नया नारणावास में: नया  रावला नाडा का होगा निर्माण , पशु-पक्षियों को  मिलेगा नीर 

मनरेगा में  नया रावला नाड़ा  निर्माण  का कार्य नारणावास सरपंच जशोदा कंवर के निर्देशन में आरम्भ हुआ।  श्रमिकों को रोजगार देने के लिए बनी मनरेगा योजना श्रमिको के लिए जीवन दायिनी  बनी हुई हैं।  

नया  रावला नाडा का होगा निर्माण , पशु-पक्षियों को  मिलेगा नीर 
  • नया नारणावास में नया नाडा का निर्माण सरपंच जशोदा कंवर के निर्देशन में शुक्रवार को आरम्भ हुआ

जालोर | नारणावास ग्राम पंचायत क्षेत्र के नारणा वास , नया नारणावास व धवला में  सरपंच जशोदा कंवर के निर्देशन में  मनरेगा योजना में नई नाड़ियो का निर्माण हो रहा है । जिससे पशु पक्षियो को पीने को मिलेगा नीर साथ ही भूमिगत जलस्तर में भी होगा सुधार ।

शुक्रवार को मनरेगा योजना में  नया रावला नाड़ा  निर्माण  का कार्य नारणावास सरपंच जशोदा कंवर के निर्देशन में आरम्भ हुआ।  श्रमिकों को रोजगार देने के लिए बनी मनरेगा योजना श्रमिको के लिए जीवन दायिनी  बनी हुई हैं।  

नारणावास पंचायत  क्षेत्र  जगह जगह नई  नाड़ियो का निर्माण होने से नारणावास पंचायत क्षेत्र के श्रमिकों को रोजगार आसानी से मिल रहा हैं।  नाड़ियो के निर्माण होने से  वर्षा का पानी एकत्रित होगा जिससे भूमिगत जलस्तर में सुधार होगा । पशु पक्षी भी हलकतर कर सकेंगे ।

सरपंच जशोदा कंवर ने  बताया कि नारणावास पंचायत क्षेत्र में निरंतर पड़ रहे भीषण सूखे के चलते कृषि कुओं एवं नलकूपों का जलस्तर काफी कम होने के साथ बहुत अधिक नीचे चला गया है ऐसे में किसानों को खेती करने में काफी परेशानी उठानी पड़ रही हैं जिससे किसान खेती से दूर होते जा रहे ऐसे में क्षेत्र में मनरेगा योजना में बन रही ये नाड़ियां भूमिगत जलस्तर सुधारने में काफी मददगार होगी।  

पीईओ तारा राम सुंदेशा व ग्राम विकास अधिकारी लच्छा राम प्रजापत, रोजगार सहायक प्रेम प्रकाश गर्ग  नियमित मनरेगा एवं अन्य योजनाओं में चल रहे कार्यो की मॉनिटरिंग कर रहे हैं  ताकि विकास के कार्य अच्छे हो सके।

एक के बाद एक बन रही हैं नई नाड़ियां-

 सरपंच जशोदा कंवर ने बताया मनरेगा योजना श्रमिको के लिए जीवन दायिनी बनी हुई हैं मनरेगा योजना में श्रमिकों को रोजगार मिलने के साथ साथ विकास के कार्य भी हो रहे हैं । नई नई नाड़ियां बनने से जगह जगह पक्षियों एवं पशुओं को प्यास बुझाने के लिए नीर मिलेगा वही आने वाले समय मे भूमिगत जलस्तर में भी सुधार होगा।

Must Read: राजस्थान में भारी बारिश बनी मुसीबत, बाढ़ जैसे हालातों में सेना ने संभाला मोर्चा

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :