मनरेगा में श्रमिकों को जोड़ने की अपील: ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज मंत्री मीणा ने मनरेगा में ज्यादा से ज्यादा श्रमिकों को जोड़ने के लिए दिए निर्देश

पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास विभाग मंत्री ने अधिकारियों को मनरेगा योजना के तहत व्यक्तिगत लाभ के कार्यों को प्राथमिकता देते हुए ज्यादा से ज्यादा लोगों को लाभान्वित करने के निर्देश दिए।

ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज मंत्री मीणा ने मनरेगा में ज्यादा से ज्यादा श्रमिकों को जोड़ने के लिए दिए निर्देश

जयपुर।
ग्रामीण विकास एवं पंचायत राज मंत्री रमेश मीना ने गुरुवार को चित्तौड़गढ के जिला परिषद के ग्रामीण विकास अभिकरण सभागार में विभागीय अधिकारियों की बैठक लेकर ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज योजनाओं स्वच्छ भारत मिशन, जलग्रहण, नरेगा, प्रधानमंत्री आवास योजना, चारागाह विकास, नर्सरी कार्य में प्रगति और राजीविका की समीक्षा कि एवं आवश्यक दिशा-निर्देश दिए।
उन्होंने पंचायती राज एवं ग्रामीण विकास विभाग के अधिकारियों को मनरेगा योजना के तहत व्यक्तिगत लाभ के कार्यों को प्राथमिकता देते हुए ज्यादा से ज्यादा लोगों को लाभान्वित करने के निर्देश दिए। उन्होंने स्वच्छ भारत मिशन, जलग्रहण, नरेगा, प्रधानमंत्री आवास योजना, चारागाह विकास, नर्सरी कार्य मे प्रगति और राजीविका की समीक्षा की।
उन्होंने जलग्रहण के कार्यों की समीक्षा करते हुए जिले के कम गांवों में कार्य होने पर उन्होंने ने उनकी संख्या बढ़ाकर प्रगति अर्जित करने के निर्देश दिए। 
उन्होंने अधिकारियों से कहा कि जहां भी व्यक्तिगत शौचालय, सामुदायिक शौचालयों का निर्माण हो, वहा यह देखा जाए कि उनका उपयोग हो रहा है या नहीं। 
उन्होंने गांवों में ठोस-तरल कचरा प्रबंधन के परिणाम लाने पर जोर दिया। उन्होंने कहा कि गांवों में सफाई, ड्रेनेज सिस्टम के लिए कार्य योजना बनाई जाए, ताकि जो राशि खर्च हो, उसका बेहतर उपयोग हो सके।
बैठक में मीना ने नरेगा के कार्याे पर विशेष जोर देते हुऎ बताया कि सरकार ने अपनी बजट घोषणा में 100 से बढ़ा कर 125 दिन काम देने की घोषणा की है। उन्होंने योजना को धरातल पर ईमानदारी से पूरा करने की अधिकारियों को दिशा निर्देश दिए।
राजीविका की समीक्षा के दौरान उन्होंने राजीविका के तहत महिला सशक्तिकरण के लिए योजनाओं से गरीब महिलाओं को जोड़े ने। क्षेत्र में जो हुनर का कार्य है, उसे आगे बढ़ाने के लिए कहा ताकि जिले की पहचान बने। 
उन्होंने कहा कि किसी भी तरीके का सशक्तिकरण तब तक अधूरा है जब तक आर्थिक सशक्तिकरण ना हो, राजीविका ग्रामीण भारत की अर्थव्यवस्था मजबूत करने का कार्य कर रहा है।
मुख्य कार्यकारी अधिकारी अर्पणा गुप्ता ने राजीव गांधी जल संचय योजना, प्रधानमंत्री कृषि सिंचाई योजना, प्रधानमंत्री आवास योजना, सामुदायिक शौचालय, राजीविका, सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास योजना, विधायक स्थानीय क्षेत्र विकास योजना, मगरा विकास योजना, मुख्यमंत्री नवाचार निधि योजना एवं मनरेगा के तहत किए गए कार्यों के बारे में पीपीटी के माध्यम से विस्तार से जानकारी दी।
राजस्थान धरोहर संरक्षण एवं प्रोन्नति प्राधिकरण अध्यक्ष एवं राज्य मंत्री सुरेंद्र सिंह जाड़ावत ने बैठक में ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग के अधिकारियों से कहा कि मनरेगा योजना में ज्यादा से ज्यादा श्रमिकों को लगाया जाए जिससे ग्रामीणजनों को मनरेगा के तहत रोजगार मिल सके।
ग्रामीण विकास विभाग के शासन सचिव  डॉ. के.के. पाठक ने ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग के अधिकारियों से विभाग द्वारा चलाए जा रहे कार्यों एवं योजनाओं की जानकारी ली एवं नवाचार करने के साथ-साथ कार्य में प्रगति लाने के निर्देश दिए।
बैठक में पूर्व विधायक प्रकाश चौधरी, कपासन प्रधान भेरूलाल चौधरी, सहित संबंधित विभागीय अधिकारी उपस्थित थे।

Must Read: राजस्थान की स्कूलों में लगाए जाएंगे चाइल्ड हेल्प लाइन नंबर के पोस्टर, बाल यौन अपराधों पर अंकुश लगाने की दिशा में सराहनीय कदम

पढें लाइफ स्टाइल खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :