सिरोही के पुरास्थल पर खर्च होंगे 50 लाख: सिरोही के पुरास्थल चन्द्रावती के संरक्षण एवं पुनरूद्वार के कार्य पर खर्च होंगे 50 लाख रुपए, अगस्त तक पुरा होगा कार्य

सिरोही जिले के पुरास्थल चन्द्रावती के लिए 49 लाख 93 हजार रुपए का प्रावधान किया गया था। इसके लिए फरवरी 2021 को कार्यादेश जारी किया जा चुका है। उन्होंने अगस्त 2021 तक कार्य पूर्ण करने का आश्वासन दिया ।

सिरोही के पुरास्थल चन्द्रावती के संरक्षण एवं पुनरूद्वार के कार्य पर खर्च होंगे 50 लाख रुपए, अगस्त तक पुरा होगा कार्य

जयपुर।
कला, साहित्य, संस्कृति एवं पुरातत्व मंत्री डॉ. बी डी कल्ला ने शुक्रवार को विधानसभा में कहा कि  वर्ष 2020-21 के बजट में सिरोही जिले के पुरास्थल चन्द्रावती के लिए 49 लाख 93 हजार रुपए का प्रावधान किया गया था। इसके लिए फरवरी 2021 को कार्यादेश जारी किया जा चुका है। उन्होंने अगस्त 2021 तक कार्य पूर्ण करने का आश्वासन दिया । डॉ. कल्ला प्रश्नकाल में विधायकों द्वारा इस सम्बन्ध में पूछे गए पूरक प्रश्नों का जवाब दे रहे थे।
चन्द्रावती स्थल के चारों ओर बनेगी दीवार
उन्होंने बताया कि जिसके तहत 21 लाख 3 हजार रुपए की लागत से पुरास्थल चन्द्रावती के चारों ओर सुरक्षात्मक दीवार, गेट एवं रेलिंग के निर्माण कार्य, 4 लाख रुपए से जंगल की साफ-सफाई, 5 लाख रुपए की लागत से ट्यूबवैल निर्माण, एक लाख 50 हजार रुपए की लागत से संग्रहालय में विद्युत फिटिंग कार्य, 8 लाख 40 हजार रुपए की लागत से मूर्तियों के लिए प्लेटफार्म निर्माण का कार्य तथा 10 लाख रुपये के अन्य निर्माण कार्य शामिल हैं। उन्होंने बताया कि वर्तमान में सूर्य मंदिर, सिरोही के लिए कोई प्रस्ताव प्राप्त नहीं हुए है। इससे पहले डॉ. कल्ला ने

के मूल प्रश्न के लिखित जवाब में बताया कि सिरोही जिले में पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग द्वारा एक स्मारक एवं एक पुरास्थल संरक्षित घोषित है। विगत तीन वर्षों में सिरोही जिले में स्मारक संरक्षण एवं पुनरूद्वार के तहत पुरातत्व एवं संग्रहालय विभाग द्वारा किसी कार्य पर कोई व्यय नहीं हुआ है।

Must Read: झालावाड़ में पौने 4 इंच बारिश, टापू में तब्दील हुआ तहसील कार्यालय, छतों पर चढ़े लोग

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :