Lok Sabha में राहुल गांधी का भाषण: लोकसभा में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र सरकार को ‘AA’ वैरिएंट ,बेरोजगारी मुद्दे पर जमकर घेरा

लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र सरकार को जमकर घेरा। उन्होंने देश में अमीरी और गरीबी पर केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। 

लोकसभा में कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र सरकार को ‘AA’ वैरिएंट ,बेरोजगारी मुद्दे पर जमकर घेरा

नई दिल्ली, एजेंसी। 
लोकसभा में राष्ट्रपति के अभिभाषण पर कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने केंद्र सरकार को जमकर घेरा। उन्होंने देश में अमीरी और गरीबी पर केंद्र सरकार पर गंभीर आरोप लगाए। 
आरोपों के बाद केंद्र सरकार को राहुल गांधी ने नसीहत देते हुए कहा कि इस देश चलाने के लिए केंद्र और राज्य के बीच संवाद जरूरी है।
गांधी ने कहा कि देश में दो हिंदुस्तान बन रहे हैं।
 इसमें एक तो गरीबों का तो दूसरा अमीरों का हिंदुस्तान हैं। इन दोनों हिंदुस्तानों के बीच खाई बढ़ती जा रही है। गरीब हिंदुस्तानी के पास आज रोगजार नहीं है। 
पूरे हिंदुस्तान के युवा रोजगार की तलाश में है, लेकिन सरकार रोजगार नहीं दे रही है। रोजगार देना तो दूर पिछले साल तीन करोड़ युवाओं ने रोजगार खो दिया।


 पिछले 50 सालों में सबसे ज्यादा बेरोजगारी हिंदुस्तान में आज के दौर में है। मेक इन इंडिया के साथ स्टार्टअप इंडिया की बात हो रही है, लेकिन युवा वर्ग को रोजगार नहीं मिला रहा।
 रोजगार के बारे में कोई बात ही नहीं कर रहा, कितना रोजगार पैदा किया, कैसे किया। कुछ नहीं बोला गया। 
राहुल गांधी ने कहा कि ये दो हिंदुस्तान कैसे हो गए। रोजगार एमएसएमई और असंगठित क्षेत्र से बनता है। लेकिन आपने उनसे छीनकर हिंदुस्तान के सबसे बड़े उद्योगपतियों को दे दिया। 
सत्ता पक्ष के सांसद ये नहीं बोल रहे है कि यूपी—बिहार में युवाओं ने रेलवे की नौकरी के लिए क्या किया। उनके साथ क्या हुआ। 
गांधी ने कहा कि आज देश के 84 प्रतिशत लोगों की आय कम हो गई। वो तेजी से गरीबी की ओर बढ़ रहे हैं। 
देश में ‘AA’ वैरिएंट तेजी से पांव पसार रहा है। अडानी और अंबानी दोनों के हाथों में सारा धन जा रहा है।
 एक व्यक्ति हिंदुस्तान के सब पोट्स, एयरपोर्ट, पॉवर ट्रांसमिशन, खाद्य तेल पर कब्जा कर रहा है तो दूसरा पेट्रो केमिकल, टे​लीकॉम, रिटेल, ई कॉमर्स पर एकाधिकार जमा रहा है।
जबकि यूपीए सरकार ने 10 सालों में 27 करोड़ लोगों को गरीबी से बाहर निकाला था। जबकि भाजपा ने 23 करोड़  लोगों को गरीबी में धकेल दिया। 

राहुल गांधी ने कहा कि आपकी राजनीति ने देश में नफरत पैदा की है। संविधान में भारत को राज्यों के संघ के तौर पर बताया गया है। ​तमिलनाडु के लोगों को उतनी ही प्राथमिकता मिलनी चाहिए, जितनी यूपी और अन्य राज्यों को मिलती है।
 उतनी ही प्राथमिकता मणिपुर, जम्मू कश्मीर, नागालैंड के लोगों को भी मिलनी चाहिए। ये गंभीर मुद्दा है, इस पर जवाब चाहता हूं।  
आपको बता दें कि कोरोना के चलते अब संसद का कामकाज भी शिफ्ट हो गया।
 राज्यसभा की कार्यवाही सुबह तो लोकसभा की कार्यवाही शाम को होगी। राज्य सभा सुबह 10 बजे से दोपहर 3 बजे तक तथा लोकसभा शाम 4 बजे से रात 9 बजे तक चलेगी।


लोकसभा में राहुल गांधी के इस बयान के बाद राजस्थान मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने सोशल मीडिया पर ट्वीट किया। गहलोत ने कहा कि लोकसभा में राहुल गांधी का भाषण देश के आमजन की आवाज है। भारत में आज संस्थानों को खत्म कर सिर्फ एक व्यक्ति का शासन लागू करने का प्रयास हो रहा है। अमीर एवं गरीब के बीच की खाई बढ़ती जा रही है। मोदी सरकार का ध्यान केवल बड़े पूंजीपतियों की सेवा में है।
राहुल ने राज्यों की आवाज उठाकर सत्य कहा कि केन्द्र सरकार का राज्यों से संवाद में विश्वास नहीं है। केन्द्र सरकार राज्यों से चर्चा किए बिना एकतरफा फैसला लेती है जिन पर विवाद होते हैं। देश की जनता ने भाजपा की दमनकारी नीतियों के विरुद्ध मन बनाने का निश्चय कर लिया है।

Must Read: भीनमाल नर्मदा नीर को लेकर आंदोलन में देवासी समाज व हाथ ठेला यूनियन का समर्थन, प्रशासन को सौंपा ज्ञापन

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :