चीन का अंतरिक्ष मिशन : 90 दिनों के अंतरिक्ष मिशन पर  चीन ने 3 अंतरिक्ष यात्रियों को  स्पेस स्टेशन निर्माण के लिए किया रवाना

आखिर कार चीन ने 5 साल के इंतजार के बाद फिर से अपने अंतरिक्ष मिशन के लिए यात्रियों को रवाना कर दिया। गुरुवार को लॉन्ग मार्च-2एफवाई12 रॉकेट अंतरिक्षयान Shenzhou-12 तीन अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर रवाना हुआ।

90 दिनों के अंतरिक्ष मिशन पर  चीन ने 3 अंतरिक्ष यात्रियों को  स्पेस स्टेशन निर्माण के लिए किया रवाना

नई दिल्ली, एजेंसी। 
आखिर कार चीन ने 5 साल के इंतजार के बाद फिर से अपने अंतरिक्ष मिशन ( Space Mission) के लिए यात्रियों को रवाना कर दिया। गुरुवार को लॉन्ग मार्च-2एफवाई12 रॉकेट (FY12 Rocket Spacecraft) अंतरिक्षयान Shenzhou-12 तीन अंतरिक्ष यात्रियों को लेकर रवाना हुआ। ये अंतरिक्ष यात्री कुछ घंटे में चीन के बन रहे नए स्पेस स्टेशन पहुंच जाएंगे। चीन इसके जरिए पूरी दुनिया पर नजर रख सकेगा। चीनी मीडिया के मुताबिक, लॉन्ग मार्च रॉकेट दक्षिणी पश्चिम चीन के गांसू प्रांत के गोबी रेगिस्तान ( Gobi Desert) से रवाना किया गया। ये तीनों यात्री 90 दिनों तक अंतरिक्ष में रहेंगे। यहां वे स्पेस स्टेशन के निर्माण कार्य को पूरा करेंगे। 
चाइना मैन्ड स्पेस एजेंसी के डायरेक्टर सहायक जि किमिंग ने बताया कि अंतरिक्ष यान जियुक्वान सैटेलाइट लॉन्चिंग सेंटर से लॉन्च किया गया है। इसमें तीन अंतरिक्ष यात्री हैशेंग, लियु बोमिंग और तांग होंग्बो चीन के स्पेस स्टेशन के निर्माण के लिए रवाना हुए हैं। चीन ने पहली बार अपने अंतरिक्ष यात्रियों को स्पेस स्टेशन के निर्माण लिए भेजा है। चीन का ये 7वां मानवयुक्त मिशन है। मिशन के कमांडर नी हैशेंग (Mission Commander Ni Haisheng) पीपुल्स लिबरेशन आर्मी  में एयरफोर्स पायलट हैं। इससे पहले भी वे दो स्पेस मिशन में भाग ले चुके हैं। लियु बोमिंग और तांग होंग्बो भी सेना के सदस्य हैं।

लॉन्चिंग से पहले एक सेरेमनी में तीनों अंतरिक्ष यात्रियों ने समर्थकों और स्पेस मिशन में शामिल साथियों का अभिवादन किया। इस दौरान उन्होंने चीन का देशभक्ति गीत  विदाउट द चाइनीज कम्युनिस्ट पार्टी, देयर वुड बी नो न्यू चाइना गाया। मीडिया के मुताबिक अंतरिक्ष यात्री कोर मॉड्यूल में तैनात रहेंगे। चीन का नया स्पेस स्टेशन अगले साल तक बनकर तैयार हो जाएगा। इस स्टेशन के जरिए चीन पूरी दुनिया पर नजर रख सकेगा। इसके साथ ही पुराने होते इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन (International Space Station) से मुकाबला करेगा। इंटरनेशनल स्पेस स्टेशन अमेरिका की अंतरिक्ष एजेंसी नासा, रूस की रोस्कोमोस, जापान की जाक्सा, यूरोप की ईएसए और कनाडा की सीएसए की परियोजना है।

Must Read: अफगान में बढ़ती हिंसा और मौजूदा हालात का जिम्मेदार पाकिस्ताान: अर्याना सईद

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :