संगीतकार श्रवण राठौड़ का निधन: 90 के दशक के फेमस संगीतकार श्रवण राठौड का सिरोही से बाॅलीवुड तक का शानदार सफर

90 के दशक की सबसे फेमस संगीतकार जोड़ी नदीम-श्रवण फेम श्रवण राठौड़ का कोरोना से निधन हो गया। मुंबई के एस एल रहेजा अस्पताल में श्रवण राठौड ने अंतिम सांस ली। हिंदी सिनेमा के मशहूर संगीतकार श्रवण राठौड़ कोरोना संक्रमण से जूझ रहे थे।

90 के दशक के फेमस संगीतकार श्रवण राठौड का सिरोही से बाॅलीवुड तक का शानदार सफर

सिरोही।

बॉलीवुड की फिल्मों के मशहूर संगीतकार जोड़ी नदीम श्रवण के श्रवण राठौड़ गुरुवार की शाम इस दुनिया को अलविदा कह गए। डायबिटिक होने के साथ-साथ कोरोना से उनके फेफड़े भी संक्रमित हो चुके थे, इसके चलते उन्हें बचाया नहीं जा सका। आपको बता दें कि उनकी पत्नी के साथ उनका बेटा भी कोरोना पाॅजिटिव था। इन्हें अलग अस्पताल में भर्ती कराया गया है, और जिस वक्त श्रवण राठौड की मौत हुई उस समय ये तीनों अलग-अलग वार्ड में भर्ती थे। आपको बता दें कि श्रवण राठौड़ राजस्थान के सिरोही घराने से थे और संगीत की ऐसी धुनें बनाई कि पहले वे भोजपुरी के लक्ष्मीकांत प्यारेलाल कहलाए और बाद में लगातार बाॅलीवुड में छा गए। साजन और आशिकी फिल्मों ने तो धमाल मचा दिया। आशिकी फिल्म के गीत संगीत की 2 करोड़ काॅपिज भारत में बिकी थी। श्रवण राठौड का जन्म 13 नवम्बर 1964 को हुआ था। संगीत सम्राट पंडित चतुर्भुज राठौड़ के बेटे श्रवण का संगीत अब फिजाओं में रह गया है। श्रवण ने सिरोही से मुम्बई की मायानगरी में संगीत  तक के सफर में एक से बढकर एक धुने बनाई। इसी के चलते लगातार तीन फिल्म फेयर पुरस्कार उनकी जोड़ी नदीम-श्रवण के हिस्से आए। भारतीय संगीत की तीन सर्वाधिक जोड़ियों में से एक थे नदीम और श्रवण। गुलशन कुमार की हत्या के बाद आरोपों में नाम आने पर नदीम इंग्लैण्ड चले गए और इत्र का कारोबार शुरू कर दिया। श्रवण धीरे-धीरे गुमनानी में खोते चले गए।

श्रवण राठौड़ के साथ सिरोही के युवा पत्रकार गणपतसिंह मांडोली

गुमनामी में जाने से पहले श्रवण कुमार और नदीम सैफी की जोड़ी ने भारत के फिल्मी संगीत की दुनिया में तहलका मचा रखा था। उस जमाने के शायद ही कोई ऐसे प्रेमी युगल रहे हों, जिन्होंने नदीम-श्रवण के गाने पर अपनी जिंदगी की तरन्नुम को महसूस करने की कोशिश ना की हो। नदीम सैफी अपने साथी श्रवण की मौत पर गमजदा हैं। उन्होंने कहा है कि मेरा शानू अब नहीं रहा। हमने अपनी उंचाइयां और रौनक देखी, पूरा जीवन एक साथ देखा। इसी बीच अस्पताल की डाॅक्टर ने रात में उनकी निधन की घोषणा की। बता दें कि उनके निधन का कारण कोविड संक्रमण से हुआ कार्डियोमायोपैथी था जिसके चलते उन्हें पल्मोनरी एडिमा और मल्टीपल ऑर्गन फेलियर हो गया था। उनके निधन की खबर ने फैंस के साथ साथ बॉलीवुड के भी गहरा झटका दिया है। श्रवण राठौड़ के निधन पर उन्हें श्रद्धांजलि।  

Must Read: टोक्यो ओलिंपिक के पदक विजेताओं का देश में भव्य स्वागत, खेलमंत्री ने किया सम्मानित

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :