यूपी के 20 जिलों में बाढ़ के हालात: गंगा-यमुना-सरयू खतरे के निशान पर, कई घाट डूबे, दुकानदारों और पुजारी ने समेटा सामान

देश के कई राज्यों में मानसूनी बादलों ने कहर बरपा दिया है। मध्य प्रदेश और उत्तरखंड में भारी बारिश के चलते उत्तर प्रदेश के 20 जिलों में बाढ़ के हालात पैदा हो गए है। इन राज्यों में हो रही लगातार बारिश कई नदियां उफान पर आ गई है। जिसके चलते गंगा-यमुना-सरयू नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ गया है।

गंगा-यमुना-सरयू खतरे के निशान पर, कई घाट डूबे, दुकानदारों और पुजारी ने समेटा सामान

लखनऊ | देश के कई राज्यों में मानसूनी बादलों ने कहर बरपा दिया है। मध्य प्रदेश और उत्तरखंड में भारी बारिश के चलते उत्तर प्रदेश के 20 जिलों में बाढ़ के हालात पैदा हो गए है। इन राज्यों में हो रही लगातार बारिश कई नदियां उफान पर आ गई है। जिसके चलते गंगा-यमुना-सरयू नदियों का जलस्तर तेजी से बढ़ गया है। इन हालातों में इन नदियों के किनारों पर बसे लाखों लोग बेघर होने को मजबूर हो गए हैं। इसी बीच मौसम विभाग ने कई राज्यों में भारी बारिश का अलर्ट जारी कर सावधानी बरतने की चेतावनी दी है।

ये भी पढ़ें:- Watch Video: बाड़मेर में वायुसेना का मिग-21 विमान क्रैश, दो पायलटों की मौत, लगा जैसे कोई बम गिरा हो

कई घाट डूबे, दुकानदारों और पुजारी ने समेटा सामान
यूपी में तेजी से बढ़ते नदियों के जलस्तर को देखते हुए प्रशासन पूरी तरह से मुस्तैद हो गया है। बाढ़ नियंत्रण विभाग और जिला प्रशासन की टीम लगातार निगरानी में लगी हुई है। गंगा, यमुना और अदृश्य सरस्वती के त्रिवेणी संगम पर जलस्तर बढ़ने के चलते अब तीर्थ पुरोहित भी अपने तख़्त सामान समेटने लगे हैं। इसके अलावा नदियों के किनारे दुकानें लगाने वाले भी अपनी दुकाने पीछे कर रहे हैं। कई इलाकों में तो नदियों के पानी कई घाट भी डूब गए हैं।

ये भी पढ़ें:-  दिल दहलाने वाला हादसा: जोधपुर में ग्रेनाइट-मार्बल फैक्ट्री में हादसा, 2 की मौत, दो घायल, क्रेन से निकाले गए शव

खतरे के निशान पर सरयू नदी, बाढ़ का खतरा
भारी बारिश के चलते सरयू नदी अपने उफान पर आ गई है। सरयू का पानी खतरे के निशान पर पहुंच गया है। जिससे बाढ़ का खतरा मंडराने लगा है। 

ये भी पढ़ें:- सड़कों पर दौड़ रही नावें: राजस्थान में भारी बारिश बनी मुसीबत, बाढ़ जैसे हालातों में सेना ने संभाला मोर्चा

Must Read: आधी रात बाद घर पहुंचे भाजपा नेता तजिंदर पाल बग्गा

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :