कि दूर-दराज के ऎसे क्षेत्र जहां पर मोबाइल के नेटवर्क भी काम नहीं करते हैं, वहां भी लोग कोविड की वैक्सीन लगवाने के मामले में पीछे नहीं है। जिला कलक्टर प्रकाश चंद्र शर्मा का कहना है कि हमारा लक्ष्य प्रथम पहुंचने का नहीं बल्कि यहां के शत प्रतिशत लोगों को महामारी से बचाने का है। जब तक सभी लोग वैक्सीन से पूरी तरह से प्रतिरक्षित नहीं हो जाते, तब तक हमारा वैक्सीनेशन अभियान जारी रहेगा। जिले के मुख्य चिकित्सा एवं स्वास्थ्य अधिकारी वीडी मीना ने अपनी टीम को उनकी उपलब्धि पर बधाई देते हुए कहा की स्वास्थ्य विभाग के कार्मिक महामारी की विषम परिस्थितियों में भी घर-घर पहुंचकर लोगों को वैक्सीन लगा रहे हैं।

Must Read: स्वायत्त शासन मंत्री धारीवाल ने हिट एंड रन मामले में घायलों से की मुलाकात, सरकारी योजनाओं का लाभ दिलाने का दिया आश्वासन

पढें लाइफ स्टाइल खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :