मुश्किल में महाराष्ट्र के पूर्व गृहमंत्र: 100 करोड़ की वसूली आरोप में ईडी ने दूसरी ओर अनिल देशमुख के आवास पर मारा छापा

वर्तन निदेशालय ने एक बार फिर अनिल देशमुख के शिवाजी नगर स्थित आवास पर छापा मारा। जानकारी के मुताबिक इससे पहले ईडी ने देशमुख के घर पर 25 मई को छापेमारी की थी।

100 करोड़ की वसूली आरोप में ईडी ने दूसरी ओर अनिल देशमुख के आवास पर मारा छापा

मुंबई, एजेंसी।
मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह द्वारा पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख (Former Home Minister Anil Deshmukh ) पर लगाए 100 करोड़ की वसूली के आरोप में शुक्रवार को एक नया मोड़ आ गया। मामले में प्रवर्तन निदेशालय (Enforcement Directorate) ने एक बार फिर अनिल देशमुख (Anil Deshmukha) के शिवाजी नगर स्थित आवास पर छापा मारा।
जानकारी के मुताबिक इससे पहले ईडी ने देशमुख के घर पर 25 मई को छापेमारी की थी। आप को बता दें कि ED से पहले भी CBI ने उनके 12 ठिकानों पर छापे मारे थे। ताजा जानकारी के मुताबिक ED की कार्रवाई सुबह 6 बजे शुरू हुई और अभी तक जारी है। ED ने अनिल देशमुख के खिलाफ मनी लॉन्ड्रिंग ( money laundering) के तहत केस दर्ज किया था। इस  केस में अनिल देशमुख के अलावा उनके करीबियों के नाम भी बताए जा रहे है। इन पर अब शिकंजा कसा जा रहा है। मुंबई के पूर्व पुलिस कमिश्नर परमबीर सिंह (Parambir Singh) ने करीब ढाई महीने पहले राज्य के सीएम उद्धव ठाकरे को एक पत्र लिखकर आरोप लगाया था कि गृह मंत्री अनिल देशमुख ने ही मुंबई पुलिस के निलंबित अधिकारी सचिन वझे (Sachin Vajhe) को हर महीने 100 करोड़ रुपए की वसूली का टारगेट दिया था। वहीं दूसरी ओर अनिल देशमुख ने वसूली जैसी सभी आरोपों से इंकार किया था। लेकिन बॉम्बे हाईकोर्ट की ओर से सीबीआई जांच के आदेश के बाद देशमुख को पद से इस्तीफा देना पड़ा था। 
2 करोड़ पवार साहब को मनाने के 
सचिन वझे ने भी महाराष्ट्र के पूर्व गृह मंत्री अनिल देशमुख पर अवैध वसूली का टारगेट देने का आरोप लगाया था। वझे ने NIA को दिए बयान में कहा था, मैंने 6 जून 2020 को दोबारा ड्यूटी ज्वॉइन की थी। मेरी ज्वॉइनिंग से शरद पवार खुश नहीं थे। उन्होंने मुझे दोबारा सस्पेंड करने के लिए कहा। यह बात मुझे खुद अनिल देशमुख ने बताई थी। उन्होंने मुझसे पवार साहब को मनाने के लिए 2 करोड़ रुपए भी मांगे थे। इतनी बड़ी रकम देना मेरे लिए मुमकिन नहीं था। इसके बाद गृह मंत्री ने मुझे इसे बाद में चुकाने को कहा। इसके बाद मेरी पोस्टिंग मुंबई के क्राइम इंटेलिजेंस यूनिट (सीआईयू) में हुई।  सचिन वझे ने  बताया था कि जनवरी 2021 में गृह मंत्री अनिल देशमुख ने मुझे अपने सरकारी बंगले पर बुलाया। तब उनके पीए कुंदन भी वहां मौजूद थे। इसी समय मुझसे मुंबई में 1,650 पब, बार मौजूद होने और उनसे हर महीने 3 लाख रुपए के कलेक्शन की बात कही गई। इस पर मैंने गृह मंत्री अनिल देशमुख से कहा कि शहर में 1,650 बार नहीं, सिर्फ 200 बार हैं। मैंने उन्हें बताया था कि यह मेरी क्षमता से बाहर की बात है। तब गृह मंत्री के पीए कुंदन ने मुझे कहा था कि अगर मैं अपनी जॉब और पोस्ट को बचाना चाहता हूं तो वही करूं जो गृह मंत्री कह रहे हैं।

Must Read: खेल दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने देश का किया संबोधित, सब खेलें, सब खिलें का दिया नारा

पढें दिल्ली खबरें, ताजा हिंदी समाचार (Latest Hindi News) के लिए डाउनलोड करें First Bharat App.

  • Follow us on :