कोरोना से बचाव, धार्मिक स्थल बंद: कोरोना के चलते एक बार फिर से बंद हुए धार्मिक स्थलों के पट, मोती डूंगरी, गोविंद देवजी, खोले के हनुमान सहित प्रमुख मंदिरों में नहीं होगी भक्तों की एंटी

गृह विभाग द्वारा बुधवार को जारी की गई गाइडलाइन के तहत पूजा, अर्चना, इबादत आदि घर पर रहकर ही की जाएगी। धार्मिक स्थल एक बार फिर से 30 अप्रेल तक के लिए बंद कर दिए गए है। ऐसे में धार्मिक स्थलों पर  पर प्रबंधन द्वारा ही नियमित पूजा, अर्चना, इबादत आदि की जाएगी।

कोरोना के चलते एक बार फिर से बंद हुए धार्मिक स्थलों के पट, मोती डूंगरी, गोविंद देवजी, खोले के हनुमान सहित प्रमुख मंदिरों में नहीं होगी भक्तों की एंटी

जयपुर।
कोविड-19 की दूसरी लहर के प्रसार को रोकने हेतु गृह विभाग द्वारा बुधवार को जारी की गई गाइडलाइन के तहत पूजा, अर्चना, इबादत आदि घर पर रहकर ही की जाएगी। धार्मिक स्थल एक बार फिर से 30 अप्रेल तक के लिए बंद कर दिए गए है। ऐसे में धार्मिक स्थलों पर  पर प्रबंधन द्वारा ही नियमित पूजा, अर्चना, इबादत आदि की जाएगी। इन स्थलों पर ऑनलाइन दर्शनों की व्यवस्था है वहां ऑनलाइन दर्शनों की व्यवस्था जारी रहेगी। जिला कलेक्टर अन्तर सिंह नेहरा ने स्पष्ट किया है कि इस दौरान राज्य सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन की पालना सुनिश्चित की जाए तथा सभी धार्मिक स्थलों पर दर्शनों के लिये श्रद्धालुओं का आना प्रतिबंधित रहेगा। उन्होंने आमजन से अपील की है कि घर पर रहकर ही पूजा, अर्चना व इबादत करे, घर में रहे सुरक्षित रहे। इसके साथ ही समस्त सरकारी एवं निजी शिक्षण संस्थान, कोचिंग संस्थाए, लाइब्रेरी आदि बंद रहेगे  साथ ही सांय 6 बजे से प्रातः 5 बजे तक रात्रिकालीन कर्फ्यू रहेगा, सभी बाजार, कार्य स्थल एवं व्यावसायिक, कॉम्पलेक्स, रात्रिकालीन कर्फ्यू के दौरान बंद रहेगे। बाजार एवं व्यवसायिक प्रतिष्ठान आदि सांय 5 बजे तक बंद कर दिए जाए ताकि संबंधित स्टाफ एवं अन्य व्यक्ति शाम 6 बजे तक अपने घर पहुंच जाए। राज्य सरकार द्वारा जारी गाइडलाइन 30 अप्रेल तक जारी रहेगी। 

Must Read: भूखे प्यासे पशु— पक्षियों की मदद कर मिसाल बनी सिरोही की बे​टी Nisha Gulabwani

पढें लाइफ स्टाइल खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :