जोधपुर CM गहलोत की दिव्यांगों को भेंट: जोधपुर में दिव्यांग शिविर में पहुंचे सीएम, गहलोत ने जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ आमजन तक पहुंचाने के दिए निर्देश

मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने जोधपुर के रामबाग में भारत सेवा संस्थान एवं भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति जयपुर के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित तीन दिवसीय विशाल दिव्यांग शिविर के समापन समारोह में संबोधित कर रहे थे।

जोधपुर में दिव्यांग शिविर में पहुंचे सीएम, गहलोत ने  जनकल्याणकारी योजनाओं का लाभ आमजन तक पहुंचाने के दिए निर्देश


जयपुर।
मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि स्वयंसेवी संस्थाएं, सामाजिक कार्यकर्ता एवं सेवाभावी लोग समाजसेवा की भावना के साथ सरकार की जनकल्याणकारी योजनाओं एवं कार्यक्रमों का लाभ जरूरतमन्दों तक पहुंचाने में अपनी सकारात्मक भूमिका निभाएं।
मुख्यमंत्री शुक्रवार शाम जोधपुर के रामबाग में भारत सेवा संस्थान एवं भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति जयपुर के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित तीन दिवसीय विशाल दिव्यांग शिविर के समापन समारोह में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कार्यक्रम में दिव्यांगजनों को चश्मे, व्हीलचेयर्स, ट्राई साइकिल्स, श्रवण यंत्र, कृत्रिम हाथ-पैर, केलिपर्स, बैसाखी, छड़ी, ब्लाइण्ड स्टिक आदि सहायक उपकरण वितरित किए तथा जन कल्याणकारी योजनाओं पर केन्द्रित प्रदर्शनी का अवलोकन किया।
गहलोत ने कहा कि राज्य सरकार द्वारा दिव्यांगजनों के कल्याण के लिए संचालित योजनाओं एवं कार्यक्रमों की जानकारी प्रत्येक जरूरतमन्द तक पहुंचाएं, ताकि इनका लाभ लेकर वे स्वावलंबी बन सकें।


यही मानवता की सबसे बड़ी सेवा है। उन्होंने कोरोना काल में समाजसेवी संस्थाओं, उदारमना लोगों और अन्य वर्गों से मिले सहयोग का जिक्र करते हुए कहा कि कठिन घड़ी में सभी के सहयोग से कोई भूखा न सोए के संकल्प को साकार करना संभव हुआ।
मुख्यमंत्री ने दिव्यांगजनों के कल्याण के लिए भारत सेवा संस्थान एवं भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति द्वारा संचालित की जा रही गतिविधियों के लिए इन संस्थाओं की सराहना की।
उन्होंने कहा कि इससे समाज के विशेष योग्यजनों को सम्बल प्राप्त होने के साथ ही स्वाभिमानी एवं आत्मनिर्भर जिन्दगी मिल रही है। उन्होंने दिव्यांगों की सहायता एवं कल्याण के लिए इस प्रकार के शिविरों के नियमित आयोजन पर बल दिया।
गहलोत ने बताया कि सरकार ने दिव्यांगों के लिए जामडोली में बाबा आम्टे के नाम पर विश्वविद्यालय स्थापित करने, पैरालिम्पिक पदक विजेता खिलाड़ियों को 25 बीघा भूमि निःशुल्क आवंटन करने सहित कई महत्वपूर्ण घोषणाएं की हैं।
उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में बीमा कवरेज 5 लाख से बढ़ाकर 10 लाख रूपए किया गया है। राजकीय चिकित्सालयों में आईपीडी एवं ओपीडी में सभी प्रकार का इलाज मुफ्त किया है। 
कर्मचारियों के लिए ओल्ड पेंशन स्कीम लागू की है। उन्होंने कहा कि देश में महंगाई और बेरोजगारी बढ़ रही है। इससे अर्थव्यवस्था पर विपरीत प्रभाव पड़ा है। इस स्थिति से निपटने के लिए केन्द्र एवं राज्य सरकारों को मिलकर प्रयास करने होंगे। 
राज्य मानवाधिकार आयोग के अध्यक्ष जस्टिस गोपाल कृष्ण व्यास ने दिव्यांगों की सेवा को पुनीत कार्य बताते हुए आयोजक संस्थाओं की सराहना की और ऐसे कार्यों में अधिकाधिक सहभागिता का आह्वान किया।
भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति के संस्थापक एवं मुख्य संरक्षक डी.आर. मेहता ने शिविर को मानवता की सेवा का महायज्ञ बताया और कहा कि इस शिविर में 2300 से अधिक दिव्यांगों को लाभान्वित किया गया है। 
समारोह का संचालन संस्था के ट्रस्टी जसवन्त सिंह कच्छावा ने किया। शिविर प्रभारी नरपतसिंह कच्छवाहा ने आभार व्यक्त किया। 
इस अवसर पर जिला प्रभारी मंत्री डॉ. सुभाष गर्ग, राजस्थान बाल अधिकार संरक्षण आयोग अध्यक्ष संगीता बेनीवाल, पशुधन विकास बोर्ड के अध्यक्ष राजेन्द्र सोलंकी, महापौर कुन्ती देवड़ा, विधायक मनीषा पंवार, हीरालाल मेघवाल, राज्य मेला प्राधिकरण के उपाध्यक्ष रमेश बोराणा, रीको निदेशक सुनील परिहार, विशेष योग्यजन आयुक्त उमाशंकर शर्मा, भगवान महावीर विकलांग सहायता समिति के संयुक्त सचिव भूपेन्द्रराज मेहता, भारत सेवा संस्थान के सचिव जी.एस. बापना, संभागीय आयुक्त डॉ. राजेश शर्मा, जिला कलक्टर हिमांशु गुप्ता सहित अन्य जनप्रतिनिधि, अधिकारी एवं गणमान्य नागरिक उपस्थित थे। 

Must Read: आजादी के अमृत महोत्सव के तहत राजधानी के रवींद्र मंच पर सांस्कृतिक समारोह आयोजित, कला एवं संस्कृति मंत्री डॉ कल्ला ने किया शुभारंभ

पढें लाइफ स्टाइल खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :