Rajasthan @ घर-घर औषधि योजना : वन विभाग का दावा घर घर औषधि योजना के तहत सिरोही सहित प्रदेश के 14 जिलों में शत प्रतिशत लक्ष्य हासिल कर वितरित किए पौधे

राजस्थान सरकार द्वारा शुरू की गई घर-घर औषधि योजना ने पहले वर्ष का 92 प्रतिशत से अधिक लक्ष्य पूर्ण कर लिया है। उदयपुर संभाग के सभी जिलों के साथ-साथ टोंक, बारां, बूंदी, सवाई माधोपुर, करौली, सिरोही, झुंझुनूं और अलवर जिले में पौध वितरण का शत-प्रतिशत लक्ष्य पूर्ण कर लिया गया है।

वन विभाग का दावा घर घर औषधि योजना के तहत सिरोही सहित प्रदेश के 14 जिलों में शत प्रतिशत लक्ष्य हासिल कर वितरित किए पौधे

जयपुर।
आमजन की रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाने और जन स्वास्थ्य में बेहतर सुधार के लिए राजस्थान सरकार (Government of Rajasthan) द्वारा शुरू की गई घर-घर औषधि योजना (Ghar-Ghar Aushadhi Yojana) ने पहले वर्ष का 92 प्रतिशत से अधिक लक्ष्य पूर्ण कर लिया है। वन विभाग (Forest Department) की ओर से प्रदेशभर में संचालित हो रही घर-घर औषधि योजना महज सौ दिनों में ही पहले वर्ष के लक्ष्य के करीब पहुंच चुकी है। योजना के प्रति लोगों में भारी उत्साह देखने को मिल रहा है। प्रमुख शासन सचिव श्रेया गुहा (Shreya Guha) और प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन-बल प्रमुख) डॉ. दीप नारायण पाण्डेय (Dr. Deep Narayan Pandey) सहित सम्पूर्ण वन विभाग के प्रयासों की बदौलत ही 22 नवंबर तक प्रदेश भर में औषधीय पौधों की साढ़े 58 लाख 33 हज़ार से अधिक किट्स का वितरण हो चुका है। वितरण कार्य वर्तमान में भी जारी है और बहुत जल्द योजना के तहत आवंटित लक्ष्य पूर्ण कर लिया जाएगा। प्रधान मुख्य वन संरक्षक मुनीश कुमार गर्ग (Munish Kumar Garg) ने बताया कि पहले वर्ष का लक्ष्य जल्द ही पूर्ण कर लिया जाएगा। अभी तक 92 प्रतिशत लक्ष्य पूर्ण किया गया है। इसके तहत प्रदेश के साढ़े 58 लाख 33 हज़ार से अधिक परिवारों तक औषधीय पौधों की किट पहुंचाई जा चुकी है।  जिन जिलों में लक्ष्य के अनुरूप पौध वितरण नहीं हुआ है, उनमें वितरण कार्य में तेजी लाने के निर्देश दिए गए हैं। प्रधान मुख्य वन संरक्षक (वन-बल प्रमुख) डॉ. दीप नारायण पाण्डेय ने बताया कि शुरूआती सौ दिनों में ही प्रदेश के अधिकांश घरों तक योजना में देय चारों प्रजातियों के औषधीय पौधे पहुंच चुके हैं। पहले वर्ष प्रदेश के आधे परिवारों तक तुलसी (Tulsi) गिलोय ( Giloy), अश्वगंधा (Ashwagandha) और कालमेघ (Kalmegh) के 2-2 सहित कुल 8 औषधीय पौधे पहुंचाए गए हैं।

वन विभाग ने 14 जिलों में शत प्रतिशत लक्ष्य किया

हासिल

राज्य के 14 जिलों में योजना के पहले वर्ष का शत-प्रतिशत लक्ष्य पूर्ण कर लिया गया है, जबकि 8 जिलों ने 90 और 11 जिलों ने 80 प्रतिशत से अधिक लक्ष्य पूर्ण कर लिया है। उन्होंने बताया कि उन्होंने बताया कि उदयपुर संभाग के सभी जिलों के साथ-साथ टोंक, बारां, बूंदी, सवाई माधोपुर, करौली, सिरोही (Sirohi), झुंझुनूं और अलवर जिले में पौध वितरण का शत-प्रतिशत लक्ष्य पूर्ण कर लिया गया है। बहुत जल्द योजना के पहले वर्ष का शत प्रतिशत लक्ष्य पूर्ण कर लिया जाएगा। डॉ. पाण्डेय ने बताया कि सोमवार को हुई बैठक में सभी अधिकारियों को अतिशीघ्र पौध वितरण लक्ष्य पूर्ण करने के साथ-साथ आगामी वर्ष के लिए तैयारियां भी शुरू करने के लिए निर्देशित किया गया। 

Must Read: Chief Minister ने नेताजी के बताए रास्ते पर चलते हुए गुमराह करने वाली शक्तियों से युवा वर्ग को सावधान रहने की अपील की

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :