Warning: राजस्थान में रक्षाबंधन तक भारी बारिश का दौर, धौलपुर और श्रीगंगानगर में बारिश ने मचाया कोहराम 

राजस्थान के कई जिलों में भारी बारिश का दौर जारी है। राजधानी जयपुर में भी मानसूनी बादलों ने रविवार को जमकर भिगोया। जिससे कई इलाकों में सड़कें लबालब हो गई।

राजस्थान में रक्षाबंधन तक भारी बारिश का दौर, धौलपुर और श्रीगंगानगर में बारिश ने मचाया कोहराम 

जयपुर । राजस्थान के कई जिलों में भारी बारिश का दौर जारी है। राजधानी जयपुर में भी मानसूनी बादलों ने रविवार को जमकर भिगोया। जिससे कई इलाकों में सड़कें लबालब हो गई। वहीं धौलपुर और श्रीगंगानगर में बारिश ने कोहराम मचाया। भारी बारिश के चलते इन जिलों में कई कॉलोनियों में पानी घरों में घुस गया। धौलपुर में सर्वाधिक साढ़े चार इंच बारिश दर्ज की गई। जबकि, राजधानी जयपुर में 34 मिमी बारिश हुई। कोटा में हुई तेज बारिश से चंबल नदी में पानी की भारी आवक से बैराज के दो गेट खोलकर पानी की निकासी की गई। वहीं, सूरतगढ़ में बारिश के दौरान बिजली गिरने से एक किसान की मौत हो गई। 

रक्षाबंधन तक ऐसे ही चलेगा भारी बारिश का दौर
मौसम विभाग की माने तो उत्तर-पश्चिमी बंगाल की खाड़ी व ओडिशा तट के ऊपर एक कम दबाव का क्षेत्र बनने से राजस्थान में मानसूनी बादलों को गति मिली है। जिसके चलते आज यानि सोमवार से अगले चार दिन प्रदेश में जोरदार बारिश की संभावना है। बारिश का ये दौर फिलहाल रक्षाबंधन तक ऐसे ही चलेगा।

ये भी पढ़ें:- खाटूश्यामजी हादसा: सहायता के लिए चिल्लाते रहे लोग, 3 की मौत, 2 घायल जयपुर रेफर, सीएम गहलोत का मृतकों के परिजनों को 5-5 लाख देने का ऐलान

बांधों में बढ़ रहा पानी
मौसम विभाग ने कोटा और उदयपुर संभाग के कई जिलों में भारी बारिश की चेतावनी दी है, जबकि जोधपुर, बीकानेर संभाग में कुछ जगहों पर मध्यम तो कुछ स्थानों पर भारी बारिश के आसार जताए है। मानसून की मेहरबानी के चलते बांधों में पानी की आवक लगातार जारी है। कोटा बैराज, भीमसागर बांध और कालीसिंध बांध के गेट खोलकर पानी की निकासी की जा रही है। बीसलपुर बांध में भी पानी की आवक बनी हुई है। जिसके चलते बांध का जलस्तर बढ़ रहा है। 

ये भी पढ़ें:- राजस्थान में खनन माफिया बेखौफ! भरतपुर सांसद पर हमला, गाड़ी क्षतिग्रस्त

Must Read: शिवगंज के अस्पताल में गर्म पानी उपलब्ध नहीं ? या उपचार करने की इच्छाशक्ति का अभाव?

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :