टोक्यो ओलिंपिक रचा इतिहास: टोक्यो ओलिंपिक में जापान की 13 साल की युवा खिलाड़ी ने जीता इंडिविजुअल स्केटबोर्डिंग का गोल्ड मेडल

जापान की मोमिजी निशया टोक्यो ओलिंपिक की सबसे युवा गोल्ड मेडल विनर बन गई। मोमिजी विमेंस इंडिविजुअल स्केट बोर्डिंग का गोल्ड मेडल अपने नाम किया। 13 साल 330 दिन की मोमिजी स्केटबोर्डिंग में पहला ओलिंपिक गोल्ड जीतने वाली एथलीट भी बन गई हैं।

टोक्यो ओलिंपिक में जापान की 13 साल की युवा खिलाड़ी ने जीता इंडिविजुअल स्केटबोर्डिंग का गोल्ड मेडल

नई दिल्ली, एजेंसी। 
टोक्यो ओलिंपिक (Tokyo Olympics) में मेडल इवेंट्स का तीसरे दिन भारत को  कुछ खास हाथ नहीं लगा। भारतीय पुरुष तीरंदाजी टीम (Indian men's archery team) क्वार्टर फाइनल में साउथ कोरिया (Korea) से हारकर बाहर हो गई। कोरिया ने लगातार तीन सेट जीतकर मैच 6-0 से अपने नाम कर लिया। वहीं तलवारबाजी (Fencing) में भारत की भवानी देवी (Bhavani Devi) भी मेडल की होड़ से बाहर हो गई हैं। टेनिस के मेंस सिंगल्स में भारत के सुमित नागल (Tennis Sumit Nagal) को दूसरी सीड रूस के डेनिल मेदवेदेव (Daniil Medvedev) के खिलाफ दूसरे राउंड के मैच में 2-6, 1-6 से हार का सामना करना पड़ा। हालांकि टेबल टेनिस से अच्छी खबर आई है। अचंता शरत कमल मेंस सिंगल्स के तीसरे राउंड में पहुंच गए हैं।


जापान की 13 साल की मोमिजी ने रच दिया इतिहास 
जापान की मोमिजी निशया (Japan's Momiji Nishaya) टोक्यो ओलिंपिक की सबसे युवा गोल्ड मेडल (gold medal) विनर बन गई। मोमिजी विमेंस इंडिविजुअल स्केट बोर्डिंग(individual skateboarding gold medal) का गोल्ड मेडल अपने नाम किया। 13 साल 330 दिन की मोमिजी स्केटबोर्डिंग में पहला ओलिंपिक गोल्ड जीतने वाली एथलीट भी बन गई हैं। आपको बता दें कि इस खेल को पहली बार ओलिंपिक में शामिल किया गया है। इस इवेंट का सिल्वर भी एक टीन एजर ने जीता है। 13 साल, 203 दिन की ब्राजील की रायसा लियन ने दूसरा स्थान हासिल करते हुए सिल्वर अपने नाम किया।
बैडमिंटन में भारत से सात्विक-चिराग की जोड़ी को मिली हार 
बैडमिंटन में भारत के सात्विक साईराज रेंकी रेड्डी और चिराग शेट्टी (Chirag Shetty) नंबर-1 इंडोनेशिया की फर्नाल्डी गिडन (fernaldi gideon) और सुकामुल्जो की जोड़ी से हार गई। इंडोनेशियाई जोड़ी ने यह मुकाबला 32 मिनट में 21-13, 21-12 से जीता। इस हार की वजह से भारतीय जोड़ी नॉकआउट राउंड में पहुंचने से चूक गई। पहली बार तलवारबाजी में क्वालिफाई करने वाली इकलौती भारतीय तलवारबाज भवानी देवी (Indian swordsman Bhavani Devi) ने पहला मुकाबला जीता, लेकिन दूसरे में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। पहले मैच में उन्होंने ट्यूनिशिया की नादिया बेन को 15-3 से हरा दिया। राउंड ऑफ 32 के मुकाबले में भवानी को फ्रांस की मैनन ब्रुनेट ने 15-7 से हरा दिया। भारतीय पुरुष तीरंदाजी ने प्री क्वार्टर फाइनल में कजाकिस्तान को 6-2 से हराया था। लेकिन, क्वार्टर फाइनल में कोरियाई टीम से सामने हमारे तीरंदाज रंग में नहीं दिखे। कोरिया ने पहला सेट में 59--54 से और दूसरे सेट में 59-57 से जीत हासिल की। तीसरे और निर्णायक सेट में कोरिया हावी रहा और इसे 56-54 से अपने नाम किया। तीरंदाजी में एक सेट जीतने पर दो पॉइंट मिलते हैं।

Must Read: Weightlifting के राष्ट्रीय स्तरीय खिलाड़ी कुलदीप सिंह शेखावत बने कोच, Alwar जिले से दूसरे कोच

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :