भारत: श्रीलंकाई आर्थिक संकट: भारतीय तट पर पहुंचे 8 सदस्य, किया गया रेस्क्यू

चेन्नई, 22 अगस्त (आईएएनएस)। द्वीपीय देश में आर्थिक संकट और राजनीतिक अस्थिरता के बीच श्रीलंका से आठ और लोग रामेश्वरम के अरिचलमुनाई में भारतीय तटों पर पहुंच गए हैं। सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी। श्रीलंका के दो परिवारों के आठ सदस्यों ने

श्रीलंकाई आर्थिक संकट: भारतीय तट पर पहुंचे 8 सदस्य, किया गया रेस्क्यू
चेन्नई, 22 अगस्त (आईएएनएस)। द्वीपीय देश में आर्थिक संकट और राजनीतिक अस्थिरता के बीच श्रीलंका से आठ और लोग रामेश्वरम के अरिचलमुनाई में भारतीय तटों पर पहुंच गए हैं। सूत्रों ने सोमवार को यह जानकारी दी।

श्रीलंका के दो परिवारों के आठ सदस्यों ने दावा किया कि उन्होंने भारतीय तट तक पहुंचने के लिए अपनी जीवन भर की बचत 1 लाख रुपये का भुगतान किया है।

भारतीय तटरक्षक बल ने रविवार को भारतीय तटों पर पहुंचकर अरिचलमुनाई में फंसे शरणार्थियों को बचाया और होवरक्राफ्ट पर तट पर ले गये।

तटरक्षक बल ने चंद्रकुमार (36), उनकी पत्नी डेलसी (32), उनके बच्चों, वीनसन (7) और उनकी दो महीने की बेटी प्रवीणसन को बचा लिया। उनके साथ किरुबाकरण (30), उनकी पत्नी निशांति (27), और उनके बच्चों, दीपिका (9) और रक्षिका (4) को भी मरीन पुलिस स्टेशन में पूछताछ के बाद मंडपम शरणार्थी शिविर में सुरक्षित ले जाया गया।

पूछताछ के दौरान, चंद्रकुमार ने तटीय पुलिस को बताया कि उन्होंने नाविकों को 1 लाख रुपये का भुगतान किया था, जो अरिचलमुनि में अंधेरे की आड़ में उतारकर भाग गए। जबकि चंद्रकुमार ने दावा किया कि उन्हें गुरुवार देर रात उतार दिया गया था। समुद्री पुलिस और तटरक्षक बल के अधिकारियों ने इसकी पुष्टि नहीं की।

आठ नए शरणार्थियों के आने से श्रीलंका से भारतीय धरती पर आने वाले शरणार्थियों की कुल संख्या बढ़कर 134 हो गई है। बता दें कि एक बुजुर्ग महिला जिसने पानी से होकर भारत में प्रवेश करने की कोशिश की थी, बाद में रामेश्वरम के अस्पताल में उनकी मृत्यु हो गई।

पुलिस ने कहा कि शरणार्थियों ने उन्हें श्रीलंका में दुखद दुर्दशा के बारे में बताया है, जहां कुछ पाने के लिए लोग इधर-उधर भाग रहे हैं। शरणार्थियों ने पुलिस को बताया कि उन्होंने भारतीय तटों तक पहुंचने के लिए 1 लाख रुपये खर्च किए हैं।

--आईएएनएस

एचके/एएनएम

Must Read: CBI वाले बनकर लुटेरे लूट ले गए बैंक से 35 लाख, लोगों से कहा- सीबीआई की रेड पड़ी है

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :