भारत: दिल्ली में बनेंगे 11 नए अस्पताल, 10 हजार बेड्स की होगी बढ़ोतरी

दिल्ली में बनेंगे 11 नए अस्पताल, 10 हजार बेड्स की होगी बढ़ोतरी
Photo taken on April 21, 2022 shows some renovated medical beds in a makeshift hospital in Lingang of Shanghai, east China. (Xinhua/Yang Youzong/IANS)
नई दिल्ली, 24 अगस्त। दिल्ली में 11 नए अस्पताल तैयार करवाए जा रहे हैं, जिससे दिल्ली के अस्पतालों में 10,000 से ज्यादा बेड्स की बढ़ोतरी होगी। दिल्ली सरकार के पीडब्ल्यूडी व स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों की इस बाबत बुधवार को एक समीक्षा बैठक बुलाई गई। बैठक में सिरसपुर, ज्वालापुरी, मादीपुर, हस्तसाल(विकासपुरी) में बन रहे अस्पतालों के साथ-साथ 6838 आईसीयू बेड्स की क्षमता के साथ बनाए जा रहे 7 नए सेमी-पमार्नेंट अस्पतालों के निर्माण कार्यों की प्रगति की जांच की गई।

बैठक में अधिकारियों ने बताया कि ज्यादातर अस्पतालों का निर्माण कार्य इसी साल अंत तक पूरा हो जाएगा और कुछ अस्पताल 2023 के मध्य तक बनकर तैयार हो जाएंगे। निर्माण कार्य समय पर पूरे हो और सभी अस्पताल जल्द ही जनता को समर्पित हो इस बाबत हर 15 दिन में ग्राउंड पर जाकर करेंगे ऑन साईट इंस्पेक्शन किया जाएगा।

इस मौके पर दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि पहले दिन से ही दिल्ली के हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्च र को विश्वस्तरीय बनाना और दिल्ली के हर नागरिक को शानदार स्वास्थ्य सुविधाएं मुहैया करवाना हमारी प्राथमिकता रही है। उन्होंने कहा कि इन 11 नए अस्पतालों से दिल्ली के हेल्थ इंफ्रास्ट्रक्च र को बूस्ट मिलेगा और लाखों दिल्लीवासी इसका लाभ उठा सकेंगे।

केजरीवाल सरकार द्वारा सिरसपुर में 1164 बेड्स की क्षमता के साथ 11 मंजिला एक अत्याधुनिक अस्पताल का निर्माण करवाया जा रहा है साथ ही इस बिल्डिंग में 2 मजिला बेसमेंट भी है। अधिकारियों ने बताया कि अस्पताल का निर्माण कार्य लगभग आधा पूरा हो चुका है। कोरोना और पिछली सर्दियों में प्रदूषण की वजह से निर्माण कार्यों के रोके जाने के कारण योजना की गति थोड़ी धीमी हुई, लेकिन अब निर्माण कार्य तेजी से किया जा रहा है और 2023 में जून महीने के अंत तक ये अस्पताल बनकर तैयार हो जाएगा।

सरकार द्वारा ज्वालापुरी, मादीपुर व हस्तसाल(विकासपुरी) में प्रत्येक में 691 बेड्स की क्षमता वाले 10 मंजिला अस्पताल बना रही है। ज्वालापुरी व मादीपुर में बन रहे अस्पतालों का 60 फीसदी से ज्यादा निर्माण कार्य पूरा हो चुका है और मार्च 2023 तक ये दोनों अस्पताल बनकर तैयार हो जाएंगे। हस्तसाल में भी अस्पताल बनाने का काम तेजी से चल रहा है और इसका निर्माण कार्य भी 2023 के अंतिम महीनों तक पूरा हो जाएगा। बता दे कि इन तीनों अस्पतालों में भी 2 मंजिला बेसमेंट भी है।

कोरोना जैसी महामारियों के साथ-साथ क्रिटिकल केसों से लड़ने के लिए दिल्ली सरकार 6838 आईसीयू बेड्स की क्षमता वाले 7 सेमी-परमानेंट अस्पताल तैयार कर रही है। इस प्रोजेक्ट के तहत सरकार शालीमार बाग में 1430 बेड्स की क्षमता वाला 4 मंजिला अस्पताल, किराड़ी में 458 बेड्स की क्षमता वाले 5 मंजिला अस्पताल, सुल्तानपुरी में 527 बेड्स की क्षमता वाले 4 मंजिला अस्पताल, जीटीबी काम्प्लेक्स में 1912 बेड्स की क्षमता वाले 5 मंजिला अस्पताल, गीता कॉलोनी में चाचा नेहरू बाल चिकित्सालय में 610 बेड्स की क्षमता वाले 5 मंजिला अस्पताल, सरिता विहार में 336 बेड्स की क्षमता वाले 5 मंजिला अस्पताल व रघुवीर नगर में 1565 बेड्स की क्षमता वाले 4 मंजिला अस्पताल का निर्माण कर रही है। अधिकारियों ने बताया कि इन सभी जगहों पर निर्माण कार्य शुरू हो चुका है और जल्द ही ये सभी आईसीयू अस्पताल बनकर तैयार हो जाएंगे

जीसीबी/एएनएम

Must Read: शांति मिशन पर गए राजस्थान के दो जवान कांगो में शहीद, पत्नी से हो रही थी वीडियो कॉल तभी...

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :