विश्व: यूएन प्रमुख ने यूक्रेन के परमाणु संयंत्र को लेकर दी खतरनाक स्थिति की चेतावनी

उन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से कहा, मैं यूरोप के सबसे बड़े जापोरिज्‍जया में और उसके आस-पास की स्थिति के बारे में गंभीर रूप से चिंतित हूं। वार्निग लाइट्स चमक रही है।

यूएन प्रमुख ने यूक्रेन के परमाणु संयंत्र को लेकर दी खतरनाक स्थिति की चेतावनी
UN Secretary-General Antonio Guterres .(Xinhua/IANS)
संयुक्त राष्ट्र, 25 अगस्त (आईएएनएस)। संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस ने दक्षिणी यूक्रेन में जापोरिज्‍जया परमाणु ऊर्जा संयंत्र और उसके आसपास खतरनाक स्थिति की चेतावनी दी है।

उन्होंने संयुक्त राष्ट्र सुरक्षा परिषद से कहा, मैं यूरोप के सबसे बड़े जापोरिज्‍जया में और उसके आस-पास की स्थिति के बारे में गंभीर रूप से चिंतित हूं। वार्निग लाइट्स चमक रही है।

समाचार एजेंसी सिन्हुआ ने गुटेरेस के हवाले से कहा, कोई भी ऐसी कार्रवाई, जो परमाणु संयंत्र की भौतिक अखंडता, सुरक्षा या रक्षा को खतरे में डाल सकती है, अस्वीकार्य है। स्थिति के आगे बढ़ने से आत्म-विनाश हो सकता है।

उन्होंने कहा कि संयंत्र की सुरक्षा सुनिश्चित की जानी चाहिए और संयंत्र को पूरी तरह से नागरिक बुनियादी ढांचे के रूप में फिर से स्थापित किया जाना चाहिए।

मंगलवार को सुरक्षा परिषद को अपनी ब्रीफिंग में, संयुक्त राष्ट्र की राजनीतिक और शांति निर्माण मामलों की महासचिव रोजमेरी डिकार्लो ने कहा कि जापोरिज्‍जया यूक्रेनी तकनीकी कर्मियों द्वारा संचालित किया जा रहा है, लेकिन मार्च की शुरूआत से रूसी सैन्य बलों के नियंत्रण में है। अगस्त की शुरूआत में, संयंत्र के चारों ओर गोलाबारी की वृद्धि की परेशान करने वाली खबरें सामने आने लगीं।

गुटेरेस ने आशा व्यक्त की है कि अंतर्राष्ट्रीय परमाणु ऊर्जा एजेंसी (आईएईए) जल्द से जल्द जापोरिज्‍जया को एक मिशन भेज सकती है।

उन्होंने कहा, आईएईए के साथ निकट संपर्क में, संयुक्त राष्ट्र सचिवालय ने आकलन किया है कि यूक्रेन में हमारे पास कीव से जापोरिज्‍जया परमाणु ऊर्जा संयंत्र के लिए किसी भी आईएईए मिशन का समर्थन करने के लिए रसद और सुरक्षा क्षमता है, बशर्ते रूस और यूक्रेन दोनों सहमत हों।

गुटेरेस ने कहा कि यूक्रेन के डोनेट्स्क क्षेत्र में ओलेनिव्का की एक जेल पर 29 जुलाई को हुए हमले की जांच के लिए हाल ही में स्थापित संयुक्त राष्ट्र के तथ्य-खोज मिशन को तैनात करने के लिए भी काम जारी है, जिसमें कथित तौर पर युद्ध के दर्जनों कैदी मारे गए थे।

यह मिशन स्वतंत्र रूप से अपना काम करने और तथ्यों को खोजने में सक्षम होना चाहिए। उन्होंने कहा कि यह अनिवार्य है कि मिशन को सभी प्रासंगिक स्थानों और व्यक्तियों तक सुरक्षित और निर्बाध पहुंच हो और बिना किसी सीमा, बाधा या हस्तक्षेप के सभी प्रासंगिक साक्ष्य प्राप्त हों।

यूक्रेन और रूस ने एक दूसरे पर जेल पर जानलेवा हमले को अंजाम देने का आरोप लगाया।

गुटेरेस ने सुरक्षा परिषद को अपनी हाल की यूक्रेन यात्रा के बारे में भी जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि यह यात्रा काला सागर के जरिए यूक्रेन के अनाज के निर्यात पर ऐतिहासिक सौदे पर अनुवर्ती कार्रवाई (फॉलो-अप) करने का एक महत्वपूर्ण अवसर है। उन्होंने आगे कहा, मैं परिषद को रिपोर्ट कर सकता हूं कि जुलाई में इस्तांबुल में हस्ताक्षरित ब्लैक सी ग्रेन इनिशिएटिव अच्छी तरह से प्रगति कर रहा है।

गुटेरेस ने इस्तांबुल पैकेज डील के हिस्से के रूप में रूसी खाद्य और उर्वरकों के वैश्विक बाजारों तक निर्बाध पहुंच के महत्व पर जोर दिया और कहा कि यह महत्वपूर्ण है कि सभी सरकारें और निजी क्षेत्र उन्हें प्रभावी ढंग से बाजार में लाने के लिए सहयोग करें।

उन्होंने कहा, यूक्रेन और रूस से उचित लागत पर बहुत अधिक भोजन और उर्वरक प्राप्त करना कमोडिटी बाजारों को शांत करने और उपभोक्ताओं के लिए कम कीमतों के लिए महत्वपूर्ण है।

--आईएएनएस

एकेके/एएनएम

Must Read: विश्व में कोरोना संक्रमण के 3.74 लाख नए केस, राजस्थान में 24 घंटों में मिले केवल 6 नए केस

पढें विश्व खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :