भारत: कॉर्बेट नेशनल पार्क में हाथियों पर करवाई जा रही सफारी, उत्तराखंड हाइकोर्ट ने लगा रखी है रोक

कॉर्बेट नेशनल पार्क में हाथियों पर करवाई जा रही सफारी, उत्तराखंड हाइकोर्ट ने लगा रखी है रोक
Corbett National Park.
रामनगर, 24 अगस्त। अपने कारनामों के कारण अक्सर चर्चा में रहने वाला वन विभाग अब उत्तराखंड हाईकोर्ट के आदेशों की धज्जियां भी उड़ाने लगा है। ऐसा ही एक मामला जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क से सामने आया है। यहां हाथी पर सफारी कराई जा रही है, जबकि उत्तराखंड हाईकोर्ट ने अपने आदेश में साफ किया है कि हाथियों का व्यावसायिक उपयोग नहीं किया जा सकता है, लेकिन इसके बाद भी जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क में ऐसा हो रहा है।

दरअसल, इस पूरे मामले से जुड़ा हुआ एक वीडियो सामने आया है। वायरल वीडियो जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क की झिरना रेंज है। वीडियो में साफ दिख रहा है कि हाथियों पर पर्यटकों को सफारी करवाई जा रही है। इसके बदले उनसे पैसे भी लिए जा रहे हैं। इस तरह की खबरें पहले भी सामने आ चुकी हैं कि जिम कॉर्बेट नेशनल पार्क की झिरना रेंज में सफारी कराई जा रही है।

हालांकि इस वीडियो के बारे में सीटीआर के निदेशक नीरज शर्मा ने बताया कि इस तरह का एक मामला सामने आया है। फाटो कैंपस में कुछ बच्चों को हाथी पर बैठाया गया है। सफारी का मामला तो पूरी तरह से सामने नहीं आ रहा है, लेकिन फिर भी मामले की जांच जारी है। हालांकि महावत पर तो कार्रवाई की भी गई है।

सीटीआर के निदेशक नीरज शर्मा ने बताया कि ये हाथी झिरना रेंज है, जिनका इस्तेमाल मॉनसून सीजन में गश्त के दौरान किया जाता है। मामले की जांच की जा रही है, जो भी जिम्मेदार होगा उसके खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। बता दें कि साल 2018 में उत्तराखंड हाईकोर्ट ने पशु क्रूरता निवारण अधिनियम 1960 और वन्यजीव संरक्षण अधिनियम 1972 का हवाला देते हुए हाथियों के व्यावसायिक इस्तेमाल पर रोक लगाई थी। यदि कोई हाथियों का व्यावसायिक इस्तेमाल करता है, तो उसके खिलाफ कानून कार्रवाई की जाएगी।

स्मिता/एएनएम

Must Read: सुप्रीम कोर्ट ईडी की शक्तियों की पुष्टि करने वाले फैसले की समीक्षा की मांग करने वाली याचिका को सूचीबद्ध करने के लिए सहमत

पढें भारत खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :