भारत: दिल्ली के ग्रामीण इलाकों में पुरानी पाइपलाइन बदल बिछाई जाएगी नई पाइपलाइन

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने जलबोर्ड के विभिन्न जगहों पर पाइपलाइन व सीवरलाइन बिछाने के प्रोजेक्ट्स को मंजूरी दें दी। इन सभी प्रोजेक्ट्स की कुल लागत 16.79 करोड़ रुपए है और इन प्रोजेक्ट्स के पूरा होने के बाद इससे जुड़े इलाके के पानी की आपूर्ति में सुधार होगा।

दिल्ली के ग्रामीण इलाकों में पुरानी पाइपलाइन बदल बिछाई जाएगी नई पाइपलाइन
New Delhi: Delhi Deputy Chief Minister Manish Sisodia addresses a press conference at his residence in New Delhi, Monday, Aug 22, 2022. (Photo: Qamar Sibtain/IANS)

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने जलबोर्ड के विभिन्न जगहों पर पाइपलाइन व सीवरलाइन बिछाने के प्रोजेक्ट्स को मंजूरी दें दी। इन सभी प्रोजेक्ट्स की कुल लागत 16.79 करोड़ रुपए है और इन प्रोजेक्ट्स के पूरा होने के बाद इससे जुड़े इलाके के पानी की आपूर्ति में सुधार होगा।

उपमुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया ने कहा कि, हम अपने विभिन्न प्रयासों के माध्यम से दिल्ली में हर वक्त जलापूर्ति सुनिश्चित करने का प्रयास कर रहे हैं और चरणबद्ध तरीके से इस दिशा में काम कर रहे हैं, ऐसे में इन इलाकों में पाइपलाइन बदलना एक महत्वपूर्ण कदम है।

उन्होंने आगे कहा, कई इलाके ऐसे हैं जहां 25 से 30 साल पहले पाइप लाइनें बिछाई गई थी, ऐसे में पाइप लाइनें पुरानी होने के कारण क्षतिग्रस्त स्थिति में थी। पाइपलाइनों को बदलने से इन इलाकों में रहने वाले लोगों को पानी की कमी नहीं होगी और यहां पानी की बाधा रहित आपूर्ति की जा सकेगी।

उनके द्वारा अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि पाइपलाइन और सीवर लाइन बदलने की पूरी प्रक्रिया के दौरान सेफ्टी-सिक्योरिटी व क्वालिटी के सभी मानकों का पालन प्रतिबद्धता के साथ सुनिश्चित किया जाए और समय के साथ ये कार्य पूरे किए जाएं ताकि स्थानीय लोगों को किसी प्रकार की समस्या का सामना न करना पड़ें।

दिल्ली के सभी इलाकों में पानी की बाधारहित आपूर्ति सुनिश्चित करने की इस कड़ी में सरकार द्वारा हसनपुर गांव, मटियाला के खेड़ा डाबर गांव, पंडवाला खुर्द गांव व सारंगपुर गांव में पुरानी क्षतिग्रस्त पानी की लाइनों को बदलने की मंजूरी दी गई है।

इसके अलावा, बुराड़ी के नंगली पुना, झरोदा हरीजन बस्ती व कमल विहार में भी पानी की लाइनों में को बदलकर जलापूर्ति में सुधार किया जाएगा। साथ ही लक्ष्मी नगर के मंगल बाजार रोड से विकास मार्ग ट्रंक सीवर तक मुख्य पेरिफेरल सीवर लाइन, गणेश नगर-द्वितीय से मधुवन चौक तक मुख्य पेरिफेरल सीवर लाइन, साउथ गणेश नगर से गणेश चौक तक मुख्य पेरिफेरल सीवर और आरके पुरम के शांति निकेतन सीवर लाइन को बदला जाएगा।

सरकार की ओर से पुरानी सीवर लाइनों को आधुनिक एचडीडी पद्धति से बदला जाएगा। इसके तहत मंगल बाजार रोड से विकास मार्ग ट्रंक सीवर एसी-58 तक मुख्य पेरिफेरल सीवर लाइन को एचडीडी पद्धति से बदला जाएगा। वहीं, गणेश नगर-द्वितीय से मधुवन चौक तक मुख्य पेरिफेरल सीवर लाइन और साउथ गणेश नगर से गणेश चौक तक मुख्य पेरिफेरल सीवर लाइन को एचडीडी पद्धति से बदला जाएगा। आरके पुरम के शांति निकेतन सीवर लाइन को भी बदला जाएगा। सीवर लाइन बदलने के दौरान अतिरिक्त उत्खनित मिट्टी का इस्तेमाल पार्कों और नर्सरी में डालने के लिए किया जाएगा।

--आईएएनएस

एमएसके/एएनएम

Must Read: बेलगावी में देखा गया तेंदुआ, 22 स्कूलों में छुट्टी की घोषणा

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :