आग में 6 मासूम बच्चों की मौत: मक्के के भुट्‌टे सेंकते समय सूखे चारे में आग लगी, मासूम 6 बच्चों की मौत, 4 लाख रुपए का मुआवजा

बिहार के अररिया में पलासी के कवैया गांव में मंगलवार सुबह एक ही घर में खेल रहे 6 मासूम बच्चों की आग में जलने से मौत हो गई। दर्दनाक हादसे में जलकर मरने वाले बच्चों की उम्र ढाई से 5 साल बताई जा रही है। सभी एक कमरे में मक्के के भुट्‌टे सेंक रहे थे।

मक्के के भुट्‌टे सेंकते समय सूखे चारे में आग लगी, मासूम 6 बच्चों की मौत, 4 लाख रुपए का मुआवजा

​नई दिल्ली।
बिहार के अररिया में पलासी के कवैया गांव में मंगलवार सुबह एक ही घर में खेल रहे 6 मासूम बच्चों की आग में जलने से मौत हो गई। दर्दनाक हादसे में जलकर मरने वाले बच्चों की उम्र ढाई से 5 साल बताई जा रही है। सभी एक कमरे में मक्के के भुट्‌टे सेंक रहे थे। पास में ही मवेशियों का सूखा चारा रखा था। जिसमें चिंगारी से आग लग गई और बच्चे उसमें घिर गए। बच्चों की चीख सुनकर परिवार वाले मौके पर पहुंचे, लेकिन तब तक देर हो चुकी थी। जानकारी के मुताबिक बच्चों की पहचान अफसर (5), गुलनाज (2.5), दिलबर (4), बरकस (3), अली हसन (4) और खुशनेहा (2.5) के रूप में हुई है। एक बच्चे अली हसन के चाचा नय्यर ने बताया कि आग अचानक भड़क गई।

आग इतनी तेज थी कि लोगों को पता भी नहीं चल पाया कि अंदर कितने बच्चे हैं। जब आग बुझाई गई, तब सभी को कमरे में 6 बच्चों की मौजूदगी के बारे में जानकारी मिली। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया कि घर के जिस कमरे में बच्चे मौजूद थे, वहां पास में ही सूखी घास रखी हुई थी। उसकी वजह से आग भड़क गई। आग लगने के बाद गांव के लोगों ने अपने संसाधनों से ही आग पर काबू पाया। हालांकि फायर ब्रिगेड भी आधे घंटे के अंदर ही घटनास्थल पर पहुंच गई थी। इस वजह से आग फैल नहीं पाई और एक ही घर उसकी चपेट में आया। सभी बच्चों के परिवार मजदूरी करते हैं। सदर एसडीओ शैलेश चन्द्र दिवाकर ने बताया कि जिस घर में आग लगी, वह मंजूर अली का था और उसके बच्चे दिलबर की भी इस हादसे में मौत हो गई है। 
बच्चों के परिजन को 4-4 लाख का मुआवजा
सरकार ने मृत बच्चों के परिजन को 4-4 लाख रुपए का मुआवजा देने का ऐलान किया है। वहीं, घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस और प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंच गए हैं। हादसे के बाद पूरे गांव में मातम पसरा हुआ है।