उदयपुर हत्याकांड का साइडइफेक्ट!: मुस्लिम फेरीवालों से सामान खरीदने पर 5100 रुपए का जुर्माना

स्थानीय प्रशासन ने बताया गया है कि वाघासन समूह की ग्राम पंचायत के लेटर पैड पर ऐसा कोई भी फरमान जारी नहीं किया गया है और जो निर्देश जारी किया गया है वह आधिकारिक नहीं है।

मुस्लिम फेरीवालों से सामान खरीदने पर 5100 रुपए का जुर्माना

सिरोही। राजस्थान के उदयपुर में टेलर कन्हैयालाल की हत्या के विरोध में गुजरात के बनासकांठा में मुस्लिम फेरीवालों से सामान नहीं खरीदने का फरमान सामने आया है। यह फरमान गुजरात के बनासकांठा गांव में ग्राम पंचायत के लेटर पैड पर जारी किया हुआ लग रहा है, जो अब वायरल हो रहा है। इस फरमान में मुस्लिम फेरीवालों से सामान खरीदने पर 5100 रुपए का जुर्माना लगाने की बात कही गई है। इस पर बनासकांठा के स्थानीय प्रशासन की प्रतिक्रिया सामने आई है। स्थानीय प्रशासन ने बताया गया है कि वाघासन समूह की ग्राम पंचायत के लेटर पैड पर ऐसा कोई भी फरमान जारी नहीं किया गया है और जो निर्देश जारी किया गया है वह आधिकारिक नहीं है।

बनासकांठा जिला विकास अधिकारी स्वप्निल खरे ने कहा कि जिस व्यक्ति के द्वारा लेटर पैड में हस्ताक्षर किए गए हैं उसके पास ऐसा कोई भी अधिकार नहीं है। इसके साथ ही उन्होंने बताया कि पंचायत वर्तमान में एक प्रशासक के अधीन है अभी वहां सरपंच पद के लिए होने वाला है।

मुस्लिम फेरीवालों से सामान नहीं खरीदने का फरमान वाले लेटर पैड में पूर्व सरपंच माफीबेन पटेल के हस्ताक्षर और मोहर है। यह लेटर पैड सोशल मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है, जिसके बाद स्थानीय प्रशासन ने इस पर संज्ञान लिया है। बनासकांठा जिला विकास अधिकारी ने कहा कि प्रशासन की तरफ से लेटर के जवाब में एक पत्र जारी किया गया है, जिसमें बताया गया है कि सभी को सामान बेंचने और खरीदने की पूरी आजादी है। इस तरह की अफवाह फैलाने वालों पर प्रशासन की ओर से सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी।

Must Read: राजस्थान के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने लंपी त्वचा रोग से निपटने के लिए 30 करोड़ रुपये मंजूर किए

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :