गैंगरेप मामला: कोर्ट का ऐतिहासिक फैसला : पोक्सो कोर्ट ने नाबालिग से गैंगरेप, हत्या मामले में 2 आरोपियों को सुनाई फांसी की सजा, नाबालिग की हत्या के बाद भी दरिंदों ने शव से किया था रेप

राजस्थान में पोक्सो कोर्ट ने एक नाबालिग से गैंगरेप और हत्या मामले में 2 आरोपियों को फांसी की सजा सुनाते हुए नजीर पेश की। आरोपियों के खिलाफ 100 पेज की चार्जशीट, 14 दिन में चालान तथा  12 घंटों में आरोपियों की गिरफ्तार जैसे त्वरित कार्रवाई इस मामले में देखने को मिली।

पोक्सो कोर्ट ने नाबालिग से गैंगरेप, हत्या मामले में 2 आरोपियों को सुनाई फांसी की सजा, नाबालिग की हत्या के बाद भी दरिंदों ने शव से किया था रेप

जयपुर। 
राजस्थान में पोक्सो कोर्ट ने एक नाबालिग से गैंगरेप और हत्या मामले में 2 आरोपियों को फांसी की सजा सुनाते हुए नजीर पेश की। आरोपियों के खिलाफ 100 पेज की चार्जशीट, 14 दिन में चालान तथा  12 घंटों में आरोपियों की गिरफ्तार जैसे त्वरित कार्रवाई इस मामले में देखने को मिली। वहीं राज्य सरकार की ओर से पीपी नियुक्ति के साथ पुलिस ने स्पेशल केस डायरी में इस प्रकरण को शामिल किया तो कोर्ट ने 11 दिन में फैसला सुनाते हुए 2 आरोपियों को फांसी की सजा सुना दी।


बूंदी पोक्सो कोर्ट के जज बाल कृष्ण मिश्र ने गैंगरेप के आरोपी 27 वर्षीय सुल्तान भील तथा 62 वर्षीय छोटू लाल पर 1 लाख 20 हजार रुपए का जुर्माना लगाते हुए फांसी की सजा सुनाई। सरकार की ओर से नियुक्त पीपी महावीर सिंह किशनावत के मुताबिक पोक्सो कोर्ट ने एक साथ एक ही केस में दो लोगों को फांसी की सजा सुनाई है यह राजस्थान का ही नहीं देश का पहला मामला है। इस प्रकरण में एक आरोपियों के साथ शामिल 17 वर्षीय नाबालिग पर बाल न्यायालय में सुनवाई चल रही है। 
किशोरी की हत्या के बाद भी शव के साथ किया था दुष्कर्म
पुलिस के मुताबिक जांच में सामने आया कि आरोपियों ने 15 साल की किशोरी के साथ गैंगरेप किया। इसके बाद उसकी हत्या कर दी। हत्या के बाद भी आरोपियों ने शव के साथ रेप किया। किशोरी के शरीर पर 15 जगह काटने के निशान मिले है। 
यह है मामला
पुलिस के मुताबिक 23 दिसंबर 2021 को बूंदी जिले के बसोली थाना इलाके में जंगल में एक बच्ची का शव मिलने की सूचना मिली। सूचना पर पुलिस मौके पर पहुंची तो घटना स्थल पर एक बच्ची की न्यूड बॉडी पड़ी थी। बच्ची के शव पर कपड़े नहीं थे साथ ही जगह—जगह दांतों से काटने के निशान थे।

इसके बाद 200 जवान, 10 थानाधिकारी तथा डीएसपी सहित इलाके में सर्च अभियान चलाया गया।  प्रारंभ में मृतका की शिनाख्त नहीं हुई, इससे परेशानी हुई। इसके बाद शिनाख्त होने के बाद घटना स्थल के आसपास इलाके को सर्च किया गया। कोटा से एफएसएल व डॉग स्क्वॉयड की टीम बुलाई गई। रात करीब 2 बजे डेड बॉडी मोर्चरी में शिफ्ट की गई और सुबह 4 बजे से फिर से तलाशी शुरू कर दी गई। तलाशी में बच्ची के कपड़े, पायजेब मिली तो डॉग स्क्वॉयड बुलाया गया और कुछ लोगों को चिन्हित किया गया। वारदात में एक बाल अपचारी तथा छोटे लाल उसी इलाके में रहता था तथा सुल्तान पास के गांव का है जो यहां ससुराल में आया हुआ था। तीनों को शक के आधार पर पकड़ा।

Must Read: विवाहिता की संदिग्ध अवस्था में मौत, डेढ साल पहले ही हुई थी शादी

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :