UP @ एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट: प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एशिया का सबसे बड़े और दुनिया के चौथे बड़े एयरपोर्ट का किया शिलान्यास

Prime Minister Narendra Modi laid the foundation stone of Asia's largest airport and the world's fourth largest airport today. Aviation Minister Jyotiraditya Scindia along with PM Modi and CM Yogi Adityanath laid the foundation stone of the airport by pressing the remote button

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एशिया का सबसे बड़े और दुनिया के चौथे बड़े एयरपोर्ट का किया शिलान्यास

नई दिल्ली, एजेंसी। 
आज एशिया के सबसे बड़े और दुनिया के चौथे बड़े एयरपोर्ट  का शिलान्यास प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। पीएम मोदी और सीएम योगी आदित्यनाथ के साथ विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया ने रिमोर्ट का बटन दबाकर एयरपोर्ट का शिलान्यास किया। इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि जिन्ना के अनुयायी ने तो गन्ने की मिठास को कड़वाहट घोली थी लेकिन अब गन्ने की मिठास अंतरराष्ट्रीय स्तर तक ले जाने के लिए य​ह एयरपोर्ट अहम होगा।


समारोह में विमानन मंत्री सिंधिया ने कहा कि जेवर की जनता की आंखों में नई चमक दिख रही है। अब ये सपना पूरा होने की चमक है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी उस सपने को साकार करने का संकल्प पूरा करने जा रहे है। उन्होंने कहा कि पीएम का सपना था कि एशिया का सबसे बड़ा एयरपोर्ट बनाया जाए। इसी दिशा में अब 34 हजार करोड़ रुपए का निवेश किया जाएगा। यह एयरपोर्ट दिल्ली के एयरपोर्टसे भी बड़ा होगा। जेवर को रोड, रेल और मेट्रो से जोड़ा जाएगा। इस एयरपोर्ट से स्थानीय लोगों का विकास होगा। एयरपोर्ट से नोएडा, गाजियाबाद तथा आसपास के क्षेत्र का विकास होगा। इसके साथ ही इस क्षेत्र के लोगों को रोजगार भी मिलेंगे। उन्होंने कहा कि पहले देश में सिर्फ 74 एयरपोर्ट थे,लेकिन अब 136 एयरपोर्ट हो जाएंगे। अकेले उत्तरप्रदेश में 9 एयरपोर्ट हो गए, जबकि यहां पहले केवल 4 एयरपोर्ट थे।

जल्द ही यूपी में 17 एयरपोर्ट होंगे। इनमें से पांच एयरपोर्ट को अंतरराष्ट्रीय बनाया जाएगा। इधर नोएडा प्राधिकरण के खिलाफ धरने पर बैठे 60 से अधिक किसानों को पुलिस ने हिरासत में ले लिया। किसानों ने जेवर में जाकर प्रधानमंत्री को ज्ञापन देने का ऐलान किया था। जेवर एयरपोर्ट करीबन 6200 ​हेक्टेयर में बनेगा। इसके निर्माण 29650 करोड़ रुपए खर्च होंगे। पहले चरण में 1334 हेक्टेयर जमीन पर एक रनवे तथा एक ​टर्मिनल 2024 तक बना दिया जाएगा। वैसे हवाई अड्डे का निर्माण 2050 तक पूरा हो जाएगा। एयरपोर्ट के नजदीक एयरक्राफ्ट के मेंटेनेंस के लिए देश का सबसे बड़ा सेंटर बनेगा। 

Must Read: दिल्ली शराब घोटाला मामले में बेंगलुरु-हैदराबाद समेत देशभर में 40 जगहों पर छापेमारी

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :