राजस्व रिकॉर्ड में करोड़ों की हेराफेरी : सिरोही से 20 लाख रुपए रिश्वत के जलाते हुए ​एसीबी की गिरफ्त में आए अधिका​री ने करोड़ों की भूमि हड़पने के लिए कर दी गलत तरमीम, राजस्व रिकॉर्ड में हेरफेर का मामला

सिरोही जिले के पिण्डवाडा इलाके के भीमाना पटवार हल्का में करोड़ों रुपए की जमीन हड़पने के लिए के लिए न केवल राजस्व विभाग के अधिकारी व कार्मिक ने मिलकर राजस्व रिर्कड में हेराफेरी की, बल्कि गलत तरमीम करने का मामला सामने आया है।

सिरोही से 20 लाख रुपए रिश्वत के जलाते हुए ​एसीबी की गिरफ्त में आए अधिका​री ने करोड़ों की भूमि हड़पने के लिए कर दी गलत तरमीम, राजस्व रिकॉर्ड में हेरफेर का मामला

पिण्डवाडा (Sirohi)।
सिरोही जिले के पिण्डवाडा इलाके के भीमाना पटवार (Bhimana Patwar) हल्का में करोड़ों रुपए की जमीन हड़पने के लिए के लिए न केवल राजस्व विभाग के अधिकारी व कार्मिक ने मिलकर राजस्व रिर्कड में हेराफेरी की, बल्कि गलत तरमीम करने का मामला सामने आया है। सुरेश कुमार पुत्र जगनाजी पटेल निवासी भीमाना ने मुख्यमंत्री, राजस्व मंत्री, संभागीय आयुक्त जोधुपर, महानिदेशक व उपमहानिरीक्षक भ्रष्ट्राचार निरोधक ब्यूरो व सिरोही जिला कलेक्टर को ज्ञापन देकर जमीन घोटाने का आरोप लगाया है। सुरेश कुमार के मुताबिक मौजा भीमाना में मोहनलाल पुत्र सोमाजी सरगडा निवासी शिवगढ ने खसरा नम्बर 1310/114 रकबा 0.16 बीघा व परमाराम पुत्र लालाजी सरगडा निवासी शिवगढ ने खसरा नम्बर 1311/114 रकबा 0.19 बीघा फोरलेन सडक मार्ग पर स्थित है, जो उपखण्ड अधिकारी द्वारा 31 मार्च 2011 को दोनों रकबों का संपरिवर्तन आवासीय भूमि में किया गया था। उक्त दोनों खसरा में से रोड सीमा में क्रमशः 0.05 व 0.07 बिस्वा कुल 12 बिस्वा भूमि रोड सीमा में छोडी गई थी, जो खातेदारों के नाम से ही दर्ज थी लेकिन तत्कालीन तहसीलदार कल्पेश जैन(Kalpesh Jain) , तत्कालीन पटवारी अंकाराम बंजारा(Patwari Ankaram Banjara) व भूमाफियों ने मिलकर करोड़ों रुपए की जमीन हड़पने की नियत से सड़क सीमा में छोड गई। भूमि जो पहले दल्लेखां पट्रोल पम्प के उत्तर दिशा में थी, उसको पटवारी ने पट्रोल पम्प के दक्षिण दिशा में करीब 2 सौ फीट की दुरी पर राजस्व रिकॉर्ड  में हेराफेरी व कांट छाट कर नियमों के विरूध तरमीम कर दिया। 
इसके साथ ही सड़क सीमा में प्रभावित भूमि का बेचान भी विक्रय-विलेख के जरीये अरविन्द कुमार पुत्र नारायणलाल मेहतर के पक्ष में इन्द्राज किया। जबकि उपखण्ड अधिकारी हरी सिंह देवल ने 10 जनवरी 2021 को तत्कालीन पटवारी बंजरा
को हटा दिया था, उसके बाद भी पटवारी ने अवैध तरीके से तरमीम करके भूमि के कन्वर्जन की रिपोर्ट गत दिनांक में तहसीलदार जैन के समक्ष पेश कर दी। रूपान्तरण पत्रावली के नक्शे तत्कालीन तहसीलदार जैन द्वारा काउण्टर हस्ताक्षर किए गए है, जबकि रूपान्तरण नक्शा समक्ष अधिकारी द्वारा मौका व रिकॉर्ड जांच अनुमोदित व प्रमाणित किया जाता है। इससे स्पष्ट होता है कि तहसीलदार को गलत तरमीम का पता था। वही वर्तमान में तत्कालीन तहसीलदार, पटवारी व भूमाफियों ने मिलकर मौके पर 21 दुकानों का नक्शा बनाकर, प्रति भूखण्ड 25 लाख रुपए में बेचे जा रहे है।
बिना एप्रोच सड़क के कर दिया सपंवरिर्तन

 मौजा भीमान ने तत्कालीन तहसीलदार, पटवारी व भूमाफियों ने मिलकर खसरा नम्बर 1312/114 व 1313/114 जो सड़क सीमा में प्रभावित भूमि कुल 0.12 बिस्वा भूमि जो पूर्व में राजस्व नक्शा लट्ठा में दर्ज थी एवं पूर्व के संपरिवर्तन आदेशों में उक्त भूमि सड़क सीमा में दर्शाई हुई थी। तल्कालीन पटवारी हल्का द्वारा नक्शा लट्ठा में टेम्परिंग कर उक्त दोनों खसरा नम्बर को राजस्व नक्शे में नए सिरे से पुनः तरमीन कर दी। वही नियमों के विरूध भूमि का तत्कालीन तहसीलदार द्वारा बिना एप्रोच सड़क के ही संपरिवर्तन कर दिया। जबकि राजस्व रिकॉर्ड में भूमि तक पहुंचने के लिए कोई रास्ता नहीं है।                                          एसीबी कर चुकी है दाेनाें पर कार्रवाई

तत्कालीन तहसीलदार जैन व पटवारी बंजारा पर पूर्व में रिश्वत के मामले में भ्रष्ट्राचार निराेधक ब्यूराे द्वारा कार्रवाई कर चुका है। वही तत्कालीन तहसीलदार जैन द्वारा करीब बीस लाख रूपए जलाने पर देशभर चर्चा में रहे थे। 

 टीम गठित, लेकिन जांच कब तक

  तत्कालीन तहसीलदार व पटवारी पर रिकॉर्ड में हेराफेरी, गलत तरमीम करने, नियमाें के खिलाफ संपरिर्वतन करने व भूमाफियाें के साथ मिलकर करीब दाे कराेड़ भूमि से अधिक भूमि हड़पने व भ्रष्ट्राचार करने के आराेप लगे है, इसकी जांच टीम द्वारा की जा रही है, लेकिन आराेपी तहसीलदार निलंबित के बाद भी यही घुमते नजर आ रहे है, ताे पटवारी भी पिण्डवाडा ब्लाँक में ही कार्यरत है। इससे जांच करने की प्रभावित हाे सकती है। जिला कलेक्टर व उपखण्ड अधिकारी काे जांच प्रभावित न हाे इसके लिए उचित कदम उठाने की जरूरत है।


 इनका कहना 
तत्कालीन तहसीलदार व पटवारी के खिलाफ गलत तरमीम करने एवं संपरिवर्तन करने की शिकायत मिली है। टीम गठित की गई है, जिसकी जांच विचाराधीन है। जांच के बाद भी कुछ कह सकते है।
 हरी सिंह देवल उपखण्ड अधिकरी, पिण्डवाडा

Must Read: सिरोही पुलिस की जिला विशेष शाखा के प्रभारी दिन दहाडे शराब दुकान में बैठ छलका रहे है जाम

पढें राजस्थान खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :