Jaipur पंचायती राज विभाग की समीक्षा बैठक: सरकार के Minister of Panchayati Raj मीना ने मनरेगा योजना के तहत पात्र व्यक्ति तक रोजगार पहुंचाने के लिए अभियान चलाने के दिए निर्देश

पंचायती राज मंत्री रमेश चंद मीना ने कहा कि समाज के अंतिम छोर तक रहने वाले प्रत्येक पात्र व्यक्ति को विभाग की योजनाओं से हर हालत में लाभान्वित किया जाए। इसके लिए ग्रामीण विकास की योजना से जुड़े सभी विभागीय अधिकारी निर्धारित समयावधि में गुणवत्तापूर्ण कार्य पूर्ण करवाया जाना सुनिश्चित करें।

सरकार के Minister of Panchayati Raj  मीना ने मनरेगा योजना के तहत पात्र व्यक्ति तक रोजगार पहुंचाने के लिए अभियान चलाने के दिए निर्देश

जयपुर।
प्रदेश के ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री रमेश चंद मीना ने कहा कि समाज के अंतिम छोर तक रहने वाले प्रत्येक पात्र व्यक्ति को विभाग की योजनाओं से हर हालत में लाभान्वित किया जाए। 
इसके लिए ग्रामीण विकास की योजना से जुड़े सभी विभागीय अधिकारी निर्धारित समयावधि में गुणवत्तापूर्ण कार्य पूर्ण करवाया जाना सुनिश्चित करें।
ग्रामीण विकास मंत्री बुधवार को सचिवालय से वीडियो कांफ्रेंस के माध्यम से जिला परिषद के मुख्य कार्यकारी अधिकारियों से विभागीय योजनाओं के बारे में चर्चा कर रहे थे। 
मीना ने कहा कि मनरेगा योजना के तहत पात्र व्यक्तियों को रोजगार देने के लिए अभियान चलाया जाए। इससे लोगों को रोजगार स्थानीय स्तर पर ही मिल सके। 
इसके साथ ही मीना ने योजना के तहत करवाए जाए जा रहे कार्यों का भौतिक निरीक्षण एवं गुणवत्ता की जांच करने के निर्देश दिए। 
उन्होंनेे विभिन्न योजना के तहत झालावाड़, पाली एवं जिले में किए गए कार्यों की गुणवत्ता की जांच रिपोर्ट मुख्यालय भिजवाने के भी निर्देश दिए।


कार्यों की जियो टैगिंग अनिवार्य 
ग्रामीण विकास मंत्री मीना ने अधिकारियों को मनरेगा योजना के तहत स्वीकृत कार्यों की जियो टैगिंग कराने के सख्त निर्देश दिए। 
मीना ने कहा कि वित्तीय वर्ष 2019-20 के तहत स्वीकृत कार्य को हर हालत में पूर्ण किया जाए।
इसके साथ ही योजना के तहत बने हुए जॉब कार्ड की समीक्षा एवं स्वीकृत कार्यों को मौके पर जाकर निरीक्षण किया जाए।
उन्होंने मोबाइल मॉनिटरिंग सिस्टम ऎप पर योजना से संबंधित सभी जानकारी आगामी एक माह में अपडेट करने के निर्देश दिए।
उदयपुर में आवास योजना मामले की जांच स्टेट लेवल टीम से
मीना ने कहा कि बाड़मेर एवं उदयपुर जिला में प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण) के तहत लाभार्थियों को स्वीकृत किए गए आवास बड़ी संख्या में रिजेक्टेड किए गए हैं।
इस मामले की जांच स्टेट लेवल टीम से करवाई जाएगी। अगर इसमें पात्र व्यक्ति के नाम बिना कारण के रिजेक्टेड पाया गया तो जिम्मेदार अधिकारियों के विरुद्ध सख्त कार्रवाई की जाएगी। 
उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री आवास योजना (ग्रामीण)के तहत पात्र व्यक्ति को लाभान्वित किया जाना सुनिश्चित करें।
इसके साथ ही उन्होंने कहा कि डांग मगरा एवं मेवात क्षेत्रीय विकास कार्यक्रम के तहत स्वीकृत कार्यों को 3 साल गुजर जाने के बावजूद अभी तक नहीं करवाया है।
इसके लिए संबंधित अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करने के निर्देंश दिए है। उन्होंने विधायक स्थानीय क्षेत्र विकास योजना एवं सांसद स्थानीय क्षेत्र विकास योजना के तहत स्वीकृत कार्यों को 31 मार्च तक पूर्ण करवाने के निर्देश दिए।
कार्य की प्र​गति देख नोटिस देने के निर्देश
पंचायती राज मंत्री मीना ने स्वच्छ भारत मिशन ग्रामीण के तहत व्यक्तिगत शौचालय की प्रगति एवं सामुदायिक स्वच्छता परिसर निर्माण की प्रगति के बारे में समीक्षा की। 
उन्होंने कहा कि ओडीएफ प्लस में जिन जिलों की प्रगति कम है उन्हें नोटिस जारी किया जाए। बांसवाड़ा जिले के मुख्य कार्यकारी अधिकारी को 500 व्यक्तिगत शौचालय की ग्राउंड रिपोर्ट भिजवाने के निर्देश दिए। 
उन्होंने ग्राम पंचायत भवन निर्माण एवं अंबेडकर भवन निर्माण की प्रगति के बारे में आवश्यक जानकारी लेकर समुचित कार्रवाई करने के निर्देश दिए।
वीडियो कांफ्रेंस में ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग की प्रमुख शासन सचिव अपर्णा अरोड़ा, ग्रामीण विकास के शासन सचिव डॉ. के .के पाठक, पंचायती राज सचिव पी.सी किशन पंचायती राज निदेशक डॉ. घनश्याम सहित संबंधित विभागीय अधिकारी गण उपस्थित रहे।

Must Read: जोधपुर से सांसद और केंद्री मंत्री गजेंद्र सिंह के काफिले पर ममता बनर्जी के क्षेत्र भवानीपुर में हमला

पढें राजनीति खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :