आबूरोड थाने में एसीबी ट्रेप: भैंस चोरी के मामले में सिरोही जिले के आबूरोड सदर थाने का हैड कांस्टेबल रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार

सिरोही जिला पुलिस रिश्वत लेने के मामले में लगातार बदनाम होती जा रही है। जिले के पुलिस कप्तान तक रिश्वत मामले में बदल दिए जाने के बावजूद आज एक हैड कांस्टेबल 4 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए ट्रेप हो गया।

भैंस चोरी के मामले में सिरोही जिले के आबूरोड सदर थाने का हैड कांस्टेबल रिश्वत लेते रंगेहाथ गिरफ्तार

सिरोही।
सिरोही (Sirohi) जिला पुलिस रिश्वत लेने के मामले में लगातार बदनाम होती जा रही है। जिले के पुलिस कप्तान तक रिश्वत मामले में बदल दिए जाने के बावजूद आज एक हैड कांस्टेबल (Head Constable) 4 हजार रुपए की रिश्वत लेते हुए Trap हो गया। उदयपुर भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने गुरुवार को आबूरोड सदर पुलिस थाने के हैड कांस्टेबल को रिश्वत लेते हुए रंगे हाथ गिरफ्तार कर लिया।
जानकारी के मुताबिक भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो उदयपुर की टीम ने गुरुवार को आबूरोड थाने के हेड कांस्टेबल मोतीलाल (Motilal) को 4 हजार की रिश्वत लेते ट्रैप किया। रिश्वतखोर हैड कांस्टेबल द्वारा यह राशि भैंस चोरी के मामले में समझौता करने की एवज में मांगी गई थी।

इसके बाद फरियादी की शिकायत पर उदयपुर एसीबी टीम ने आबूरोड थाने से कांस्टेबल को रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। ACB के एडिशनल एसपी उमेश ओझा ने बताया कि फरियादी के परिवार में भैंस चोरी होने के बाद आबूरोड थाने में शिकायत दर्ज करवाई गई थी। इसके समझौते के एवज में हेड कांस्टेबल मोतीलाल ने 10 हजार रुपए की रिश्वत की मांग की। इसके बाद 8500 रुपए में सौदा तय हुआ। इसकी पहली किश्त 4500 फरियादी हेड कांस्टेबल मोतीलाल को दे चुका था। मोतीलाल इससे भी संतुष्ट नहीं हुआ और फिर से पैसों की डिमांड करने लगा। इसके बाद फरियादी ने एसीबी टीम को इसकी शिकायत की। इसके बाद योजनाबद्ध तरीके से गुरुवार को थाने से ही कांस्टेबल मोतीलाल को रिश्वत लेते वक्त गिरफ्तार कर लिया गया है। फिलहाल कांस्टेबल मोतीलाल से पूछताछ कर उसके पुराने रिकॉर्ड को खंगाला जा रहा है। उसके पास मौजूद दस्तावेज की भी जांच की जा रही है।