भारत: ईडी ने एम्स कर्मचारी से जुड़े धोखाधड़ी मामले में 3.67 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की

ईडी ने एम्स कर्मचारी से जुड़े धोखाधड़ी मामले में 3.67 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की
नई दिल्ली, 23 अगस्त (आईएएनएस)। प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने राजेंद्र प्रसाद सेंटर फॉर ऑप्थेलमिक साइंसेज (आरपीसी), एम्स से 13.43 करोड़ रुपये के धोखाधड़ी भुगतान के मामले में दिल्ली में दो अचल संपत्तियां और स्नेह एंटरप्राइजेज और उसकी मालिक स्नेह रानी के बैंक खातों में जमा कुल 3.68 करोड़ रुपये की राशि कुर्क की है। एजेंसी के एक अधिकारी ने मंगलवार को यह जानकारी दी।

ईडी ने दिल्ली पुलिस द्वारा आरपीसी में कनिष्ठ प्रशासनिक सहायक बिजेंद्र कुमार और अन्य के खिलाफ दर्ज प्राथमिकी के आधार पर जांच शुरू की थी।

आरोप लगाया गया है कि इस मामले में, कोविड-19 महामारी के दौरान, स्नेह एंटरप्राइजेज को आरपीसी, एम्स को लिनन और अन्य स्टोर आइटम की आपूर्ति के बिना भुगतान जारी किया गया था।

आगे की जांच से पता चला कि आरोपी ने सुनियोजित साजिश में आरपीसी को धोखा देकर अपराध की आय अर्जित की।

दिसंबर 2020 से सितंबर 2021 तक, 13.43 करोड़ रुपये का गबन और शोधन (लॉन्ड्रिंग) किया गया।

कुमार ने निरीक्षण नोट सहित नकली डिलीवरी वल्लन बनाए और बिना किसी सामान की डिलीवरी के, अवैध रिश्वत के बदले में स्नेह एंटरप्राइजेज को जारी 13.43 करोड़ रुपये की राशि प्राप्त की, जिसे उन्होंने दिल्ली में दो अचल संपत्तियों की खरीद में 70 लाख रुपये में निवेश किया।

स्नेह एंटरप्राइजेज की मालिक स्नेह रानी ने एम्स से धोखाधड़ी से प्राप्त राशि को अपने अन्य बैंक खातों में स्थानांतरित कर दिया और इसके बाद विभिन्न पार्टियों को आगे भुगतान किया।

स्नेह एंटरप्राइजेज और उसके मालिक के बैंक खातों में 2.98 करोड़ रुपये की राशि का पता चला है।

--आईएएनएस

एकेके/एएनएम

Must Read: अग्निवीरों की जुलाई में अग्नि परीक्षा! भारी विरोध के बीच थलसेना में भर्ती का नोटिफिकेशन जारी

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :